Asianet News HindiAsianet News Hindi

फर्जी है वायग्रा मिले नदी के पानी को पीकर बौखलाई भेड़ों की खबर, जानें सच

दावा किया जा रहा था कि साउथ आयरलैंड में अचानक 80 हजार भेड़ों ने अजीबो-गरीब हरकतें करना शुरू कर दिया जिसका कारण  भेड़ों के वायग्रा मिले पानी को पीना बताया गया था। पर जब इस पूरे मामले का खुलासा हुआ तब सभी ने अपना माथा पीट लिया। 

Eighty thousand Sheeps in Ireland drank Viagra water was a hoax kpt
Author
Ireland, First Published Dec 13, 2019, 8:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

आयरलैंड: बीते कुछ दिनों से सोशल मीडिया और मेनस्ट्रीम मीडिया में एक खबर बहुत वायरल हो रही थी। खबर में दावा किया जा रहा था कि, आयरलैंड में अचानक ही 80 हजार से ज्यादा भेड़ों बौखला गईं और शारीरिक संबंध बनाने को आतुर दिखी। इससे चरवाहे परेशान हो गए। हालांकि भेड़ों के बहुत ज्यादा सेक्स इंट्रेस्ट की वजह  हजारों टन वायग्रा मिले पानी पीने की वजह बताया गया। खबर सनसनी बनकर फैल गई लेकिन जब इसकी जांचपड़ताल की गई तो कुछ और ही सच्चाई सामने आई।

वायरल में क्या था?

कुछ मीडिया संस्थानों में खबर दिखी जिसमें लिखा था कि, साउथ आयरलैंड में रहने वाले चरवाहों ने अचानक कंप्लेन की पिछले एक हफ्ते से उनकी भेड़ों में सेक्स की इच्छा काफी बढ़ गई है। भेड़ किसी भी वक्त मादा भेड़ के पीछे पड़ जा रहे थे। ऐसा बीते एक हफ्ते से हो रहा था। किसी को इसकी वजह समझ नहीं आ रही थी। इस वायरल खबर में दावा किया गया कि, जांच के बाद पता चला कि इलाके में मौजूद ड्रग मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्री ने गलती से पास में बहने वाले रिंगास्किड्डी हार्बर में 755 टन वायग्रा छोड़ दिया था। इतनी ज्यादा अमाउंट में वायग्रा मिले पानी को पीने के कारण भेड़ों में सेक्सुअल डिजायर्स बढ़ गए। जिसके कारण एक हफ्ते तक भेड़ अजीबोगरीब हरकतें करते रहे।  

वायरल खबर की असलियत क्या है? 

दरअसल खबर के वायरल होने के बाद फैक्ट साइट्स ने इसे संज्ञान में लिया। फैक्ट चेकिंग और गूगल रिवर्स में देखने के बाद हमें पता चला कि ये खबर पूरी तरह मात्र अफवाह थी। वर्ल्ड न्यूज डेली रिपोर्ट ने ये खबर सबसे पहले छापी थी जिसमें इस खबर को व्यंग के तौर पर पब्लिश किया गया था। इस वेबसाइट के डिस्केमर में आप चेक करेंगे तो पाएंगे कि साइट अपने पेज पर सभी आर्टिकल्स और खबरों को काल्पनिक और हास्य व्यंग होने का दावा करती है।

ये निकला नतीजा-

इस तरह हम इस निष्कर्ष पर पहुंचते हैं कि वायरल हुई खबर पूरी तरह अफवाह और फेक न्यूज है। इसे रीडर्स को हंसाने के लिए लिखा गया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios