Asianet News Hindi

मुंडका सीट पर नहीं जम सका किसी का कब्जा, 3 बार से जीत के लिए तरस रही कांग्रेस, अब वापसी की उम्मीद

मुंडका विधानसभा सीट 2008 में वजूद में आया और उस दौरान हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के मनोज कुमार ने कांग्रेस के प्रेम चंदर कौशिक को हराकर यहां से पहली जीत का स्वाद चखा। 2015 के चुनाव में आम आदमी पार्टी के सुखवीर सिंह ने जीत हासिल की थी। 

Mundka Delhi Assembly constituency news updates and results kps
Author
New Delhi, First Published Jan 27, 2020, 6:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आज यानी 11 फरवरी को मतगणना होनी है। छठी दिल्ली विधानसभा का कार्यकाल 22 फरवरी 2020 को समाप्त हो जाएगा। मुंडका विधानसभा सीट दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा सीटों में से एक है और यह उत्तरी पश्चिमी जिले में पड़ता है और उत्तरी पश्चिमी संसदीय क्षेत्र के ही अंतर्गत आता है। मुंडका सीट का इतिहास काफी पुराना नहीं है, 2008 में इस सीट के अस्तित्व में आने के बाद से यहां पर किसी एक दल का कब्जा नहीं रहा है और 3 चुनाव में अलग-अलग दल के उम्मीदवार विजयी हुए हैं। इसी क्रम में 2020 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने धर्मपाल को मैदान में उतारा है। जबकि बीजेपी ने मास्टर आजाद सिंह को तो कांग्रेस ने डॉ नरेश कुमार को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। 

AAP ने BJP से छीनी सीट

2015 विधानसभा चुनाव में दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की लहर चली और उनकी अगुवाई वाली आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटों पर जीत हासिल कर नया कीर्तिमान रचा था। 67 सीटों में मुंडका सीट भी शामिल है जहां आप को जीत मिली थी। आम आदमी पार्टी के सुखवीर सिंह ने भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार आजाद सिंह को 40,826 मतों के अंतर से पराजित किया था। 

2008 में यह सीट आई अस्तित्व में 

मुंडका विधानसभा सीट 2008 में वजूद में आया और उस दौरान हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के मनोज कुमार ने कांग्रेस के प्रेम चंदर कौशिक को हराकर यहां से पहली जीत का स्वाद चखा। 2013 के चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार रामबीर शौकीन ने भारतीय जनता पार्टी के आजाद सिंह को हरा दिया। लेकिन 2015 के चुनाव में आम आदमी पार्टी के सुखबीर सिंह ने जीत हासिल कर अपनी पार्टी का खाता खोला। भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार आजाद सिंह लगातार 2 बार चुनाव हार चुके हैं।

मुंडका दिल्ली के  पश्चिमी जिले में पड़ता है। यह पहले गांव था। यह जाट बहुत क्षेत्र है। यह दिल्ली के मुख्यमंत्री रहे स्वर्गीय डॉक्टर साहिब सिंह वर्मा की जन्मभूमि भी है। यहां से नजदीक ही बक्करवाला और नांगलोई गांव हैं। अब मुंडका क्षेत्र का काफी विकास हो चुका है और तमाम आधुनिक सुविधाएं यहां मौजूद हैं। यहां स्थित श्री खाटू श्याम मंदिर काफी फेमस है। इसके अलावा श्री दुर्गा माता मंदिर और दादा भैरो मंदिर भी काफी प्राचीन है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios