Asianet News Hindi

गरुड़ पुराण: ये गलतियां आपके सौभाग्य को बदल सकती हैं दुर्भाग्य में, इनसे बचकर रहना चाहिए

First Published May 8, 2021, 1:34 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. गरुड़ पुराण हिंदू धर्म के प्रमुख ग्रंथों में से एक है। इसमें मनुष्य के जीवन से संबंधित अनेक महत्वपूर्ण बातों के बारे में बताया गया है। इसमें कुछ ऐसी गलतियों के बताया गया है जिन्हें करने वाले व्यक्ति के जीवन में परेशानियां लगी ही रहती है। ये गलतियां आपके सौभाग्य को दुर्भाग्य में बदल सकती हैं, इसलिए इन गलतियों को करने से बचना चाहिए। आगे जानिए कौन-सी हैं वो गलतियां…

1. धन का अहंकार करने वाला
व्यक्ति को कभी भी धन आने पर अंहकार नहीं करना चाहिए। अहंकार की भावना से व्यक्ति की बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है और व्यक्ति अंहकार में आकर व्यक्ति दूसरों का सम्मान नहीं करता है धन का अहंकार करने वाला व्यक्ति से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं और जल्दी ही ऐसे लोगों का धन नष्ट हो जाता है। व्यक्ति अपने जीवन में परेशानियों का सामना करता है।

1. धन का अहंकार करने वाला
व्यक्ति को कभी भी धन आने पर अंहकार नहीं करना चाहिए। अहंकार की भावना से व्यक्ति की बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है और व्यक्ति अंहकार में आकर व्यक्ति दूसरों का सम्मान नहीं करता है धन का अहंकार करने वाला व्यक्ति से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं और जल्दी ही ऐसे लोगों का धन नष्ट हो जाता है। व्यक्ति अपने जीवन में परेशानियों का सामना करता है।

2. लोभ की भावना रखने का वाला 
दूसरों के धन को देखकर मन में लालच लाने वाले व्यक्ति को कभी खुश नहीं रहते हैं। धन का लालच करना और उसे गलत तरह से प्राप्त करने का प्रयास करने वाले व्यक्ति इस जन्म के साथ अगले जन्मों में भी संतुष्टि प्राप्त नहीं कर पाते हैं।

2. लोभ की भावना रखने का वाला 
दूसरों के धन को देखकर मन में लालच लाने वाले व्यक्ति को कभी खुश नहीं रहते हैं। धन का लालच करना और उसे गलत तरह से प्राप्त करने का प्रयास करने वाले व्यक्ति इस जन्म के साथ अगले जन्मों में भी संतुष्टि प्राप्त नहीं कर पाते हैं।

3. दूसरों की निंदा करने वाले
गरुड़ पुराण के अनुसार किसी व्यक्ति की निंदा करना पाप के समान होता है। निंदा करने में व्यक्ति बहुत आनंदित महसूस करता है परंतु यह केवल अपने बहूमुल्य समय को नष्ट करना होता है। ऐसे लोग अपने समय को बर्बाद करते हैं और अपने जीवन में कभी सफल नहीं हो पाते हैं, जिसके कारण दुखी होते रहते हैं।

3. दूसरों की निंदा करने वाले
गरुड़ पुराण के अनुसार किसी व्यक्ति की निंदा करना पाप के समान होता है। निंदा करने में व्यक्ति बहुत आनंदित महसूस करता है परंतु यह केवल अपने बहूमुल्य समय को नष्ट करना होता है। ऐसे लोग अपने समय को बर्बाद करते हैं और अपने जीवन में कभी सफल नहीं हो पाते हैं, जिसके कारण दुखी होते रहते हैं।

4. मैले वस्त्र पहनने वाला
जो लोग अस्वच्छ रहते हैं और गंदे वस्त्र धारण करते हैं उनके ऊपर कभी मां लक्ष्मी की कृपा नहीं होती हैं और हमेशा धन का अभाव बना रहता है। गंदे वस्त्रों के दरिद्रता की निशानी माना गया है इसलिए हमेशा व्यक्ति को साफ-सुथरे कपड़े पहनना चाहिए।

4. मैले वस्त्र पहनने वाला
जो लोग अस्वच्छ रहते हैं और गंदे वस्त्र धारण करते हैं उनके ऊपर कभी मां लक्ष्मी की कृपा नहीं होती हैं और हमेशा धन का अभाव बना रहता है। गंदे वस्त्रों के दरिद्रता की निशानी माना गया है इसलिए हमेशा व्यक्ति को साफ-सुथरे कपड़े पहनना चाहिए।

5. रात को दही का सेवन करना
गरुड़ पुराण के अनुसार, एक स्वस्थ शरीर की कामना रखने वाले मनुष्य को कभी भी रात को दही नहीं खाना चाहिए। इससे स्वास्थ्य कमजोर होता है, जिससे आपको शारीरिक रूप से कष्ट उठाना पड़ सकता है।

5. रात को दही का सेवन करना
गरुड़ पुराण के अनुसार, एक स्वस्थ शरीर की कामना रखने वाले मनुष्य को कभी भी रात को दही नहीं खाना चाहिए। इससे स्वास्थ्य कमजोर होता है, जिससे आपको शारीरिक रूप से कष्ट उठाना पड़ सकता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios