बिहार DGP ने कहा-हमारे IPS के साथ हो रहा बंदी जैसा व्यवहार,सबूत मिलते ही करेंगे रिया को अरेस्ट,वो हमारी आरोपी

First Published 3, Aug 2020, 8:36 PM

पटना (Bihar) । एक्टर सुशांत सिंह राजपूत मामले में बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने बड़ा बयान जारी किया है। डीजीपी ने कहा कि हमारे आईपीएस से बंदी जैसा व्यवहार किया जा रहा है। रिया चक्रवर्ती हमारी आरोपी है, हमारी पुलिस जांच कर रही है, सबूत मिलते ही अब रिया की गिरफ्तारी करेंगे। मुंबई पुलिस हमें जांच करने नहीं दे रही है। अभी तक सुशांत के पैसे को लेकर कोई जांच ही नहीं की गई। 

<p><br />
एक न्यूज चैनल से खास बातचीत में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि अभी हमारे पास सबूत नहीं है। हमारी टीम मुंबई इसीलिए वहां गई है। हम किसी भी बेगुनाह को गिरफ्तार नहीं करेंगे। हमारी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है, लेकिन अगर सबूत मिले तो किसी को छोड़ा नहीं जाएगा। सबूत मिलते ही गैर जमानती वारंट जारी होगा।&nbsp;</p>


एक न्यूज चैनल से खास बातचीत में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि अभी हमारे पास सबूत नहीं है। हमारी टीम मुंबई इसीलिए वहां गई है। हम किसी भी बेगुनाह को गिरफ्तार नहीं करेंगे। हमारी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है, लेकिन अगर सबूत मिले तो किसी को छोड़ा नहीं जाएगा। सबूत मिलते ही गैर जमानती वारंट जारी होगा। 

<p><br />
डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि मुंबई पुलिस हमें सहयोग नहीं कर रही है। लोग मुबंई पुलिस के खिलाफ है। मुंबई पुलिस को हमें सहयोग करना होगा।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>


डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि मुंबई पुलिस हमें सहयोग नहीं कर रही है। लोग मुबंई पुलिस के खिलाफ है। मुंबई पुलिस को हमें सहयोग करना होगा। 
 

<p><br />
बिहार के डीजीपी ने पटना के एसपी सिटी को मुंबई में क्वारंटाइन करने पर कहा कि हमने क्वारंटाइन गाइडलाइंस की जांच की। इसकी कोई जरूरत नहीं थी। यदि कोई अधिकारी सूचना देकर, वाहन और आवास के इंतजाम की अनुरोध कर गया है तो तो वो सिक्रेटली नहीं गया था। एसपी विनय तिवारी ने पत्र लिखकर बांद्रा के डीसीपी को अपने आने की सूचना दे दी थी। डीजीपी ने कहा कि उस नियम को कोट करते हुए पटना के आईजी संजय सिंह बीएमसी के चीफ को एक पत्र लिख रहे हैं।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>


बिहार के डीजीपी ने पटना के एसपी सिटी को मुंबई में क्वारंटाइन करने पर कहा कि हमने क्वारंटाइन गाइडलाइंस की जांच की। इसकी कोई जरूरत नहीं थी। यदि कोई अधिकारी सूचना देकर, वाहन और आवास के इंतजाम की अनुरोध कर गया है तो तो वो सिक्रेटली नहीं गया था। एसपी विनय तिवारी ने पत्र लिखकर बांद्रा के डीसीपी को अपने आने की सूचना दे दी थी। डीजीपी ने कहा कि उस नियम को कोट करते हुए पटना के आईजी संजय सिंह बीएमसी के चीफ को एक पत्र लिख रहे हैं। 
 

<p><br />
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच के लिये पटना से मुंबई गए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को जबरन क्वारंटाइन में में भेजे जाने को अनुचित बताया है।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच के लिये पटना से मुंबई गए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को जबरन क्वारंटाइन में में भेजे जाने को अनुचित बताया है। 
 

<p>मुख्यमंत्री ने नीतीश कुमार कहा कि यह विषय राज्य के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने महाराष्ट्र के अधिकारियों के समक्ष उठाया है। यह पूछे जाने पर कि क्या इस विषय को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बारे में वह कुछ कहना चाहेंगे, नीतीश कुमार ने कहा, 'यह कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं है। यह बिहार पुलिस के एक कानूनी दायित्व का विषय है। हम इसे पूरा करने की हरसंभव कोशिश करेंगे।</p>

मुख्यमंत्री ने नीतीश कुमार कहा कि यह विषय राज्य के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने महाराष्ट्र के अधिकारियों के समक्ष उठाया है। यह पूछे जाने पर कि क्या इस विषय को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बारे में वह कुछ कहना चाहेंगे, नीतीश कुमार ने कहा, 'यह कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं है। यह बिहार पुलिस के एक कानूनी दायित्व का विषय है। हम इसे पूरा करने की हरसंभव कोशिश करेंगे।

loader