Asianet News Hindi

मौत से ठीक पहले आखिर करीना कपूर के चाचा के साथ क्या हुआ था, पापा रणधीर ने किया खुलासा

First Published Feb 14, 2021, 5:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। करीना कपूर (Kareena Kapoor) के चाचा और राज कपूर (Raj Kapoor) के छोटे बेटे राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) को गुजरे हुए 5 दिन हो चुके हैं। एक्टर के निधन से न सिर्फ कपूर फैमिली बल्कि पूरे बॉलीवुड में शोक की लहर है। सबसे ज्यादा दुखी राजीव कपूर के बड़े भाई और करीना के पापा रणधीर कपूर हैं। बीते दो साल में उन्होंने अपनी मां के अलावा एक बहन और दो भाइयों को खो दिया है। हाल ही में सबसे छोटे भाई की मौत उनके लिए किसी सदमे से कम नहीं है। अपने भाई को याद करते हुए रणधीर कपूर ने हाल ही में मौत से ठीक पहले आखिर क्या हुआ था, इसका खुलासा किया है।

रणधीर कपूर ने भाई राजीव की मौत से ठीक पहले के वाकये को बताते हुए कहा- मेरे साथ हमेशा 24 घंटे एक नर्स रहती है क्योंकि मुझे चलने-फिरने में तकलीफ है। 9 फरवरी की सुबह करीब 7.30 बजे वो नर्स ऊपर राजीव को उठाने गई थी। लेकिन राजीव की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला। 

रणधीर कपूर ने भाई राजीव की मौत से ठीक पहले के वाकये को बताते हुए कहा- मेरे साथ हमेशा 24 घंटे एक नर्स रहती है क्योंकि मुझे चलने-फिरने में तकलीफ है। 9 फरवरी की सुबह करीब 7.30 बजे वो नर्स ऊपर राजीव को उठाने गई थी। लेकिन राजीव की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला। 

इसके बाद नर्स को लगा कि राजीव की पल्स बेहद धीमी हो गई है और वो लगातार कम होती जा रही है। फिर हम राजीव को फौरन अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन डॉक्टर्स ने चेकअप के बाद कह दिया कि वो अब इस दुनिया में नहीं हैं। 
 

इसके बाद नर्स को लगा कि राजीव की पल्स बेहद धीमी हो गई है और वो लगातार कम होती जा रही है। फिर हम राजीव को फौरन अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन डॉक्टर्स ने चेकअप के बाद कह दिया कि वो अब इस दुनिया में नहीं हैं। 
 

रणधीर ने आगे कहा- उसके जाने के बाद मैं इस घर में अकेला रह गया हूं।  रणधीर के मुताबिक, मेरे लिए तो मेरे भाई ऋषि और राजीव दो मजबूत खंभों की तरह थे, जो अब टूट चुके हैं। बता दें कि राजीव और ऋषि कपूर के अलावा उनकी मां कृष्णा कपूर और बहन रितु नंदा का भी निधन हो चुका है। 

रणधीर ने आगे कहा- उसके जाने के बाद मैं इस घर में अकेला रह गया हूं।  रणधीर के मुताबिक, मेरे लिए तो मेरे भाई ऋषि और राजीव दो मजबूत खंभों की तरह थे, जो अब टूट चुके हैं। बता दें कि राजीव और ऋषि कपूर के अलावा उनकी मां कृष्णा कपूर और बहन रितु नंदा का भी निधन हो चुका है। 

इससे पहले रणधीर ने एक इंटरव्यू में कहा था- राजीव बहुत ही सिम्पल और बेहद जिंदादिल शख्स थे। यह भरोसा करना बहुत कठिन है कि वो अब हमारे बीच नहीं हैं। उनका कोई मेडिकल इतिहास भी नहीं था। उनकी सेहत बिल्कुल ठीक थी। उन्हें पहले से कोई प्रॉब्लम नहीं थी।

इससे पहले रणधीर ने एक इंटरव्यू में कहा था- राजीव बहुत ही सिम्पल और बेहद जिंदादिल शख्स थे। यह भरोसा करना बहुत कठिन है कि वो अब हमारे बीच नहीं हैं। उनका कोई मेडिकल इतिहास भी नहीं था। उनकी सेहत बिल्कुल ठीक थी। उन्हें पहले से कोई प्रॉब्लम नहीं थी।

बता दें कि 10 महीने पहले ही राजीव कपूर के बड़े भाई ऋषि कपूर का कैंसर की वजह से निधन हो गया था। दो भाईयों को खोने के गम में करीना कपूर के पापा रणधीर कपूर के आंसू नहीं रुक रहे हैं। छोटे भाई राजीव की मौत से वो पूरी तरह टूट गए हैं।

बता दें कि 10 महीने पहले ही राजीव कपूर के बड़े भाई ऋषि कपूर का कैंसर की वजह से निधन हो गया था। दो भाईयों को खोने के गम में करीना कपूर के पापा रणधीर कपूर के आंसू नहीं रुक रहे हैं। छोटे भाई राजीव की मौत से वो पूरी तरह टूट गए हैं।

कोरोना महामारी की वजह से राजीव कपूर के निधन पर चौथा नहीं रखा गया था। हालांकि कपूर फैमिली के मेंबर्स ने इकट्ठा होकर एक साधारण पूजा का आयोजन किया था और इसी दौरान राजीव कपूर को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। 

कोरोना महामारी की वजह से राजीव कपूर के निधन पर चौथा नहीं रखा गया था। हालांकि कपूर फैमिली के मेंबर्स ने इकट्ठा होकर एक साधारण पूजा का आयोजन किया था और इसी दौरान राजीव कपूर को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। 

25 अगस्त, 1962 को मुंबई में जन्मे राजीव कपूर ने 1984 में फिल्म 'आसमान' से डेब्यू किया था। हालांकि उन्हें बतौर एक्टर पहचान 1985 में आई फिल्म 'राम तेरी गंगा मैली' से मिली। इसके बाद राजीव ने कुछ और फिल्मों में काम किया लेकिन बतौर एक्टर वो कामयाब नहीं हो पाए। 1999 में राजीव कपूर ने आखिरी बार फिल्म 'आ अब लौट चलें' को प्रोड्यूस की।

25 अगस्त, 1962 को मुंबई में जन्मे राजीव कपूर ने 1984 में फिल्म 'आसमान' से डेब्यू किया था। हालांकि उन्हें बतौर एक्टर पहचान 1985 में आई फिल्म 'राम तेरी गंगा मैली' से मिली। इसके बाद राजीव ने कुछ और फिल्मों में काम किया लेकिन बतौर एक्टर वो कामयाब नहीं हो पाए। 1999 में राजीव कपूर ने आखिरी बार फिल्म 'आ अब लौट चलें' को प्रोड्यूस की।

2001 में राजीव कपूर ने 38 साल की उम्र में आर्किटेक्ट आरती सभरवाल से शादी कर ली। हालांकि राजीव कपूर की शादीशुदा लाइफ भी कामयाब नहीं रही और शादी के महज दो साल बाद ही उनका पत्नी से तलाक हो गया। तलाक के बाद फिलहाल राजीव कपूर अपने भाई रणधीर कपूर के साथ ही रहते थे। 

2001 में राजीव कपूर ने 38 साल की उम्र में आर्किटेक्ट आरती सभरवाल से शादी कर ली। हालांकि राजीव कपूर की शादीशुदा लाइफ भी कामयाब नहीं रही और शादी के महज दो साल बाद ही उनका पत्नी से तलाक हो गया। तलाक के बाद फिलहाल राजीव कपूर अपने भाई रणधीर कपूर के साथ ही रहते थे। 

राज कपूर के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर उर्फ ‘चिंपू’ का एक्टिंग करियर कुछ खास नहीं रहा। ‘राम तेरी गंगा मैली’ जैसी एकाध हिट फिल्म करने के बाद उनका करियर लगभग खत्म हो गया था, जिसके बाद उन्होंने प्रोडक्शन और डायरेक्शन में हाथ आजमाया।

राज कपूर के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर उर्फ ‘चिंपू’ का एक्टिंग करियर कुछ खास नहीं रहा। ‘राम तेरी गंगा मैली’ जैसी एकाध हिट फिल्म करने के बाद उनका करियर लगभग खत्म हो गया था, जिसके बाद उन्होंने प्रोडक्शन और डायरेक्शन में हाथ आजमाया।

राम तेरी गंगा मैली फिल्म तो सुपरहिट रही लेकिन इसका सारा क्रेडिट एक्ट्रेस मंदाकिनी को मिल गया। जैसे-जैसे फिल्म चर्चित होने लगी राजीव कपूर पिता राज कपूर से नाराज होते गए। इस फिल्म के बाद बाप-बेटे में काफी अनबन हो गई थी।

राम तेरी गंगा मैली फिल्म तो सुपरहिट रही लेकिन इसका सारा क्रेडिट एक्ट्रेस मंदाकिनी को मिल गया। जैसे-जैसे फिल्म चर्चित होने लगी राजीव कपूर पिता राज कपूर से नाराज होते गए। इस फिल्म के बाद बाप-बेटे में काफी अनबन हो गई थी।

'राम तेरी गंगा मैली' के बाद राज कपूर ने दोबारा कभी राजीव को लेकर कोई फिल्म नहीं बनाई। इस बात से राजीव पापा राज कपूर से से इतने नाराज थे कि वे पिता के मरने के बाद उनके अंतिम संस्कार में भी नहीं गए थे।

'राम तेरी गंगा मैली' के बाद राज कपूर ने दोबारा कभी राजीव को लेकर कोई फिल्म नहीं बनाई। इस बात से राजीव पापा राज कपूर से से इतने नाराज थे कि वे पिता के मरने के बाद उनके अंतिम संस्कार में भी नहीं गए थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios