फैक्ट चेक डेस्क.  सोशल मीडिया पर फिर से एक बड़े-से शिवलिंग की तस्वीर वायरल हो रही है। वायरल तस्वीर को मक्का-मदीना का शिवलिंग बताया जा रहा है। पोस्ट में दावा किया जा रहा है, मक्का-मदीना में भी भव्य शिवलिंग मौजूद है जिसकी तस्वीर पहली बार सामने आई है। वायरल पोस्ट में तस्वीर को सभी हिन्दू भाइयों से शेयर करने की अपील की गई है।

फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि आखिर सच क्या है? क्या वाकई मक्का में कोई शिवलिंग मौजूद है? अगर है भी तो क्या ये तस्वीर उसी की है?

वायरल पोस्ट क्या है ?
वायरल फोटो में एक बड़ा-सा शिवलिंग है, जिसे मक्का-मदीना का बताया जा रहा है। पोस्ट के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा है, “इतिहास मे पहली बार मक्का मदीना का शिवलिंग दिखाया गया हे सभी हिन्दू भाई चुके नही शेयर जरूर करे।”

वायरल पोस्ट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं।

 

Posted by K.k. Sharma on Sunday, 18 October 2020

फैक्ट चेक
सच्चाई जानने के लिए हमने वायरल पोस्ट की पड़ताल की तो हमें MapofIndia वेबसाइट पर प्रकाशित एक आर्टिकल मिला जिसमें यह तस्वीर लगी थी। आर्टिकल के अनुसार, यह पाण्डु गुफा में स्थित भीम की डूंगरी का 12 मुखी शिवलिंग है। हमने विराटनगर शिवलिंग कीवर्ड के साथ गूगल सर्च किया था तो पहले ही पेज पर इस वायरल शिवलिंग की तस्वीर निकल कर आई थी। 
https://www.mapsofindia.com/my-india/travel/viratnagar-buddhist-art-and-mughal-architecture-in-jaipur
 

pinterest.com पर भी ये तस्वीर मौजूद है और इसे 12 मुखी शिवलिंग के नाम से जाना जाता है। इस शिवलिंग का पता राजस्थान बताया गया है।

राजस्थान के विराटनगर के जाने-माने आचार्य धर्मेंद्र महाराज के मुताबिक, “यह तस्वीर भीम जी की डूंगरी में स्थित एकादश शिवलिंग की है, जिसे 10-12 साल पहले इस गुफा में स्थापित किया गया था। इस शिवलिंग का मक्का-मदीना से कोई सम्बन्ध नहीं है।”

ये निकला नतीजा
वायरल पोस्ट की पड़ताल में हमने पाया कि यह दावा गलत है। यह तस्वीर असल में राजस्थान के विराटनगर में भीम की डूंगरी मंदिर में स्थित शिवलिंग की है। न कि मक्का-मदीना की। इसलिए सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा दावा गलत है।