दुबई. 2022 में बर्मिंघम में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स में महिला टी-20 क्रिकेट भी शामिल होगा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी), इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड और कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी।

आईसीसी के चीफ एक्सेक्यूटिव मनु साहनी ने बताया कि यह महिला क्रिकेट और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट समुदाय के लिए ऐतिहासिक क्षण हैं। इससे महिला क्रिकेट और शक्ति और समर्थन मिलेगा। हम इस फैसले से उत्साहित हैं और गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। साहनी ने कहा, क्रिकेट का तेज और रोमांचक फॉर्मेट कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए उपयुक्त है। इस खेल को बढ़ाने के हमारे प्रयास का सकारात्मक प्रदर्शन है। इससे अगले पीढ़ी के क्रिकेटर भी प्रेरित होंगे। 

1998 में द.अफ्रीका ने जीता था गोल्ड
1998 के बाद यह पहला मौका है, जब क्रिकेट को कॉमनवेल्थ गेम्स में शामिल किया गया हो। इससे पहले 1998 में कुआलालम्पुर में हुए खेलों में पुरुष 50-50 क्रिकेट को शामिल किया गया था। इसमें द.अफ्रीका ने गोल्ड मेडल जीता था।  2022  कॉमनवेल्थ में 8 क्रिकेट टीमें भारत, पाकिस्तान, इंग्लैंड, द. अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज, श्रीलंका हिस्सा लेंगी। क्रिकेट से जुड़ी सभी जिम्मेदारियां आईसीसी ही उठाएगा। 

27 जुलाई  2022 से इंग्लैंड में होगा कॉमनवेल्थ
टी-20 का कॉमनवेल्थ गेम्स में शामिल होना आईसीसी का महिला क्रिकेट को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के प्रयासों में एक है। इससे ज्यादा से ज्यादा लड़कियां और महिलाएं इसे देखेंगी, खेलेंगी और क्रिकेट का आनंद उठाएंगी। कॉमनवेल्थ गेम्स 27 जुलाई से 7 अगस्त  2022 तक इंग्लैंड में होंगे। इसमें 18 खेलों के 4500 से ज्यादा एथलीट हिस्सा लेंगे।

तीरंदाजी और निशानेबाजी नहीं होंगे शामिल 
कॉमनवेल्थ गेम्स में महिला टी 20 क्रिकेट के अलावा वॉलीबॉल और पैरा टेबल टेनिस को भी शामिल किया गया। कॉमनवेल्थ गेम्स का पूरा कार्यक्रम अगले साल जारी किया जाएगा। 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में 71 खेल शामिल होंगे। इस बार तीरंदाजी और निशानेबाजी शामिल नहीं होगा। भारत के लिए यह निराशाजनक खबर है, क्योंकि 2018 गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने सबसे ज्यादा पदक निशानेबाजी में ही जीते थे।