भाजपा अगर इस बार गुजरात जीती, तो तोड़ देगी इस पार्टी का रिकॉर्ड, केवल बंगाल है इस मामले में आगे

| Dec 04 2022, 06:27 PM IST

भाजपा अगर इस बार गुजरात जीती, तो तोड़ देगी इस पार्टी का रिकॉर्ड, केवल बंगाल है इस मामले में आगे
भाजपा अगर इस बार गुजरात जीती, तो तोड़ देगी इस पार्टी का रिकॉर्ड, केवल बंगाल है इस मामले में आगे
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

Gujarat Assembly Election 2022: भाजपा गुजरात विधानसभा चुनाव में अगर इस बार जीत दर्ज करती है तो वह सातवीं बार सत्ता पर काबिज होगी। साथ ही, पार्टी वाम मोर्चा के उस रिकॉर्ड को भी तोड़ देगी, जिसमें वो सात बार बंगाल में जीती थी। 

गांधीनगर। Gujarat Assembly Election 2022: गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी सातवीं बार सरकार बनाने के लिए पुरजोर कोशिश कर रही है। हालांकि, अब तक के ओपिनियन पोल्स और राजनीतिक विश्लेषकों का दावा है कि संभवत: पार्टी इसमें सफल भी हो सकती है। अगर ऐसा होता है, तो पार्टी पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चा के उस रिकॉर्ड की बराबरी कर लेगी, जिसमें वाम मोर्चा ने बंगाल में सात बार जीत दर्ज कर सरकार चलाई। 

बता दें कि बंगाल में वाम मोर्चा ने पहली बार 1977 के विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज की और फिर उसने पीछे मुड़कर नहीं देखा। सात बार लगातार जीत पार्टी ने बंगाल में सरकार बनाई। 2011 के विधानसभा चुनाव में वाम मोर्चा को ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस से हार का सामना करना पड़ा था। 

Subscribe to get breaking news alerts

आप की वजह से कांग्रेस की राह कठिन 
दरअसल, गुजरात क राजनीति में अब तक भाजपा और कांग्रेस के बीच मुकाबला होता रहा, मगर इस बार आम आदमी पार्टी भी 181 सीट पर मैदान में हैं और दोनों ही दलों को कुछ सीटों पर कड़ी टक्कर दे रही है। राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो आप सबसे ज्यादा नुकसान कांग्रेस को पहुंचा रही है। ऐसे में भाजपा की डगर आसान हो रही है और उसके लिए सरकार बनाना आसान हो सकता है। 27 साल से गुजरात की सत्ता में काबिज भाजपा इस बार यानी सातवीं भी सरकार बनाने की हरसंभव कोशिश कर रही है। यही नहीं पार्टी इस बार रिकॉर्ड वोट शेयर और रिकॉर्ड सीटें जीतकर सत्ता में आना चाहती है। अभी तक सिर्फ पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चा ही सात बार चुनाव जीतकर सत्ता में आई है। वाम मोर्चा ने 2011 में अंतिम चुनाव जीता था। इसके बाद से वहां ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस का कब्जा है। भाजपा अगर सातवीं बार सत्ता में आई तो वाम मोर्चा की बराबरी कर लेगा। 

यह भी पढ़ें- 

काम नहीं आई जादूगरी! गहलोत के बाद कांग्रेस ने पायलट को दी गुजरात में बड़ी जिम्मेदारी, जानिए 4 दिन क्या करेंगे

पंजाब की तर्ज पर गुजरात में भी प्रयोग! जनता बताएगी कौन हो 'आप' का मुख्यमंत्री पद का चेहरा

बहुत हुआ.. इस बार चुनाव आयोग Corona पर भी पड़ेगा भारी, जानिए क्या लिया गजब फैसला