Asianet News HindiAsianet News Hindi

रॉबिन उथप्पा ने क्रिकेट से लिया संन्यास, कहा- देश के लिए खेलना सबसे बड़ा सम्मान, अब परिवार को दूंगा समय

2007 टी 20 विश्व कप विजेता रॉबिन उथप्पा (Robin Uthappa) ने बुधवार को भारतीय क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय टीम में शामिल होना उनके लिए सबसे बड़ा सम्मान था।

T20 World Cup winner Robin Uthappa retires from all forms of cricket vva
Author
First Published Sep 14, 2022, 8:36 PM IST

नई दिल्ली। क्रिकेटर रॉबिन उथप्पा (Robin Uthappa) ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। उन्होंने बुधवार को भारतीय क्रिकेट के सभी फॉर्म्स से संन्यास लेने की घोषणा की। उथप्पा ने कहा कि वह देश के लिए खेले यह उनके लिए सबसे बड़ा सम्मान था। रॉबिन उथप्पा 2007 टी 20 विश्व कप विजेता टीम के हिस्सा थे। 

रॉबिन उथप्पा ने ट्वीट किया कि अपने देश और अपने राज्य कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए सबसे बड़ा सम्मान रहा है। हालांकि, सभी अच्छी चीजों का अंत होना चाहिए। मैंने आभारी दिल से भारतीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने का फैसला किया है। मुझे पेशेवर क्रिकेट खेलना शुरू किए 20 साल हो गए हैं। यह उतार-चढ़ाव से भरी एक अद्भुत यात्रा रही। यह मेरे लिए संतोषजनक, पुरस्कृत और आनंददायक रही है। इसने मुझे एक इंसान के रूप में विकसित होने की अनुमति दी है। अब मैं अपने परिवार के साथ महत्वपूर्ण समय बिताऊंगा। 
 

 

 

 

ऐसा रहा है उथप्पा का करियर
उथप्पा 2004 में भारत के अंडर-19 विश्व कप टीम के सदस्य थे। उन्हें 2006 में पहली बार भारतीय टीम शामिल होने और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का मौका मिला था। उथप्पा ने 46 एकदिवसीय और 13 T20I मैच खेले। वह 2007 में दक्षिण अफ्रीका में T20 विश्व कप जीतने वाली टीम का हिस्सा थे। उन्होंने कर्नाटक के साथ कई घरेलू खिताब भी जीते और दो बार (2014 में कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ और 2021 में चेन्नई सुपर किंग्स के साथ)आईपीएल जीता।

यह भी पढ़ें- कोहली की रैंकिंग में उछाल: 29वीं रैंक से सीधे टॉप-15 में पहुंचे विराट, जानें ICC रैंकिंग के टॉप-10 में कौन

36 साल के उथप्पा ने अपने घरेलू करियर की शुरुआत 2002-03 में कर्नाटक से की थी। उन्होंने 2020-21 सीजन में केरल के साथ इसे समाप्त कर दिया। उन्होंने 2017-18 और 2018-19 में सौराष्ट्र का भी प्रतिनिधित्व किया। उथप्पा ने 142 प्रथम श्रेणी मैच खेले, जिसमें लगभग 41 की औसत से 22 शतकों के साथ 9446 रन बनाए। उन्होंने 203 एक दिवसीय मैचों में 35.31 के औसत से 16 शतकों के साथ 6534 रन बनाए। 291 टी20 मैचों में उन्होंने 7272 रन बनाए।

यह भी पढ़ें- शाहिद अफरीदी ने दी कोहली को संन्यास की सलाह, तो इस क्रिकेटर ने की बोलती बंद

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios