Asianet News Hindi

कभी स्कूटर से सामान बेचता था बिहार का ये शख्स, फिर बना बड़ा कारोबारी; झेलने पड़े ऐसे कलंक

First Published Sep 30, 2020, 9:50 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) । बिहार में शून्य से शिखर पर पहुंचने वालों की तादात बहुत लंबी है। लेकिन, इनमें एक नाम सहारा श्री सुब्रत राय (Sahara Shree Subrata Rai) का भी है, जो अपने दिमाग और मेहनत की बदौलत ऐसा कारोबार खड़ा कर लिए कि उन्हें हर कोई जानने-पहचानने लगा। बताते हैं कि कभी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर (Gorakhpur) में स्कूटर से सामान बेंचने वाले बिहार के इस शख्स के पास 11 अरब डॉलर से ज्यादा की संपत्ति हो गई थी। वो गिने उद्योगपतियों में शामिल हो गए थे। लेकिन, बाद में उनपर ऐसा कलंक लगा कि वे आज जेल में बंद हैं।

सहारा श्री कहलाने वाले सुब्रत राय का जन्म 10 जून, 1948 को अररिया जिले में हुआ। कोलकाता से पढ़ाई करने के बाद वे यूपी में गोरखपुर के एक सरकारी कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई किए थे। फिर, वहीं से कारोबार शुरू किए। (फाइल फोटो)

सहारा श्री कहलाने वाले सुब्रत राय का जन्म 10 जून, 1948 को अररिया जिले में हुआ। कोलकाता से पढ़ाई करने के बाद वे यूपी में गोरखपुर के एक सरकारी कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई किए थे। फिर, वहीं से कारोबार शुरू किए। (फाइल फोटो)


बताते हैं सुब्रत राय 1970-78 के बीच स्कूटर से चलते थे और सामान बेचा करते थे। इसके बाद वह सहारा फाइनेंस में आए और नॉन बैंकिंग कारोबार के जरिए धीरे-धीरे देशभर में छा गए।(फाइल फोटो)


बताते हैं सुब्रत राय 1970-78 के बीच स्कूटर से चलते थे और सामान बेचा करते थे। इसके बाद वह सहारा फाइनेंस में आए और नॉन बैंकिंग कारोबार के जरिए धीरे-धीरे देशभर में छा गए।(फाइल फोटो)


सुब्रत राय ने रियल स्टेट, टेलीकॉम, एयरलाइंस, टूरिज्म, सिनेमा, खेल, बैंकिंग और मीडिया जैसे क्षेत्रों में में भी हाथ आजमाया और सफल भी हुए। उनकी कंपनी ने न्यूयार्क, लंदन में भी अपने पैर पसारे और छा गए।(फाइल फोटो)


सुब्रत राय ने रियल स्टेट, टेलीकॉम, एयरलाइंस, टूरिज्म, सिनेमा, खेल, बैंकिंग और मीडिया जैसे क्षेत्रों में में भी हाथ आजमाया और सफल भी हुए। उनकी कंपनी ने न्यूयार्क, लंदन में भी अपने पैर पसारे और छा गए।(फाइल फोटो)


एक प्रतिष्ठित मैग्जीन ने तो सहारा ग्रुप को भारत में रेलवे के बाद सबसे ज्यादा रोजगार देने वाली कंपनी का तमगा तक दे दिया। बताते हैं कि उन्होंने 10 लाख से अधिक लोगों को रोजगार दिया था।(फाइल फोटो)


एक प्रतिष्ठित मैग्जीन ने तो सहारा ग्रुप को भारत में रेलवे के बाद सबसे ज्यादा रोजगार देने वाली कंपनी का तमगा तक दे दिया। बताते हैं कि उन्होंने 10 लाख से अधिक लोगों को रोजगार दिया था।(फाइल फोटो)


सहारा श्री के नाम से मशहूर सुब्रत राय सहारा की बैठ हर क्षेत्र में हो गई थी। नेता से लेकर अभिनेता तक उनके चक्कर काटते थे। वे भारत के चुनिंदा उद्योगपतियों में गिने जाते थे। एक समय ऐसा भी था जब उनके पास 11 अरब डालर से भी ज्यादा थी संपत्ति हो गई थी। (फाइल फोटो)


सहारा श्री के नाम से मशहूर सुब्रत राय सहारा की बैठ हर क्षेत्र में हो गई थी। नेता से लेकर अभिनेता तक उनके चक्कर काटते थे। वे भारत के चुनिंदा उद्योगपतियों में गिने जाते थे। एक समय ऐसा भी था जब उनके पास 11 अरब डालर से भी ज्यादा थी संपत्ति हो गई थी। (फाइल फोटो)

एक समय ऐसा भी था जब अनकी लैविश पार्टियों में अमिताभ और शाहरूख खान, बड़े-बड़े नेता और हस्तियां हिस्सा लेते थे। यूपी के लखनऊ में हुई उनके दोनों बेटों की शादी में 10 हजार से अधिक नामचीन लोग शामिल हुए थे, जिनमें तत्कालीन पीएम अटल बिहारी वाजपेयी भी शामिल थे।(फाइल फोटो)

एक समय ऐसा भी था जब अनकी लैविश पार्टियों में अमिताभ और शाहरूख खान, बड़े-बड़े नेता और हस्तियां हिस्सा लेते थे। यूपी के लखनऊ में हुई उनके दोनों बेटों की शादी में 10 हजार से अधिक नामचीन लोग शामिल हुए थे, जिनमें तत्कालीन पीएम अटल बिहारी वाजपेयी भी शामिल थे।(फाइल फोटो)

सुब्रत राय पर अपने निवेशकों का पैसा न लौटाने का भी आरोप लगा। इसी मामले में सेबी ने उनके के खिलाफ कार्रवाई की और 20 करोड़ रुपए की वापसी के इस मामले में वे जेल गए। इसके बाद कारोबार भी सिमटता जा रहा है। (फाइल फोटो)

सुब्रत राय पर अपने निवेशकों का पैसा न लौटाने का भी आरोप लगा। इसी मामले में सेबी ने उनके के खिलाफ कार्रवाई की और 20 करोड़ रुपए की वापसी के इस मामले में वे जेल गए। इसके बाद कारोबार भी सिमटता जा रहा है। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios