Asianet News Hindi

जिस लड़की ने IAS बनकर देश का मान बढ़ाया....मुस्लिम से शादी करने पर उसे मिली धमकी और गालियां

First Published Apr 13, 2020, 1:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. राजस्थान के भीलवाड़ा में कोरोना लगातार बढ़ते मामलों को रोकने के कारण आईएएस अफसर टीना डाबी चर्चा में हैं।  साल 2015 में IAS में टॉप करने वाली लड़की टीना_डाबी UPSC टॉपर रही हैं। उन्होंने यूपीएससी में टॉप करके इतिहास रचा था। अब वो जस्थान के भीलवाड़ा में एसडीएम (Sub Divisional Magistrate) के पद पर तैनात होकर अपने कर्तव्य को बेहतर तरीके से निभा रही हैं। टीना देश के सभी बच्चों के लिए एक प्रेरणा रही हैं। IAS सक्सेज स्टोरी में हम आपको टीना के दलित समाज से अफसर बनने तक की कहानी सुनाएंगे।
 

टीना डाबी ने अपनी योग्यता और क्षमता का परिचय देते हुए कोरोनावायरस को पूरे राजस्थान में फैलने से रोक दिया। टीना डाबी ने 24 घंटे ड्यूटी पर बने रहकर सुर्खियां बटोर ली हैं। भीलवाड़ा मॉडल के जरिए न सिर्फ उन्होंने लोगों की जानें बचाईं बल्कि लॉकडाउन में घर-घर राशन भी पहुंचाया था। सोशल मीडिया पर उनकी काफी चर्चा है।

टीना डाबी ने अपनी योग्यता और क्षमता का परिचय देते हुए कोरोनावायरस को पूरे राजस्थान में फैलने से रोक दिया। टीना डाबी ने 24 घंटे ड्यूटी पर बने रहकर सुर्खियां बटोर ली हैं। भीलवाड़ा मॉडल के जरिए न सिर्फ उन्होंने लोगों की जानें बचाईं बल्कि लॉकडाउन में घर-घर राशन भी पहुंचाया था। सोशल मीडिया पर उनकी काफी चर्चा है।

यूपीएससी टॉपर टीना डाबी हंसमुख हैं। चुलबुली हैं। धीर-गंभीर भी हैं। टीना बचपन से ही टॉपर रही हैं। पहले स्कूल-कॉलेज और फिर यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा में भी उन्होंने झंडे गाड़ दिए। महज 22 उम्र की टीना ने पॉलिटिकल साइंस पर फोकस किया और जोरदार कामयाबी हासिल की। वह मां को अपना आदर्श मानती हैं और अपनी कामयाबी का पूरा श्रेय भी मां को ही देती हैं।

यूपीएससी टॉपर टीना डाबी हंसमुख हैं। चुलबुली हैं। धीर-गंभीर भी हैं। टीना बचपन से ही टॉपर रही हैं। पहले स्कूल-कॉलेज और फिर यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा में भी उन्होंने झंडे गाड़ दिए। महज 22 उम्र की टीना ने पॉलिटिकल साइंस पर फोकस किया और जोरदार कामयाबी हासिल की। वह मां को अपना आदर्श मानती हैं और अपनी कामयाबी का पूरा श्रेय भी मां को ही देती हैं।

टीना शुरू से ही पढ़ाकू बच्ची रही हैं। उन्होंने बारहवीं के बाद से ही सोच लिया था वो अफसर बनेंगी। इसलिए 9 से 10 घंटे पढ़ने की आदत भी डाल ली। टीना बताती हैं कि मुझे भी लगातार पढ़ते हुए कई बार बोरियत होने लगती थी। अपने दोस्तों से नहीं मिल पाती थी। मेरे घरवालों ने ऐसे समय मेरा ध्यान पढ़ाई से हटाकर और चीजों में लगाया। इसके लिए मैंने कोचिंग ली थी। दोस्तों के साथ मिलकर भी मैंने तैयारी की थी। मुझे अपने ऊपर भरोसा था कि इस परीक्षा को मैं पास कर लूंगी, मगर टॉप करूंगी, यह नहीं पता था।

टीना शुरू से ही पढ़ाकू बच्ची रही हैं। उन्होंने बारहवीं के बाद से ही सोच लिया था वो अफसर बनेंगी। इसलिए 9 से 10 घंटे पढ़ने की आदत भी डाल ली। टीना बताती हैं कि मुझे भी लगातार पढ़ते हुए कई बार बोरियत होने लगती थी। अपने दोस्तों से नहीं मिल पाती थी। मेरे घरवालों ने ऐसे समय मेरा ध्यान पढ़ाई से हटाकर और चीजों में लगाया। इसके लिए मैंने कोचिंग ली थी। दोस्तों के साथ मिलकर भी मैंने तैयारी की थी। मुझे अपने ऊपर भरोसा था कि इस परीक्षा को मैं पास कर लूंगी, मगर टॉप करूंगी, यह नहीं पता था।

यूपीएससी टॉप करने के बाद टीना ने कई मीडिया चैनल्स को इंटरव्यू दिए। इसमें उन्होंने बताया था, जब से मैंने होश संभाला, तभी से मैं यूपीएससी की परीक्षा देना चाहती थी। शायद यही वजह थी कि मैं उसी लाइन पर चलती रही। डीयू के लेडी श्रीराम कॉलेज में मैंने पॉलिटिकल साइंस ली और उसमें टॉप किया। इससे मेरा आत्मविश्वास और बढ़ा। मुझे पढऩे का शौक रहा, अपनी पढ़ाई के अलावा मैं कई दूसरे विषयों की किताबें भी पढ़ती रहती रही हूं।

यूपीएससी टॉप करने के बाद टीना ने कई मीडिया चैनल्स को इंटरव्यू दिए। इसमें उन्होंने बताया था, जब से मैंने होश संभाला, तभी से मैं यूपीएससी की परीक्षा देना चाहती थी। शायद यही वजह थी कि मैं उसी लाइन पर चलती रही। डीयू के लेडी श्रीराम कॉलेज में मैंने पॉलिटिकल साइंस ली और उसमें टॉप किया। इससे मेरा आत्मविश्वास और बढ़ा। मुझे पढऩे का शौक रहा, अपनी पढ़ाई के अलावा मैं कई दूसरे विषयों की किताबें भी पढ़ती रहती रही हूं।

टीना के यूपीएससी टॉप करने पर उनकी मां रो पड़ी थीं। उनके आंसू काफी देर तक नहीं रुके और रोते हुए बेटी को गले से लगा लिया था। उनकी मां टेलीकॉम सेक्टर में इंजीनियर थी और बेटी को पढ़ाने के लिए उन्होंने वॉलेंट्री रिटायरमेंट (वीआरएस) ले ली और उसकी मदद की।

टीना के यूपीएससी टॉप करने पर उनकी मां रो पड़ी थीं। उनके आंसू काफी देर तक नहीं रुके और रोते हुए बेटी को गले से लगा लिया था। उनकी मां टेलीकॉम सेक्टर में इंजीनियर थी और बेटी को पढ़ाने के लिए उन्होंने वॉलेंट्री रिटायरमेंट (वीआरएस) ले ली और उसकी मदद की।

डीयू में पॉलिटिकल साइंस की टॉपर रहीं टीना ने 12वीं में भी पॉलिटिकल साइंस और इतिहास में 100 में से 100 नंबर मिले थे। भारतीय राजनीति में उनकी गहरी रुचि है। संसदीय प्रक्रिया और भारतीय संविधान की उनकी गहरी समझ है।

डीयू में पॉलिटिकल साइंस की टॉपर रहीं टीना ने 12वीं में भी पॉलिटिकल साइंस और इतिहास में 100 में से 100 नंबर मिले थे। भारतीय राजनीति में उनकी गहरी रुचि है। संसदीय प्रक्रिया और भारतीय संविधान की उनकी गहरी समझ है।

कॉलेज में टीना समय-समय पर आयोजित कार्यक्रमों में स्पीकर के तौर पर राजनीति से जुड़े अपने विचार रखती थीं। उनके कॉलेज के प्रोफेसर ने उन्हें कॉलेज का सच्चा खजाना और डायनेमिक स्पीकर बताया था। आईएएस बनने के बाद टीना ने हरियाणा कैडर ज्वॉइन किया था। फिलहाल टीना राजस्थान के भीलवाड़ा में एसडीएम के पद पर हैं।

कॉलेज में टीना समय-समय पर आयोजित कार्यक्रमों में स्पीकर के तौर पर राजनीति से जुड़े अपने विचार रखती थीं। उनके कॉलेज के प्रोफेसर ने उन्हें कॉलेज का सच्चा खजाना और डायनेमिक स्पीकर बताया था। आईएएस बनने के बाद टीना ने हरियाणा कैडर ज्वॉइन किया था। फिलहाल टीना राजस्थान के भीलवाड़ा में एसडीएम के पद पर हैं।

टीना की बेस्ट फ्रेंड हैं शिवानी। शिवानी लेडी हार्डिंग से एमबीबीएस लास्ट ईयर की पढ़ाई कर रही हैं। फ्रेंड ने यूपीएससी टॉप किया तो शिवानी की खुशी का ठिकाना नहीं है।

टीना की बेस्ट फ्रेंड हैं शिवानी। शिवानी लेडी हार्डिंग से एमबीबीएस लास्ट ईयर की पढ़ाई कर रही हैं। फ्रेंड ने यूपीएससी टॉप किया तो शिवानी की खुशी का ठिकाना नहीं है।

वह कहती हैं सेंट मैरी स्कूल में वह कक्षा 9 से ही टीना के साथ पढ़ रही थी। कक्षा 11 में जब टीना ने ह्यूमिनिटीस में पढ़ाई शुरू की तो ही उसने यह तय कर लिया था कि उसे आईएएस ही बनना है।

वह कहती हैं सेंट मैरी स्कूल में वह कक्षा 9 से ही टीना के साथ पढ़ रही थी। कक्षा 11 में जब टीना ने ह्यूमिनिटीस में पढ़ाई शुरू की तो ही उसने यह तय कर लिया था कि उसे आईएएस ही बनना है।

सिविल परीक्षा की टॉपर टीना डाबी के पिता जसवंत डाबी, जो कि खुद यूपीएससी पास कर चुके हैं अपनी बेटी के इस परिणाम को लेकर खुशी से फूले नहीं समा रहे। टीना की एक छोटी बहन रिया भी हैं। वो भी सिविल सर्विस में जाना चाहती हैं।

सिविल परीक्षा की टॉपर टीना डाबी के पिता जसवंत डाबी, जो कि खुद यूपीएससी पास कर चुके हैं अपनी बेटी के इस परिणाम को लेकर खुशी से फूले नहीं समा रहे। टीना की एक छोटी बहन रिया भी हैं। वो भी सिविल सर्विस में जाना चाहती हैं।

टीना अपनी शादी को लेकर भी चर्चा में रही हैं। उन्हें कश्मीरी बहू का खिताब हासिल है। उन्होंने कश्मीर के युवा यूपीएससी टॉपर अतहर आमिर खान से शादी की थी। मुस्लिम से शादी के कारण उन्हें आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा था, लोगों ने टीना को जान से मारने की धमकी और भद्दी गालियां तक दीं। वो सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल की गईं। दोनों की लव स्टोरी के भी खूब चर्चे रहे थे।

टीना अपनी शादी को लेकर भी चर्चा में रही हैं। उन्हें कश्मीरी बहू का खिताब हासिल है। उन्होंने कश्मीर के युवा यूपीएससी टॉपर अतहर आमिर खान से शादी की थी। मुस्लिम से शादी के कारण उन्हें आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा था, लोगों ने टीना को जान से मारने की धमकी और भद्दी गालियां तक दीं। वो सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल की गईं। दोनों की लव स्टोरी के भी खूब चर्चे रहे थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios