Asianet News Hindi

मामूली हवलदार बना IAS अफसर...पढ़े आखिर ड्यूटी से बिना छुट्टी लिए कैसे क्रैक किया UPSC

First Published Jun 3, 2020, 4:32 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ. आपने यूपीएससी पास करने वाले बहुत से लोगों की सफलता की कहानी सुनी होगी। बहुत से स्टूडेंट्स गरीबी और सुविधाओं के अभाव में भी कड़ी मेहनत से पढ़ाई करते हैं। पर कुछ यूपीएससी कैंडिडेट्स (UPSC Candidates) भी होते हैं  जो नौकरी के साथ अफसर बनने की तैयारी करते हैं। हालांकि आज के समय में बेरोजगारी का ये आलम है कि किसी को कैसी भी सरकारी नौकरी मिल जाए तो बड़ी बात है। पर एक थाने में हवलदार की नौकरी कर रहे शख्स ने अफसर बनने की ठानी। दिल में कुछ बड़ा करने के इरादे से उसने ड्यूटी से छुट्टी लिए बिना, किसी को कुछ बताए बगैर मात्र दो घंटा पढ़ाई कर देश के बड़े अधिकारी बनने का एग्जाम क्लियर कर लिया। 

 

आईएएस सक्सेज स्टोरी (IAS Success Story) में आज हम आपको साल 2018 में यूपीएससी क्लियर करने वाले कॉन्स्टेबल के संघर्ष की कहानी सुना रहे हैं- 

सिविल सर्विस की तैयारी के लिए कई युवा अपनी नौकरी छोड़ देते हैं, जिससे वो इस परीक्षा को पास कर सकें। युवाओं के मुताबिक इस परीक्षा के लिए घंटों पढ़ाई करनी होती है लेकिन विशाल सिंह ने इस बात को झूठा साबित कर दिया। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के सीओ कैंट की सुरक्षा में तैनात कॉन्स्टेबल विशाल सिंह ने सिविल सर्विस की ओर से आयोजित सेंट्रल आर्म्ड फोर्स (असिस्टेंट कमांडेंट) की परीक्षा पास की।

सिविल सर्विस की तैयारी के लिए कई युवा अपनी नौकरी छोड़ देते हैं, जिससे वो इस परीक्षा को पास कर सकें। युवाओं के मुताबिक इस परीक्षा के लिए घंटों पढ़ाई करनी होती है लेकिन विशाल सिंह ने इस बात को झूठा साबित कर दिया। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के सीओ कैंट की सुरक्षा में तैनात कॉन्स्टेबल विशाल सिंह ने सिविल सर्विस की ओर से आयोजित सेंट्रल आर्म्ड फोर्स (असिस्टेंट कमांडेंट) की परीक्षा पास की।

गाजीपुर के रहने वाले विशाल सिंह उत्तर प्रदेश पुलिस में कॉन्स्टेबल की नौकरी करते थे। उन्होंने अपनी इस सफलता से न सिर्फ गाजीपुर का बल्कि उत्तर प्रदेश पुलिस का भी मान बढ़ाया है। विशाल आईपीएस बनना चाहते हैं, ऐसे में वो इसके लिए भी तैयारी करेंगे, ताकी वो परीक्षा को पास कर सकें।

गाजीपुर के रहने वाले विशाल सिंह उत्तर प्रदेश पुलिस में कॉन्स्टेबल की नौकरी करते थे। उन्होंने अपनी इस सफलता से न सिर्फ गाजीपुर का बल्कि उत्तर प्रदेश पुलिस का भी मान बढ़ाया है। विशाल आईपीएस बनना चाहते हैं, ऐसे में वो इसके लिए भी तैयारी करेंगे, ताकी वो परीक्षा को पास कर सकें।

विशाल यूपीएससी की तैयारी के लिए ड्यूटी से कभी छुट्टी नहीं ली। वो ड्यूटी खत्म करने के बाद घर पहुंचकर परीक्षा की तैयारी में लग जाते थे। विशाल के अनुसार वो रोजाना दो घंटे पढ़ाई करते थे। उनका मानना है कि अगर आप रोजाना पढ़ाई करते हैं कि तो सफलता जरूर मिलती है। उनकी मेहनत रंग लाई और साल 2018 में विशाल सिंह ने यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल की।

 

(Demo Pic)

विशाल यूपीएससी की तैयारी के लिए ड्यूटी से कभी छुट्टी नहीं ली। वो ड्यूटी खत्म करने के बाद घर पहुंचकर परीक्षा की तैयारी में लग जाते थे। विशाल के अनुसार वो रोजाना दो घंटे पढ़ाई करते थे। उनका मानना है कि अगर आप रोजाना पढ़ाई करते हैं कि तो सफलता जरूर मिलती है। उनकी मेहनत रंग लाई और साल 2018 में विशाल सिंह ने यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल की।

 

(Demo Pic)

विशाल खबरों से खुद को अपडेट रखते थे। इसके लिए वो रोजाना न्यूजपेपर पढ़ते हैं, यही नहीं वो मानते हैं कि देश-दुनिया की खबरों के लिए अखबार रोजाना पढ़ना चाहिए। असिस्टेंट कमांडेंड परीक्षा को पास करने वाले विशाल पहले सेना में जाना चाहते थे लेकिन एनडीए की परीक्षा में फेल होने की वजह से वो नहीं जा पाए। विशाल देश के आंतरिक सुरक्षा में खास रुचि रखते हैं ऐसे में वो देश के लिए कुछ नया करना चाहते हैं।

 

(Demo Pic)

विशाल खबरों से खुद को अपडेट रखते थे। इसके लिए वो रोजाना न्यूजपेपर पढ़ते हैं, यही नहीं वो मानते हैं कि देश-दुनिया की खबरों के लिए अखबार रोजाना पढ़ना चाहिए। असिस्टेंट कमांडेंड परीक्षा को पास करने वाले विशाल पहले सेना में जाना चाहते थे लेकिन एनडीए की परीक्षा में फेल होने की वजह से वो नहीं जा पाए। विशाल देश के आंतरिक सुरक्षा में खास रुचि रखते हैं ऐसे में वो देश के लिए कुछ नया करना चाहते हैं।

 

(Demo Pic)

विशाल के मुताबिक कोई परीक्षा इतनी कठिन नहीं होती है, जरूरत है अपने विचार को पॉजिटिव बनाए रखने की। उनके हिसाब से देश के सामने खई चुनौतियां हैं, ऐसे में वो इसकी सुरक्षा के लिए अपना योगदान देना चाहते हैं। (फाइल फोटो)

विशाल के मुताबिक कोई परीक्षा इतनी कठिन नहीं होती है, जरूरत है अपने विचार को पॉजिटिव बनाए रखने की। उनके हिसाब से देश के सामने खई चुनौतियां हैं, ऐसे में वो इसकी सुरक्षा के लिए अपना योगदान देना चाहते हैं। (फाइल फोटो)

यही नहीं विशाल के अनुसार किसी भी चीज को पाने के लिए कोशिशे करते रहना चाहिए। इससे सफलता जरूर मिलेगी। इसके साथ ही वो अपने गांव के युवाओं को प्रोत्साहित करते हैं ताकी वो भी इसके लिए तैयारी करें और जिससे इस परीक्षा को पास करें और देश की सेवा में अपना योगदान दें।

 

(Demo Pic)

यही नहीं विशाल के अनुसार किसी भी चीज को पाने के लिए कोशिशे करते रहना चाहिए। इससे सफलता जरूर मिलेगी। इसके साथ ही वो अपने गांव के युवाओं को प्रोत्साहित करते हैं ताकी वो भी इसके लिए तैयारी करें और जिससे इस परीक्षा को पास करें और देश की सेवा में अपना योगदान दें।

 

(Demo Pic)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios