अब गुजरात में शांति.. दूसरे चरण के लिए भी चुनाव प्रचार खत्म, आंकड़ों में समझिए इस बार कहां क्या हो रहा

| Dec 03 2022, 07:09 PM IST

अब गुजरात में शांति.. दूसरे चरण के लिए भी चुनाव प्रचार खत्म, आंकड़ों में समझिए इस बार कहां क्या हो रहा

सार

Gujarat Assembly Election 2022: दूसरे चरण के लिए चुनाव प्रचार अभियान शनिवार की शाम खत्म हो गया। अब वोटिंग सोमवार, 5 दिसंबर को सुबह 8 बजे से होगी और शाम 5 पांच बजे तक जारी रहेगी। रिजल्ट 8 दिसंबर को आएगा। 

गांधीनगर। Gujarat Assembly Election 2022:  गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण के लिए भी चुनाव प्रचार अभियान शनिवार को खत्म हो गया। शाम पांच बजे के बाद सभी राजनीतिक दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों ने अपना-अपना प्रचार अभियान खत्म कर दिया। 93 विधानसभा सीटों पर इस बार 833 उम्मीदवार मैदान में हैं। वोटिंग सोमवार, 5 दिसंबर को सुबह 8 बजे से होगी जो शाम पांच बजे तक जारी रहेगी। पहले और दूसरे यानी दोनों चरणों के वोटों की गिनती गुरुवार, 8 दिसंबर को होगी। 

उत्तर गुजरात और मध्य गुजरात के 14 जिलों की 93 विधानसभा सीट पर होने वाले दूसरे चरण की वोटिंग में राज्य में प्रमुख उम्मीदवारों की बात करें तो अहमदाबाद की घाटलोदिया सीट से मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल मैदान में हैं। इसके अलावा, अहमदाबाद की ही वीरमगाम सीट से हार्दिक पटेल, गांधीनगर दक्षिण सीट से अल्पेश ठाकोर और वडगाम सीट से जिग्नेश मेवानी मैदान में हैं। गोधरा सीट से सीके राऊलजी भी मैदान में हैं। भूपेंद्र पटेल, हार्दिक, अल्पेश और राऊलजी भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे, जबकि मेवानी कांग्रेस टिकट पर मैदान में हैं। 

Subscribe to get breaking news alerts

दूसरे चरण में 60 छोटे-बड़े दलों के प्रत्याशी मैदान में 
इससे पहले सौराष्ट्र-कच्छ और दक्षिण गुजरात के 19 जिलों की 89 विधानसभा सीट पर पहले चरण का मतदान बीते गुरुवार, 1 दिसंबर को हुआ था। इसमें 788 उम्मीदवार मैदान में थे। वोटिंग करीब 63.14 प्रतिशत रही। यह पिछले चुनाव से करीब साढ़े तीन प्रतिशत कम रही। पहले चरण में जहां भाजपा, कांग्रेस और आप समेत 39 छोटे बड़े दल मैदान में थे, वहीं दूसरे चरण में भाजपा, कांग्रेस और आप समेत 60 छोटे बड़े दल मैदान में हैं। 

29 हजार पीठासीन अधिकारी, 84 हजार मतदान अधिकारियों की ड्यूटी 
दूसरे चरण में 14 जिलों में 93 सीट पर होने वाली वोटिंग के लिए दो करोड़ 54 लाख मतदाता पंजीकृत हैं। चुनाव आयोग के अनुसार, वोटिंग के लिए 26 हजार 409 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। वहीं, सुबह 8 बजे से होने वाली वोटिंग के लिए 36 हजार ईवीएम यानी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों इस्तेमाल में लाई जाएंगी। चुनाव आयोग ने 14 जिलों में शांतिपूर्ण और पारदर्शी तरीके से वोटिंग कराने के लिए 29 हजार पीठासीन अधिकारियों की नियुक्ति की है। इसके अलावा, 84 हजार से अधिक मतदान अधिकारियों को पोलिंग के काम में लगाया जाएगा। 

भाजपा को बागियों का सामना भी करना पड़ रहा 
बता दें कि दूसरे चरण में भाजपा को कुछ सीटों पर अपनी पार्टी के नेताओं यानी बागी उम्मीदवारों से चुनौती मिल रही है। वाघोडिया सीट से भाजपा विधायक मधु श्रीवास्तव टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, भाजपा के पूर्व दिनेश पटेल यानी दीनू मामा, धवल सिंह झाला और हर्षद वसावा भी निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में हैं। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जबरदस्त तरीके से तीन दिनों में चुनाव प्रचार किया है। एक और 2 दिसंबर को उन्होंने भाजपा एक के बाद एक कई रैली और रोड शो किए। 

अंतिम दो दिनों सभी पार्टियों ने झोंकी थी ताकत 
प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले दो दिनों में पंचमहल, छोटा उदेपुर, साबरकांठा, बनासकांठा, आणंद और अहमदाबाद जिले में सात रैलियों को संबोधित किया। साथ ही 50 किलोमीटर लंबा रोड शो निकालकर रिकॉर्ड कायम किया। वहीं, शनिवार को भाजपा के कई स्टार प्रचारक नेताओं ने रोड शो और रैलियां कीं। इनमें भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गजेंद्र सिंह शेखावत, स्मृति ईरानी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इसके अलावा, कांग्रेस की ओर से मल्लिकार्जुन खड़गे ने अहमदाबाद और वाघोडिया में रैली की, जबकि आम आदमी पार्टी की ओर से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने भी रैलियों को संबोधित किया है। 

यह भी पढ़ें- 

काम नहीं आई जादूगरी! गहलोत के बाद कांग्रेस ने पायलट को दी गुजरात में बड़ी जिम्मेदारी, जानिए 4 दिन क्या करेंगे

पंजाब की तर्ज पर गुजरात में भी प्रयोग! जनता बताएगी कौन हो 'आप' का मुख्यमंत्री पद का चेहरा

बहुत हुआ.. इस बार चुनाव आयोग Corona पर भी पड़ेगा भारी, जानिए क्या लिया गजब फैसला

 

Related Stories