Asianet News Hindi

कौन हैं बंगाल के नए चीफ सेक्रेटरी एचके द्विवेदी, पहले IFS में हुआ था चयन फिर बने IAS

First Published Jun 1, 2021, 2:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बंगाल दौरे के बाद सियासत एक बार फिर गर्म है। राज्य को पूर्व चीफ सेक्रेटरी अलपन बंदोपाध्याय के रिटायरमेंट के बाद अब गृह सचिव एचके द्विवेदी(हरिकृष्ण द्विवेदी) को नया चीफ सेक्रेटरी बनाया गया है। पूर्व चीफ सेक्रेटरी अलपन बंदोपाध्याय से एक साल जूनियर हैं। एचके द्विवेदी (harikrishna dwivedi) मूलत उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के शाहबाद तहसील के कुंवर वसीठ गांव के रहने वाले हैं। आइए जानते हैं कौन हैं हरिकृष्ण द्विवेदी है। 

कौन हैं एचके द्विवेदी?
एचके द्विवेदी ने बंगाल के नए चीफ सेक्रटरी का चार्ज भी संभाल लिया है। द्विवेदी 1988 बैच के IAS अधिकारी हैं। हरिकृष्ण द्विवेदी ने लखनऊ यूनिवर्सिटी से MSC की। उनका सिलेक्शन फॉरेन सर्विसेज में हुआ था। बाद में उनका चयन आईएएस में हुआ। 
 

कौन हैं एचके द्विवेदी?
एचके द्विवेदी ने बंगाल के नए चीफ सेक्रटरी का चार्ज भी संभाल लिया है। द्विवेदी 1988 बैच के IAS अधिकारी हैं। हरिकृष्ण द्विवेदी ने लखनऊ यूनिवर्सिटी से MSC की। उनका सिलेक्शन फॉरेन सर्विसेज में हुआ था। बाद में उनका चयन आईएएस में हुआ। 
 

ममता के साथ कर चुके हैं काम
एचके द्विवेदी 1988 बैच के बंगाल कैडर के आईएएस अफसर हैं। अभी वो होम सेक्रेटरी थे। बंगाल में वित्त मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी भी रहे हैं।  वो बंगाल विद्युत कॉर्पोरेशन के मेंबर भी हैं।

ममता के साथ कर चुके हैं काम
एचके द्विवेदी 1988 बैच के बंगाल कैडर के आईएएस अफसर हैं। अभी वो होम सेक्रेटरी थे। बंगाल में वित्त मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी भी रहे हैं।  वो बंगाल विद्युत कॉर्पोरेशन के मेंबर भी हैं।

लखनऊ में रहती है फैमली
एचके द्विवेदी के माता-पिता और कई फैमली मेंबर लखनऊ में रहते हैं। बंगाल का मुख्य सचिव बनने के बाद से उनके गांव में खुशी की लहर है। इनके पिता असिस्टेंट कमिश्नर के पद से रिटायर हुए हैं। 
 

लखनऊ में रहती है फैमली
एचके द्विवेदी के माता-पिता और कई फैमली मेंबर लखनऊ में रहते हैं। बंगाल का मुख्य सचिव बनने के बाद से उनके गांव में खुशी की लहर है। इनके पिता असिस्टेंट कमिश्नर के पद से रिटायर हुए हैं। 
 

क्यों बदले चीफ सेक्रेटरी?
पूर्व चीफ सेक्रेटरी अलपन बंदोपाध्याय 31 मई को रिटायर होने वाले थे लेकिन तीन महीने के लिए उनका एक्टेंशन बढ़ा दिया गया था। हाल में ही उनका ट्रांसफर दिल्ली कर दिया गया था। जिसके बाद ममता सरकार और केन्द्र के बीच ठकराव हो गया था। 

क्यों बदले चीफ सेक्रेटरी?
पूर्व चीफ सेक्रेटरी अलपन बंदोपाध्याय 31 मई को रिटायर होने वाले थे लेकिन तीन महीने के लिए उनका एक्टेंशन बढ़ा दिया गया था। हाल में ही उनका ट्रांसफर दिल्ली कर दिया गया था। जिसके बाद ममता सरकार और केन्द्र के बीच ठकराव हो गया था। 

अलपन बंदोपाध्याय को सलाहकार
ममता बनर्जी ने मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को रिटायरमेंट के बाद अपना सलाहकार नियुक्ति किया है। चक्रवाती तूफान ‘यास’ पर प्रधानमंत्री की समीक्षा बैठक में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के शामिल न होने और इसके कुछ देर बाद मुख्य सचिव के तबादले को लेकर कई तरह की बयानबाजी की जा रही है। 

अलपन बंदोपाध्याय को सलाहकार
ममता बनर्जी ने मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को रिटायरमेंट के बाद अपना सलाहकार नियुक्ति किया है। चक्रवाती तूफान ‘यास’ पर प्रधानमंत्री की समीक्षा बैठक में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के शामिल न होने और इसके कुछ देर बाद मुख्य सचिव के तबादले को लेकर कई तरह की बयानबाजी की जा रही है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios