Asianet News Hindi

जब 53 साल के एक्टर का वो रूप देख कांप गई सभी थी रूह, इस हरकत की वजह से भगा दिया था डायरेक्टर ने

First Published Nov 10, 2020, 11:04 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. फिल्मों में अपने अलग ही किरदारों के लिए पहचाने जाने वाले आशुतोष राणा (ashutosh rana) 53  साल के हो गए हैं। उनका जन्म 10 नवंबर, 1967 को नरसिंहपुर (मध्यप्रदेश) में हुआ था। आशुतोष ने करियर की शुरुआत 1995 में आए टीवी शो 'स्वाभिमान' में त्यागी के रोल से की थी। हालांकि, उन्हें पहचान 1998 में रिलीज हुई फिल्म दुश्मन में उनके द्वारा निभाए गए गोकुल पंडित के किरदार से मिली। इसके बाद तो आशुतोष ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। फिल्म संघर्ष में लज्जा शंकर पांडे का किरदार निभाकर वो हिंदी सिनेमा के ऐसे विलेन बने जिसे आज भी देखकर लोगों की रूह कांप जाती है। उन्होंने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया है। इतना ही नहीं उन्होंने बॉलीवुड के साथ-साथ साउथ की कई फिल्मों में भी काम किया है।

आशुतोष बचपन में रामलीला में रावण का रोल निभाते थे। हालांकि, वह एक्टर नहीं वकील बनना चाहते थे। उनकी एक्टिंग देखने के बाद उनके गुरुजी जिन्हें वह दादाजी कहते थे, एक्टर बनने की सलाह दी थी।  

आशुतोष बचपन में रामलीला में रावण का रोल निभाते थे। हालांकि, वह एक्टर नहीं वकील बनना चाहते थे। उनकी एक्टिंग देखने के बाद उनके गुरुजी जिन्हें वह दादाजी कहते थे, एक्टर बनने की सलाह दी थी।  

दादाजी ने उन्हें गांव से निकलने से पहले सलाह दी थी कि एस अक्षर से शुरू होने वाले सभी प्रोजेक्ट्स को जरूर साइन करें। उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से एक्टिंग का कोर्स किया था। पासआउट होने के बाद उन्हें एनएसडी में ही अच्छी सैलेरी की नौकरी ऑफर हुई थी। हालांकि, उन्होंने ये छोड़कर फिल्म में एक्टिंग का रास्ता चुना।

दादाजी ने उन्हें गांव से निकलने से पहले सलाह दी थी कि एस अक्षर से शुरू होने वाले सभी प्रोजेक्ट्स को जरूर साइन करें। उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से एक्टिंग का कोर्स किया था। पासआउट होने के बाद उन्हें एनएसडी में ही अच्छी सैलेरी की नौकरी ऑफर हुई थी। हालांकि, उन्होंने ये छोड़कर फिल्म में एक्टिंग का रास्ता चुना।

आशुतोष के सीरियल स्वाभिमान को महेश भट्ट ने डायरेक्ट किया था। इस सीरियल में रोल के लिए वह महेश भट्ट के ऑफिस के चक्कर लगाते थे। महेश भट्ट से पहली मुलाकात में उन्होंने उनके पैर छू लिए थे। उनको ये बात पसंद नहीं आई और सिक्युरिटी गार्ड्स बुलाकर उन्हें सेट से बाहर करवा दिया।

आशुतोष के सीरियल स्वाभिमान को महेश भट्ट ने डायरेक्ट किया था। इस सीरियल में रोल के लिए वह महेश भट्ट के ऑफिस के चक्कर लगाते थे। महेश भट्ट से पहली मुलाकात में उन्होंने उनके पैर छू लिए थे। उनको ये बात पसंद नहीं आई और सिक्युरिटी गार्ड्स बुलाकर उन्हें सेट से बाहर करवा दिया।

महेश भट्ट को पैर छूने वाले लोगों से नफरत थी। भट्ट ने एक दिन पूछ लिया कि ऐसा वह क्यों करते हैं। उन्होंने जवाब दिया कि ये उनके संस्कार है और वह इन्हें छोड़ नहीं सकते हैं। आशुतोष की ये बात सुन महेश भट्ट ने उन्हें अपने सीरियल में विलेन का रोल दे दिया।

महेश भट्ट को पैर छूने वाले लोगों से नफरत थी। भट्ट ने एक दिन पूछ लिया कि ऐसा वह क्यों करते हैं। उन्होंने जवाब दिया कि ये उनके संस्कार है और वह इन्हें छोड़ नहीं सकते हैं। आशुतोष की ये बात सुन महेश भट्ट ने उन्हें अपने सीरियल में विलेन का रोल दे दिया।

जब आशुतोष हैदराबाद में अक्षय कुमार के साथ फिल्म जानवर की शूटिंग कर रहे थे। एक दिन उन्हें महेश भट्ट ने फोन कर कहा- मैं एक फिल्म बना रहा हूं संघर्ष। उसमें एक किरदार है विलेन का। उससे बड़ा आज तक विलेन नहीं हुआ। लेकिन ये रोल मैं तुम्हें नहीं दूंगा। मैं किसी दूसरे एक्टर को दूंगा।

जब आशुतोष हैदराबाद में अक्षय कुमार के साथ फिल्म जानवर की शूटिंग कर रहे थे। एक दिन उन्हें महेश भट्ट ने फोन कर कहा- मैं एक फिल्म बना रहा हूं संघर्ष। उसमें एक किरदार है विलेन का। उससे बड़ा आज तक विलेन नहीं हुआ। लेकिन ये रोल मैं तुम्हें नहीं दूंगा। मैं किसी दूसरे एक्टर को दूंगा।

महेश भट्ट की बात सुनकर आशुतोष ने सुबह पहली फ्लाइट पकड़ी और चेम्बूर पहुंच गए, जहां महेश भट्ट एक फिल्म की शूटिंग कर रहे थे। राणा ने महेश भट्ट से कहा कि या तो आप मुझसे ये कहिए कि मैं बुरा एक्टर हूं या फिर आप जिस भी एक्टर को ये रोल देना चाहते हैं उसका और मेरा ऑडिशन ले लीजिए। अगर मैं ऑडिशन में फेल हो जाता हूं तब आप मुझसे कहिए कि मैं तुम्हें इस रोल के लिए खारिज करता हूं। राणा की ये बात सुनकर महेश भट्ट हंसने लगे।

महेश भट्ट की बात सुनकर आशुतोष ने सुबह पहली फ्लाइट पकड़ी और चेम्बूर पहुंच गए, जहां महेश भट्ट एक फिल्म की शूटिंग कर रहे थे। राणा ने महेश भट्ट से कहा कि या तो आप मुझसे ये कहिए कि मैं बुरा एक्टर हूं या फिर आप जिस भी एक्टर को ये रोल देना चाहते हैं उसका और मेरा ऑडिशन ले लीजिए। अगर मैं ऑडिशन में फेल हो जाता हूं तब आप मुझसे कहिए कि मैं तुम्हें इस रोल के लिए खारिज करता हूं। राणा की ये बात सुनकर महेश भट्ट हंसने लगे।

महेश भट्ट ने तब आशुतोष राणा से कहा कि दरअसल मैं तुमसे बहुत दिनों से मिला नहीं था और मुझे मिलने की इच्छा हो रही थी इसलिए मैंने तुमसे फोन पर वो बात कही। भट्ट के दिमाग में पहले से इस रोल के राणा फिट हो चुके थे। वो जानते थे कि उनसे बेहतर इस किरदार को कोई और नहीं निभा सकता।

महेश भट्ट ने तब आशुतोष राणा से कहा कि दरअसल मैं तुमसे बहुत दिनों से मिला नहीं था और मुझे मिलने की इच्छा हो रही थी इसलिए मैंने तुमसे फोन पर वो बात कही। भट्ट के दिमाग में पहले से इस रोल के राणा फिट हो चुके थे। वो जानते थे कि उनसे बेहतर इस किरदार को कोई और नहीं निभा सकता।

वर्कफ्रंट की बात करें तो आशुतोष ने 1996 की फिल्म संशोधन से अपने करियर की शुरुआत की थी। वे हासिल, दुश्मन, जख्म, संघर्ष, कुसूर, गुनाह, कर्ज, एलओसी कारगिल, हम्पटी शर्मा की दुल्हनिया, डर्टी पॉलिटिक्स, ब्रदर्स और मुल्क जैसी फिल्मों में नजर आए। उनकी अपकमिंग फिल्म शमशेरा, हंगामा 2, पगलैट और पृथ्वीराज है।

वर्कफ्रंट की बात करें तो आशुतोष ने 1996 की फिल्म संशोधन से अपने करियर की शुरुआत की थी। वे हासिल, दुश्मन, जख्म, संघर्ष, कुसूर, गुनाह, कर्ज, एलओसी कारगिल, हम्पटी शर्मा की दुल्हनिया, डर्टी पॉलिटिक्स, ब्रदर्स और मुल्क जैसी फिल्मों में नजर आए। उनकी अपकमिंग फिल्म शमशेरा, हंगामा 2, पगलैट और पृथ्वीराज है।

आशुतोष ने तलाकशुदा एक्ट्रेस रेणुका शहाणे से शादी की। हालांकि, शादी के लिए रेणुका को मनाने में उन्हें काफी वक्त लगा था। दोनों के दो बेटे हैं।

आशुतोष ने तलाकशुदा एक्ट्रेस रेणुका शहाणे से शादी की। हालांकि, शादी के लिए रेणुका को मनाने में उन्हें काफी वक्त लगा था। दोनों के दो बेटे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios