Asianet News Hindi

Fact Check: समुद्र में फेंके जा रहे कोरोना संक्रमित शव? 25 लाख बार देखा गया ये वायरल वीडियो, जानें सच

फ़ेसबुक पर पोस्ट किए गए इस वीडियो को 25 लाख से ज़्यादा बाद देखा और 34 हजार से ज़्यादा बाद शेयर किया जा चुका है।

coronavirus infected dead bodies dumped in sea in mexico old video viral kpt
Author
New Delhi, First Published Jun 30, 2020, 9:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फैक्ट चेक डेस्क.  Covid- 19 Infected Dead Bodies Dumped In Sea Fact Check: भारत में कोरोना के मामले अब लगातार बढ़ रहे हैं। कोरोना केसेज के बीच सोशल मीडिया पर इससे जुड़ी अफवाहें भी थमने का नाम नहीं ले रही हैं। अब फेसबुक, ट्विटर पर 20 सेकेंड का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसे शेयर हुए दावा किया जा रहा है कि मेक्सिको में हेलीकॉप्टर की मदद से कोरोना वायरस से संक्रमित शवों को समुद्र में फेंका जा रहा है। वीडियो को ट्विटर और फ़ेसबुक पर कुछ अरेबिक सोशल मीडिया यूज़र्स भी इसी दावे से शेयर कर रहे हैं।

फैक्ट चेक में हमने वायरल वीडियो की जांच-पड़ताल कर सच्चाई जानने की कोशिश की। 

वायरल पोस्ट क्या है? 

ट्विटर पर इराक फारूखी नाम के आईडी ने रशियन में टेक्सट के साथ वीडियो शेयर किया है, कैप्शन में लिखा है कि,  मेक्सिको में हेलीकॉप्टर की मदद से कोरोना वायरस से संक्रमित शवों को समुद्र में फेंका जा रहा है।

 

 

इसी दावे से फ़ेसबुक पर पोस्ट किए गए इस वीडियो को 25 लाख से ज़्यादा बाद देखा और 34 हजार से ज़्यादा बाद शेयर किया जा चुका है।

 

 

फ़ैक्ट-चेक

इस वीडियो के एक फ़्रेम का यांडेक्स पर रिर्वस इमेज सर्च करने से पता चला कि इसे 2018 में एक वीडियो शेयरिंग प्लेटफ़ॉर्म Coub पर रशियन टेक्स्ट के साथ पोस्ट किया गया था। हमें रूस के एक ट्विटर यूज़र द्वारा 2018 में पोस्ट किया गया वीडियो भी मिला। जिन्होंने इसे ट्वीट करते हुए लिखा था, “mi 26 के साथ एथलीट: पैराट्रूपर्स का रिलीज।” 

 

 

इस एक क्लू की तरह इस्तेमाल करते हुए हमने यूट्यूब पर की वर्ड सर्च किया और हमें MI26 के पैराट्रूपर्स जंपिंग के कई वीडियोज़ मिले। 2018 में अपलोड किया गया एक वीडियो अभी वायरल हो रहे वीडियो से काफी हद तक मेल खाता है।

 

 

ये निकला नतीजा 

हालांकि, फैक्ट चेक में इससे ज़्यादा इस वीडियो के बारे में पता नहीं लग पाया है। लेकिन इतना तय है कि जो वीडियो इंटरनेट पर साल 2018 से मौजूद है वो हाल के कोरोना वायरस से जुड़ा हुआ तो नहीं ही हो सकता है। कोरोना को लेकर इससे पहले भी कई फेक वीडियो वायरल हो चुके हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios