Asianet News Hindi

सौतेले बेटे शाहिद कपूर और बहू मीरा के साथ कैसा है सास सुप्रिया पाठक का रिश्ता? एक्ट्रेस ने बताई हकीकत

First Published May 5, 2021, 6:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) की सौतेली मां सुप्रिया पाठक (Supriya Pathak) ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान बहू मीरा राजपूत और बेटे शाहिद के साथ अपने रिश्ते के बारे में खुलकर बात की। सुप्रिया पाठक ने कहा कि मेरे और शाहिद के बीच मां-बेटे के रिश्ते से कहीं ज्यादा प्यार है, क्योंकि हमारी मुलाकात एक अलग प्लेटफॉर्म पर हुई थी। जब मैं शाहिद से मिली थी, तब वो सिर्फ 6 साल के थे। शाहिद मुझे अपनी जिंदगी के उन 6 सालों में नहीं जानते थे, जब वो बड़े हो रहे थे। इसी वजह से हम दोस्त के तौर पर मिले थे। उस वक्त मैं उनके पिता की दोस्त थी और इसी वजह से मैं उनकी भी दोस्त बन गई थी और यही रिश्ता हमारा हमेशा बना रहा। हम हमेशा एक-दूसरे के साथ वही बॉन्ड शेयर कर रहे हैं, जो पहले करते थे। 
 

सुप्रिया के मुताबिक, मैं और शाहिद कभी एक साथ नहीं रहे थे, लेकिन ये बात सच है कि वो एक ऐसे शख्स हैं, जिन पर मैं डिपेंड हो सकती थी। मैं उनसे बहुत प्यार करती हूं। मैं इस रिश्ते को कभी भी डिफाइन नहीं कर सकती हूं और मैं कभी इसे करना भी नहीं चाहती हूं। हमारे बीच कुछ ऐसा है, जिस वजह से मैं उन पर भरोसा करती हूं।

सुप्रिया के मुताबिक, मैं और शाहिद कभी एक साथ नहीं रहे थे, लेकिन ये बात सच है कि वो एक ऐसे शख्स हैं, जिन पर मैं डिपेंड हो सकती थी। मैं उनसे बहुत प्यार करती हूं। मैं इस रिश्ते को कभी भी डिफाइन नहीं कर सकती हूं और मैं कभी इसे करना भी नहीं चाहती हूं। हमारे बीच कुछ ऐसा है, जिस वजह से मैं उन पर भरोसा करती हूं।

इंटरव्यू में सुप्रिया पाठक ने अपनी सौतेली बहू मीरा राजपूत के साथ अपने रिश्तों पर बात करते हुए कहा- मैं उनके लिए एक मां नहीं हूं और न ही बन सकती हूं। मुझे ये सब पहलू समझ ही नहीं आते हैं। हां, मैं अपने आसपास ये चीजें देखती हूं। मेरे कई फ्रेंड हैं, जिनके पास एक्सपीरियंस हैं और मेरे पास एक अच्छी सास भी थीं। 

इंटरव्यू में सुप्रिया पाठक ने अपनी सौतेली बहू मीरा राजपूत के साथ अपने रिश्तों पर बात करते हुए कहा- मैं उनके लिए एक मां नहीं हूं और न ही बन सकती हूं। मुझे ये सब पहलू समझ ही नहीं आते हैं। हां, मैं अपने आसपास ये चीजें देखती हूं। मेरे कई फ्रेंड हैं, जिनके पास एक्सपीरियंस हैं और मेरे पास एक अच्छी सास भी थीं। 

सुप्रिया के मुताबिक, ईमानदारी से कहूं तो मैं कभी नहीं जान पाई कि एक सास कैसी होती है? मीरा मेरे पास एक बेटी के रूप में आई थी और मुझे लगता है कि हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं। हम एक साथ शॉपिंग, लंच और डिनर को एन्जॉय करते हैं। इसलिए मेरे दिमाग में सास वाली छवि नहीं हैं और मुझे नहीं पता कि इन बातों पर किस तरह रिएक्ट करना है।  

सुप्रिया के मुताबिक, ईमानदारी से कहूं तो मैं कभी नहीं जान पाई कि एक सास कैसी होती है? मीरा मेरे पास एक बेटी के रूप में आई थी और मुझे लगता है कि हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं। हम एक साथ शॉपिंग, लंच और डिनर को एन्जॉय करते हैं। इसलिए मेरे दिमाग में सास वाली छवि नहीं हैं और मुझे नहीं पता कि इन बातों पर किस तरह रिएक्ट करना है।  

वहीं, अपने पोते जैन और पोती मीशा के साथ अपने रिश्ते के बारे में बात करते हुए सुप्रिया ने कहा- जैन मेरा स्वीटहार्ट है। मैं सच में अपने पोते-पोतियों से बेहद प्यार करती हूं। खास बात ये है कि मैं पोते-पोतियों की बहुत शौकीन हूं। मीशा और जैन दोनों ही असाधारण बच्चे हैं। जिस तरह से मैं उन्हें देखती हूं, वो बिल्कुल कमाल के हैं।

वहीं, अपने पोते जैन और पोती मीशा के साथ अपने रिश्ते के बारे में बात करते हुए सुप्रिया ने कहा- जैन मेरा स्वीटहार्ट है। मैं सच में अपने पोते-पोतियों से बेहद प्यार करती हूं। खास बात ये है कि मैं पोते-पोतियों की बहुत शौकीन हूं। मीशा और जैन दोनों ही असाधारण बच्चे हैं। जिस तरह से मैं उन्हें देखती हूं, वो बिल्कुल कमाल के हैं।

सुप्रिया पाठक ने अपने पति पंकज और बच्चों रुहान और सना के साथ भी अपनी क्लोज बॉन्डिंग को लेकर बात की। सुप्रिया से पूछा गया कि वो सीरियल ‘खिचड़ी’ की हंसा पारेख से लेकर फिल्म ‘गोलियों की रासलीला राम-लीला’ की धनकोर बा तक अलग-अलग माताओं वाले किरदार कैसे निभा लेती हैं? इस पर उन्होंने कहा- मैंने अपने पति पंकज से बहुत कुछ सीखा है। 

सुप्रिया पाठक ने अपने पति पंकज और बच्चों रुहान और सना के साथ भी अपनी क्लोज बॉन्डिंग को लेकर बात की। सुप्रिया से पूछा गया कि वो सीरियल ‘खिचड़ी’ की हंसा पारेख से लेकर फिल्म ‘गोलियों की रासलीला राम-लीला’ की धनकोर बा तक अलग-अलग माताओं वाले किरदार कैसे निभा लेती हैं? इस पर उन्होंने कहा- मैंने अपने पति पंकज से बहुत कुछ सीखा है। 

सुप्रिया के मुताबिक, मैं अभी भी उनसे (पंकज कपूर) हर मिनट कुछ न कुछ सीखती रहती हूं और उन्होंने मुझे हमेशा बताया है कि कैसे मेरे दिमाग की एक बात हर इंसान के लिए अलग होती है। यह इंसान के बात करने के तरीके और उस माहौल पर डिपेंड करता है, जहां वो रहते हैं। तो मैंने सोचा कि मैं अपने दर्शकों के लिए अलग-अलग किरदार और अलग-अलग मां की भावनाओं को पेश क्यों नहीं कर सकती हूं।

सुप्रिया के मुताबिक, मैं अभी भी उनसे (पंकज कपूर) हर मिनट कुछ न कुछ सीखती रहती हूं और उन्होंने मुझे हमेशा बताया है कि कैसे मेरे दिमाग की एक बात हर इंसान के लिए अलग होती है। यह इंसान के बात करने के तरीके और उस माहौल पर डिपेंड करता है, जहां वो रहते हैं। तो मैंने सोचा कि मैं अपने दर्शकों के लिए अलग-अलग किरदार और अलग-अलग मां की भावनाओं को पेश क्यों नहीं कर सकती हूं।

सुप्रिया ने अपने बेटे रूहान और बेटी सना के बारे में बात करते हुए कहा कि वो अपने बच्चों की मां कम और दोस्त ज्यादा हैं। सुप्रिया ने कहा- ये आपको मुझसे नहीं, बल्कि मेरे बच्चों से जानना चाहिए कि हमारा रिश्ता कैसा है। मुझे उनके साथ चिल करना पसंद है। हम एक जैसा ही म्यूजिक सुनते हैं और मैं वही चीजें देखती हूं, जो वो देखते हैं। मैं अपनी बेटी सना के साथ हर परेशानी को शेयर कर सकती हूं, जो एक दोस्त के साथ ही होता है।

सुप्रिया ने अपने बेटे रूहान और बेटी सना के बारे में बात करते हुए कहा कि वो अपने बच्चों की मां कम और दोस्त ज्यादा हैं। सुप्रिया ने कहा- ये आपको मुझसे नहीं, बल्कि मेरे बच्चों से जानना चाहिए कि हमारा रिश्ता कैसा है। मुझे उनके साथ चिल करना पसंद है। हम एक जैसा ही म्यूजिक सुनते हैं और मैं वही चीजें देखती हूं, जो वो देखते हैं। मैं अपनी बेटी सना के साथ हर परेशानी को शेयर कर सकती हूं, जो एक दोस्त के साथ ही होता है।

बता दें कि शाहिद कपूर के पैरेंट्स पंकज कपूर और नीलिमा अजीम की शादी 1979 में हुई थी। लेकिन बाद में दोनों के रिश्ते में मनमुटाव आ गया। इसके चलते दोनों ने आपसी सहमति से 6 साल बाद 1984 में तलाक ले लिया। इसके बाद पंकज कपूर ने 5 साल बाद 1989 में एक्ट्रेस सुप्रिया पाठक से शादी कर ली और वह शाहिद की सौतेली मां बन गईं। 

बता दें कि शाहिद कपूर के पैरेंट्स पंकज कपूर और नीलिमा अजीम की शादी 1979 में हुई थी। लेकिन बाद में दोनों के रिश्ते में मनमुटाव आ गया। इसके चलते दोनों ने आपसी सहमति से 6 साल बाद 1984 में तलाक ले लिया। इसके बाद पंकज कपूर ने 5 साल बाद 1989 में एक्ट्रेस सुप्रिया पाठक से शादी कर ली और वह शाहिद की सौतेली मां बन गईं। 

सौतेली मां सुप्रिया पाठक और पापा पंकज कपूर के साथ शाहिद कपूर।

सौतेली मां सुप्रिया पाठक और पापा पंकज कपूर के साथ शाहिद कपूर।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios