Asianet News Hindi

राजनीति के लिए आनन-फानन में की थी बाहुबली से शादी, सीवान में यूं भेद दिया था मोहम्मद शहाबुद्दीन का किला

First Published Oct 5, 2020, 11:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) । सिवान में एक समय बाहुबली मोहम्मद शहाबुद्दीन (Mohammad Shahabuddin) का राज था। वो जो चाहता वही होता था, क्योंकि उसके खौफ का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि लोग अपने घर और दुकान में उसकी ही तस्वीर टांगते थे। लेकिन, कविता सिंह (Kavita Singh) ने इस खौफ को खत्म करने के लिए बिना मुहुर्त के पितृपक्ष में बाहुबली नेता अजय सिंह (Ajay Singh) से शादी कर ली, जिसके बाद से सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) का भी उन्हें आशीर्वाद मिलता रहा है। इसी का नतीजा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब को भी चुनाव में हरा दिया, जो आज सिवान से सांसद हैं।  


बाहुबली नेता अजय सिंह के संबंध नीतीश कुमार से अच्छे हैं। उनकी मां जगमातो देवी सिवान के दरौंधा सीट से चुनाव लड़ती थी। लेकिन, उनके निधन के बाद 2011 में उनकी सीट खाली हो गई। इसी साल उपचुनाव होना था। बताते हैं कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने अजय सिंह के सामने उस समय शर्त रखी थी कि किसी से शादी कर लो, हम उसे टिकट देंगे। 
 



 

बाहुबली नेता अजय सिंह के संबंध नीतीश कुमार से अच्छे हैं। उनकी मां जगमातो देवी सिवान के दरौंधा सीट से चुनाव लड़ती थी। लेकिन, उनके निधन के बाद 2011 में उनकी सीट खाली हो गई। इसी साल उपचुनाव होना था। बताते हैं कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने अजय सिंह के सामने उस समय शर्त रखी थी कि किसी से शादी कर लो, हम उसे टिकट देंगे। 
 

 

सीएम नीतीश कुमार की शर्त पर अजय सिंह से दुविधा में पड़ गए। वो शादी के बारे में सोचते भी तो कैसे, क्योंकि उस समय पितृपक्ष चल रहा था और ऐसे में कोई शुभ कार्य नहीं होता है। लेकिन, किसी तरह कविता सिंह ने पितृपक्ष में उनसे शादी करने का फैसला किया। टिकट के लिए बिना मुहूर्त के ही दोनों ने शादी कर ली।
 

सीएम नीतीश कुमार की शर्त पर अजय सिंह से दुविधा में पड़ गए। वो शादी के बारे में सोचते भी तो कैसे, क्योंकि उस समय पितृपक्ष चल रहा था और ऐसे में कोई शुभ कार्य नहीं होता है। लेकिन, किसी तरह कविता सिंह ने पितृपक्ष में उनसे शादी करने का फैसला किया। टिकट के लिए बिना मुहूर्त के ही दोनों ने शादी कर ली।
 

शादी के बाद जेडीयू ने कविता सिंह को दरौंधा उपचुनाव का टिकट थमा दिया था। कविता सिंह चुनाव लड़ी और जीत भी गईं। वो उस समय खूब चर्चा रही। पितृपक्ष में शादी को लेकर कविता सिंह बेबाकी से जवाब देती थीं।

शादी के बाद जेडीयू ने कविता सिंह को दरौंधा उपचुनाव का टिकट थमा दिया था। कविता सिंह चुनाव लड़ी और जीत भी गईं। वो उस समय खूब चर्चा रही। पितृपक्ष में शादी को लेकर कविता सिंह बेबाकी से जवाब देती थीं।

नीतीश कुमार के करीबी अजय सिंह की पत्नी होने के कारण कविता को हमेशा नीतीश कुमार का आशीर्वाद मिलता रहा। साल 2015 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू और आरजेडी के बीच गठबंधन था। तब, भी कविता देवी को टिकट दिया गया और वो चुनाव जीत गईं। 

नीतीश कुमार के करीबी अजय सिंह की पत्नी होने के कारण कविता को हमेशा नीतीश कुमार का आशीर्वाद मिलता रहा। साल 2015 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू और आरजेडी के बीच गठबंधन था। तब, भी कविता देवी को टिकट दिया गया और वो चुनाव जीत गईं। 

लगातार दो बार चुनाव जीतने के बाद कविता 2019 के लोकसभा चुनाव में लड़ने को तैयार हो गई। ऐसे में अजय सिंह ने अपनी पत्नी के लिए लोकसभा चुनाव का टिकट मांगा और जेडीयू ने उन्हें शहाबुद्दीन के गढ़ माने जाने वाले सिवान से टिकट दे दिया। इस बार शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब उम्मीदवार थीं। लेकिन, कविता सिंह 1 लाख से ज्यादा वोटों से चुनाव में जीत लिया। 

लगातार दो बार चुनाव जीतने के बाद कविता 2019 के लोकसभा चुनाव में लड़ने को तैयार हो गई। ऐसे में अजय सिंह ने अपनी पत्नी के लिए लोकसभा चुनाव का टिकट मांगा और जेडीयू ने उन्हें शहाबुद्दीन के गढ़ माने जाने वाले सिवान से टिकट दे दिया। इस बार शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब उम्मीदवार थीं। लेकिन, कविता सिंह 1 लाख से ज्यादा वोटों से चुनाव में जीत लिया। 

सिवान की राजनीति में अब कविता सिंह और उनके बाहुबली पति अजय सिंह का अच्छा-खासा दखल है। उनके पति अजय सिंह हर राजनैतिक कार्यक्रमों में उनके साथ साए की तरह रहते हैं। 

सिवान की राजनीति में अब कविता सिंह और उनके बाहुबली पति अजय सिंह का अच्छा-खासा दखल है। उनके पति अजय सिंह हर राजनैतिक कार्यक्रमों में उनके साथ साए की तरह रहते हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios