Asianet News Hindi

FACT CHECK: एक्सीडेंट में मारी गई कांस्टेबल की फोटो पर बुनी गई रेप और हत्या की झूठी कहानी, जानें सच

फेसबुक पर यह दावा करते हुए एक यूजर ने लिखा, “प्रियंका गांधी वाड्रा, यह भी एक महिला है। देखते हैं आपके मुंह में जुबान है या नहीं। पंजाब फतेहगढ़ चुरियन रोड यार्ड शंगना प्लेस संगतपुरा के करीब महिला कांस्टेबल का मिला शव, मामला रेप और हत्या का। 

punjab police lady constable rape death fake claim viral on social media here is the truth kpt
Author
New Delhi, First Published Oct 4, 2020, 3:28 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फैक्ट चेक डेस्क.  उत्तर प्रदेश के हाथरस में हाल में एक बहुत वीभत्स घटना हुई है। मासूम लड़की का गैंगरेप कर उसकी हत्या कर दी गई। उससे ज्यादा घिनौनी बातें ये हैं कि आरोपियों को गांव के सवर्ण जाति के लोग पूरा समर्थन दे रहे हैं। पीड़ित परिवार पर दवाब बनाया जा रहा है। बहरहाल ऐसे ही सोशल मीडिया पर एक दावा किया जा रहा है कि कांग्रेस शासित प्रदेश पंजाब में एक महिला कांस्टेबल के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर दी गई। इसके बाद लाश को सरेआम सड़क किनारे फेंक दिया गया। घटना की तस्वीरें वायरल हो रही हैं। 

फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि आखिर सच्चाई क्या है? 

वायरल पोस्ट क्या है? 

सड़क पर पड़ी पुलिस की वर्दी पहने एक महिला की लाश और उसके आईकार्ड की तस्वीरों के साथ लोग तंज कसते हुए राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से पूछ रहे हैं कि क्या अब वह पंजाब की इस बलात्कार-हत्या पीड़िता के लिए भी आवाज उठाएंगे? क्या उनकी संवेदना सिर्फ उत्तर प्रदेश के हाथरस की पीड़िता के लिए ही है?

फेसबुक पर यह दावा करते हुए एक यूजर ने लिखा, “प्रियंका गांधी वाड्रा, यह भी एक महिला है। देखते हैं आपके मुंह में जुबान है या नहीं। पंजाब फतेहगढ़ चुरियन रोड यार्ड शंगना प्लेस संगतपुरा के करीब महिला कांस्टेबल का मिला शव, मामला रेप और हत्या का। #पंजाबपुलिस_नॉमी। वहां तो तुम्हारी सरकार है न।”

यह दावा फेसबुक पर काफी वायरल है. ट्विटर पर भी बहुत सारे लोग इसे शेयर कर रहे हैं।

 

 

फैक्ट चेक

जांच पड़ताल में ये दावा भ्रामक निकला है। जिस महिला कांस्टेबल की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है, उसकी मौत एक सड़क दुर्घटना में हुई थी। पंजाब पुलिस ने भी इस बात की पुष्टि की है।

दावे की पड़ताल

वायरल पोस्ट में महिला कांस्टेबल के आईकार्ड की जो फोटो शेयर की जा रही है, उसमें उसका नाम ‘NOMI’ और पद ‘L/CONSTABLE’ लिखा है। साथ ही, अमृतसर सिटी भी लिखा है. इन कीवर्ड्स की मदद से सर्च करने पर हमें पता चला कि इस नाम की एक महिला कांस्टेबल की स्कूटी को एक स्कॉर्पियो कार ने टक्कर मार दी थी जिसके चलते उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। ये घटना 1 अक्टूबर की है।

ट्रिब्यून’ और ‘दैनिक भास्कर’ की रिपोर्ट्स में इस घटना का ब्यौरा है। ‘दैनिक जागरण’ की रिपोर्ट के मुताबिक, मृतका नोमी गांव काला अफगाना, तहसील बटाला की रहने वाली थी। उसके पिता का नाम सलीम मसीह है। पंजाबी मीडिया में भी इस घटना से जुड़ी कई खबरें छपी हैं।

अमृतसर सिटी के पुलिस कमिश्नर डॉ सुखचैन गिल ने मीडिया को बताया कि, “सोशल मीडिया पर जिस महिला कांस्टेबल की तस्वीरें शेयर की जा रही हैं, उसकी मौत सड़क दुर्घटना में हुई थी। वह अमृतसर जिला पुलिस की एमएसके शाखा में कार्यरत थी। उसके बलात्कार और हत्या की बात एकदम बेबुनियाद है।”

ये निकला नतीजा 

यानी यह साफ है कि अमृतसर की महिला कांस्टेबल नोमी की मौत एक सड़क दुर्घटना में हुई थी। उसके बलात्कार और हत्या की बात सिर्फ एक अफवाह है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios