नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 में से 62 सीटें जीतकर हैट्रिक लगाई है। वहीं, सरकार बनाने का दावा करने वाली भाजपा को सिर्फ 8 सीटों पर जीत मिली है। भाजपा को 9 महीने पहले हुए लोकसभा चुनाव में दिल्ली की इसी जनता ने झोलीभर कर वोट दिए थे। पार्टी ने लोकसभा चुनाव में 7 में 7 सीटें जीती थीं। ऐसे में अब सवाल उठता है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि 9 महीने में ही भाजपा दिल्ली की जनता की पसंद से उतर गई। एशियानेट न्यूज हिंदी ने इससे जुड़ा एक सवाल पूछा था, इसके नतीजे आ गए हैं, आईए जानते हैं कि जनता के मुताबिक, भाजपा से कहां चूक हो गई और उसे दिल्ली में एक बार फिर हार का सामना करना पड़ा...

सवाल- एशिया नेट हिंदी पर हमने सवाल पूछा था कि दिल्ली इलेक्शन में बीजेपी की हार की सबसे बड़ी वजह आप किसे मानते हैं?

- लोकल मुद्दों को अवाइड करना
- सीएम का चेहरा ना उतारना 
- शाहीन बाग पर आक्रामक रवैया
- केजरीवाल पर सीधा अटैक

लोगों ने जवाब में क्या कहा? 

- 41.33% लोगों का मानना है कि लोकल मुद्दों को अवाइड करना भाजपा को महंगा पड़ा। 
- 25.33% लोगों का कहना है कि भाजपा को सीएम का चेहरा तय ना करना हार की वजह है। 
- 24% यूजर्स ने कहा, शाहीन बाग पर आक्रामक रवैया भाजपा को महंगा पड़ा। 
- 9.33% लोगों की राय है कि भाजपा को सीएम केजरीवाल पर सीधा अटैक नहीं करना चाहिए था।