Asianet News Hindi

बिहार में इस सीट पर होगा सबसे दिलचस्प मुकाबला, लालू के बेटे के खिलाफ चुनाव लड़ेगी बहू ऐश्वर्या राय

First Published Sep 8, 2020, 12:51 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) । बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच लालू यादव के बड़े बेटे और महुआ से मौजूदा विधायक तेजप्रताप यादव विधानसभा सीट बदलने की तैयारी में हैं। संभावना है कि वे हसनपुर सीट से चुनाव लड़ेंगे। लेकिन, इस बार उनका जीतना इतना आसान नहीं है, क्योंकि मौजूदा सियासी दांव-पेंच देखने के बाद ऐसा लग रहा है ऐश्वर्या को भी इसी सीट से लड़ाया जा सकता है। नीतीश की पहली वर्चुअल रैली से दो चीजें साफ हुईं। एक-लालू के बेटे और बहू के बीच विवाद का मुद्दा चुनाव में उछलेगा। दूसरा-लालू फैमिली के विवाद को मुद्दा बनाने के लिए ऐश्वर्या को तेजप्रताप के खिलाफ कैंडिडेट बनाया जाएगा।

महुआ सीट पर तेजप्रताप का काफी विरोध हो रहा है। इस वजह से दूसरी बार विधानसभा के लिए उनकी राह आसान नजर नहीं आ रही है। ऐश्वर्या प्रकरण के बाद तो ये काफी मुश्किल भी माना जा रहा है। (फाइल फोटो)
 


 

महुआ सीट पर तेजप्रताप का काफी विरोध हो रहा है। इस वजह से दूसरी बार विधानसभा के लिए उनकी राह आसान नजर नहीं आ रही है। ऐश्वर्या प्रकरण के बाद तो ये काफी मुश्किल भी माना जा रहा है। (फाइल फोटो)
 


 


चर्चाओं के मुताबिक जनता में तेजप्रताप को लेकर काफी नाराजगी है। बावजूद इसके कि वो यहां अब तक कई दौरा कर चुके हैं। हसनपुर विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिम-यादव समीकरण सटीक है। इस वजह से यहां से तेजप्रताप की उम्मीदवारी काफी हद तक सुरक्षित मानी जा रही थी। पिछले दिनों रिम्स में लालू से उनकी मुलाक़ात की एक वजह इसे भी माना गया। 
(फाइल फोटो)


चर्चाओं के मुताबिक जनता में तेजप्रताप को लेकर काफी नाराजगी है। बावजूद इसके कि वो यहां अब तक कई दौरा कर चुके हैं। हसनपुर विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिम-यादव समीकरण सटीक है। इस वजह से यहां से तेजप्रताप की उम्मीदवारी काफी हद तक सुरक्षित मानी जा रही थी। पिछले दिनों रिम्स में लालू से उनकी मुलाक़ात की एक वजह इसे भी माना गया। 
(फाइल फोटो)


हाल ही में तेजप्रताप के ससुर चंद्रिका राय ने आरजेडी छोड़ जेडीयू का दामन थामा है और यादव परिवार के साथ सियासी लड़ाई में खुलकर आगे आ गए हैं। उनकी बेटी ऐश्वर्या के भी चुनाव लड़ सकती हैं।
(फाइल फोटो)


हाल ही में तेजप्रताप के ससुर चंद्रिका राय ने आरजेडी छोड़ जेडीयू का दामन थामा है और यादव परिवार के साथ सियासी लड़ाई में खुलकर आगे आ गए हैं। उनकी बेटी ऐश्वर्या के भी चुनाव लड़ सकती हैं।
(फाइल फोटो)


खबरों के मुताबिक तेजप्रताप को डर है कि महुआ से अगर ऐश्वर्य चुनाव लड़ती हैं तो खतरा बढ़ जाएगा। हालांकि इस मामले पर तेजप्रताप ने स्वीकार नहीं किया है। लेकिन, मामला साफ होता नजर आ रहा है।
(फाइल फोटो)


खबरों के मुताबिक तेजप्रताप को डर है कि महुआ से अगर ऐश्वर्य चुनाव लड़ती हैं तो खतरा बढ़ जाएगा। हालांकि इस मामले पर तेजप्रताप ने स्वीकार नहीं किया है। लेकिन, मामला साफ होता नजर आ रहा है।
(फाइल फोटो)


महुआ सीट से समस्तीपुर के हसनपुर क्षेत्र की दूरी 90 किमी है। क्षेत्र का सामाजिक समीकरण भी महुआ की तरह है। वहां भी यादव व कुशवाहा वोटर्स की बहुलता है। पिछले चुनाव में हसनपुर से जदयू उम्मीदवार जीता था। जदयू-राजद-कांग्रेस गठजोड़ में सीट जदयू को मिली थी।
(फाइल फोटो)


महुआ सीट से समस्तीपुर के हसनपुर क्षेत्र की दूरी 90 किमी है। क्षेत्र का सामाजिक समीकरण भी महुआ की तरह है। वहां भी यादव व कुशवाहा वोटर्स की बहुलता है। पिछले चुनाव में हसनपुर से जदयू उम्मीदवार जीता था। जदयू-राजद-कांग्रेस गठजोड़ में सीट जदयू को मिली थी।
(फाइल फोटो)

तेजप्रताप यादव के चुनाव क्षेत्र पर उनके ससुर चंद्रिका राय की पैनी नजर टिकी है। हाल ही में मीडिया के एक सवाल पर उन्होंने कहा था कि सुना है कि दोनों भाई (तेज प्रताप और तेजस्वी) अपने लिए नए क्षेत्र की तलाश में हैं, मिल जाए तो हमें भी बताइएगा। ऐसे में संभव है कि तेज प्रताप को हराने के लिए ऐश्‍वर्या को वहीं से चुनाव लड़ाया जाए जहां से उनके पति लड़ेंगे।(फाइल फोटो)
 

तेजप्रताप यादव के चुनाव क्षेत्र पर उनके ससुर चंद्रिका राय की पैनी नजर टिकी है। हाल ही में मीडिया के एक सवाल पर उन्होंने कहा था कि सुना है कि दोनों भाई (तेज प्रताप और तेजस्वी) अपने लिए नए क्षेत्र की तलाश में हैं, मिल जाए तो हमें भी बताइएगा। ऐसे में संभव है कि तेज प्रताप को हराने के लिए ऐश्‍वर्या को वहीं से चुनाव लड़ाया जाए जहां से उनके पति लड़ेंगे।(फाइल फोटो)
 


नीतीश कुमार ने वर्चुअल रैली में ऐश्वर्या के कथित उत्पीड़न का मुद्दा उठा दिया है। माना जा रहा है कि पारिवारिक झगड़े के बहाने जेडीयू लालू के खिलाफ जनता की सिंपैथी बटोरने का प्रयास करेगी। ऐश्वर्या-तेजप्रताप के रिश्ते शादी के 6 महीने बाद ही खराब हो गए थे। मामला इतना बिगड़ा कि अदालत तक पहुंचा। सड़कों पर भी लालू फैमिली का ड्रामा दिखा। विवाद में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

 (फाइल फोटो)


नीतीश कुमार ने वर्चुअल रैली में ऐश्वर्या के कथित उत्पीड़न का मुद्दा उठा दिया है। माना जा रहा है कि पारिवारिक झगड़े के बहाने जेडीयू लालू के खिलाफ जनता की सिंपैथी बटोरने का प्रयास करेगी। ऐश्वर्या-तेजप्रताप के रिश्ते शादी के 6 महीने बाद ही खराब हो गए थे। मामला इतना बिगड़ा कि अदालत तक पहुंचा। सड़कों पर भी लालू फैमिली का ड्रामा दिखा। विवाद में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

 (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios