Asianet News Hindi

क्या व्हाट्सएप पर सरकार के खिलाफ मैसेज करने पर होगी सजा? जान लें क्या है इस वायरल मैसेज का सच

वायरल मैसेज की पड़ताल करने पर पता चलता है कि मैसेज पूरी तरह से फेक है। खुद सरकार ने वायरल मैसेज का सच बताया है। ऐसे में अगर किसी के पास भी ये वायरल मैसेज आए तो उसका सच लोगों को जरूर बताना चाहिए।

Fake message on social media in the name of WhatsApp viral kpn
Author
New Delhi, First Published May 28, 2021, 7:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. व्हाट्सएप और सरकार के बीच गाइडलाइन को लेकर चल रहे विवाद के बीच सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। मैसेज में एक के बाद एक कई दावे किए जा रहे हैं। उन्हें में से एक है कि अब सरकार व्हाट्सएप के हर मैसेज की मॉनिटरिंग करेगी। इसके लिए बकायदा संकेत भी बताए गए हैं। 

वायरल मैसेज में क्या है?
वायरल मैसेज में कहा गया है कि किसी को व्हाट्सएप मैसेज भेजने पर अगर दो ब्लू टिक और एक रेड टिक दिखता है तो इसका मतलब है कि सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकती है, जबकि तीन रेड टिक का मतलब होगा कि सरकार ने आपके खिलाफ अदालती कार्यवाही शुरू कर दी है। मैसेज में दावा किया गया है कि ये नए नियम 25 मई से लागू होंगे।

 

वायरल मैसेज का स्क्रीन शॉट

19 बिंदुओं में वायरल मैसेज भेजा जा रहा है
वायरल मैसेज में कुल 19 प्वाइंट हैं। वायरल मैसेज में दावा किया गया है कि व्हाट्सएप मैसेज भेजने पर तीन में से दो ब्लू टिक लाल हो जाते हैं और एक नीला रहता है तो इसका मतलब है कि सरकार आपकी जानकारी की जांच कर रही है। 
 
वायरल मैसेज का सच क्या है?
ये पहली बार नहीं है जब ये मैसेज भेजा वायरल हो रहा है। इससे पहले भी साल 2019 में यही मैसेज वायरल हो रहा था। ये मैसेज पूरी तरह से फेक है। मैसेज में यह भी दावा किया गया है कि अगर आप सरकार के खिलाफ कुछ भी भेजेंगे तो आपको कोर्ट में घसीटा जाएगा। जबकि सरकार की तरफ से ऐसा कोई आदेश जारी नहीं हुआ है।

पीआईबी ने भी मैसेज का सच बताया  
पीआईबी ने भी व्हाट्सएप पर वायरल हो रहे मैसेज के बारे में ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, फेक न्यूज अलर्ट! सोशल मीडिया पर 'व्हाट्सएप की जानकारी टिक मार्क के बारे में' पढ़ने वाले मैसेज फर्जी हैं। सरकार ऐसा कुछ नहीं कर रही है। संदेश नकली है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios