Asianet News Hindi

'मां-पिता की मौत के बाद बेटा कब्रों के बीच ही सोता है...' इस दावे के साथ वायरल फोटो का सच क्या है

सोशल मीडिया पर एक बच्चे की फोटो वायरल हो रही है, जिसमें दिख रहा है कि बच्चा दो कब्रों के बीच लेटा हुआ है। दावा किया जा रहा है कि वायरल तस्वीर में दिख रहा लड़का सीरीया का है, जो अपने माता-पिता के कब्र के बीच में सो रहा है। लेकिन फोटो के साथ किया जा रहा है दावा झूठा है।

After the death of the mother and father, the son sleeps in the middle of their graves, what is the truth of this viral news
Author
New Delhi, First Published Oct 18, 2019, 4:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. सोशल मीडिया पर एक बच्चे की फोटो वायरल हो रही है, जिसमें दिख रहा है कि बच्चा दो कब्रों के बीच लेटा हुआ है। दावा किया जा रहा है कि वायरल तस्वीर में दिख रहा लड़का सीरीया का है, जो अपने माता-पिता के कब्र के बीच में सो रहा है। लेकिन फोटो के साथ किया जा रहा है दावा झूठा है।

वायरल न्यूज में क्या है?
वायरल फोटो को फेसबुक पेज "POWER THOUGHTS" में कैप्शन के साथ शेयर किया गया है। पोस्ट में लिखा है, "दुनिया की सबसे दुखद फोटो में से एक। एक सीरियाई बच्चा अपनी मां और पिता की कब्रों के बीच सो रहा है। 

वायरल न्यूज की पड़ताल?
वायरल न्यूज की पड़ताल करने के लिए फोटो को रिवर्स इमेज पर सर्चिंग की। जिसके बाद पता चला कि फोटो न तो सीरिया की है और न ही पत्थरों के ढेर कब्र हैं। यह फोटो फोटोग्राफर अब्दुल अजीज अल ओताबी की एक कला प्रदर्शनी का हिस्सा था। उन्होंने 2014 में सऊदी अरब में इन तस्वीरों को खींचा था।

2014 में फोटो खींची थी
2014 में भी यह तस्वीर वायरल हुई थी, तब ओताबी ने अपने साक्षात्कार में स्पष्ट किया था। उन्होंने कहा था, "तस्वीर का सीरिया से कोई लेना-देना नहीं है, न ही यह बच्चा अनाथ है। मैं तस्वीरों में दिखाना चाहता था कि अपने माता-पिता के लिए बच्चे का प्यार कैसा होता है। इस प्यार को किसी और या किसी और के द्वारा बदला नहीं  जा सकता है।

बहन के बेटे की है तस्वीर
ओताबी ने कहा, "मैं जेद्दा से 250 किलोमीटर दूर यान्बू के बाहरी इलाके में गया। मैंने कब्रों की तरह दिखने वाले पत्थरों से दो ढेर बनाया। मैंने अपनी बहन के बेटे को इन कृत्रिम कब्रों के बीच लेटने और कंबल से ढकने को कहा। तस्वीरों को ओताबी ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट किया था। उन्होंने कब्र के बगल में मुस्कुराते हुए लड़के की तस्वीर भी पोस्ट की और तस्वीरों की कहानी भी लिखी थी। 

निष्कर्ष
वायरल फोटो की पड़ताल करने पर पता चला कि तस्वीर सीरिया की नहीं है और न ही यह बच्चा कब्र के बीच में लेटा है। सच्चाई यह है कि यह तस्वीर अब्दुल अजीज अल ओताबी नाम के फोटोग्राफर ने एक क्रब की तरह ढांचा बनाकर उसके बीच अपनी बहन के बेटे को लेटा कर यह फोटो खींची थी। फोटो से वे एक खास संदेश देना चाहते थे।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios