Asianet News Hindi

दिल्ली चुनावः ओपीनियन पोल में फिर केजरीवाल की सरकार, भाजपा की सीटों में हो सकता है इजाफा

दिल्ली में कुल 70 विधानसभा सीटें हैं, जिसमें से 36 सीटें पाने वाली पार्टी राज्य में अपनी सरकार बना सकती है। पिछले चुनावों में आम आदमी पार्टी ने 67 सीटें अपने नाम की थी और राज्य में अपनी सरकार बनाई।

Delhi elections: Kejriwal's government again in opinion poll, BJP seats may increase KPB
Author
New Delhi, First Published Feb 5, 2020, 11:24 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. विधानसभा चुनाव में वोटिंग से ठीक पहले टाइम्स नाऊ-आईपीएसओस और एबीपी न्यूज- सी वोटर ने ओपीनियन पोल जारी कर दिया है। इन ओपीनियन पोल में दिल्ली के अंदर एक बार फिर आम आदमी पार्टी की सरकार बनती दिखाई दे रही है। दिल्ली में कुल 70 विधानसभा सीटें हैं, जिसमें से 36 सीटें पाने वाली पार्टी राज्य में अपनी सरकार बना सकती है। पिछले चुनावों में आम आदमी पार्टी ने 67 सीटें अपने नाम की थी और राज्य में अपनी सरकार बनाई। इस बार भी दिल्ली में आप ही सरकार बना सकती है। हालांकि उसके वोट प्रतिशत में कमी आ सकती है। 

बढ़ सकता है भाजपा का वोट प्रतिशत 
पिछले चुनावों में महज 3 सीटों पर सिमटने वाली भाजपा को अबकी बार फायदा मिल सकता है। पार्टी इस चुनाव में 10 से 20 सीटें जीत सकती है। चुनाव के पहले राज्य में केजरीवाल की सरकार बनना तय दिख रहा था और कोई भी पार्टी उसके आस-पास भी नहीं दिख रही थी, पर शाहीनबाग के मुद्दे का फायदा पार्टी को मिलता दिख रहा है। भले ही BJP राज्य में अपनी सरकार न बना पाए, पर कम से कम विपक्ष का दर्जा जरूर ले सकती है। 

आप को नुकसान लेकिन सरकार बनना लगभग तय 
ओपीनियन पोल में आम आदमी पार्टी 50 से 60 सीटें जीतती दिख रही है। इसका मतलब है कि एक बार फिर अरविंद केजरीवाल राज्य के मुख्यमंत्री होंगे। हालांकि उनकी सीटें कम होना भी लगभग तय माना जा रहा है। विकास के मुद्दे पर अरविंद केजरीवाल के पास जनता का समर्थन दिख रहा है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी और शाहीनबाग के चलते भाजपा आम के वोटर कम कर सकती है। 

कांग्रेस की हालत जस की तस 
पिछले चुनावों में एक भी सीट न जीतने वाली कांग्रेस अबकी बार भी कुछ खास करती नहीं दिख रही है। इन चुनावों में भले ही एक या दो उम्मीदवार जीत हासिल कर लें, पर कांग्रेस सरकार बनाने में कोई भूमिका नहीं निभा पाएगी। इसके अलावा 2 या 4 सीटों के साथ पार्टी को विपक्ष का दर्जा मिलना भी मुश्किल है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios