Asianet News Hindi

Behind The Scenes: बाहुबली ऐसे करते थे टाइम पास तो यहां बिजी रहती थी देवसेना, सेट पर ऐसा होता था माहौल

First Published Apr 28, 2021, 10:15 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. डायरेक्टर एसएस राजामौली (SS Rajamouli) की फिल्म बाहुबली 2 द कन्क्लूजन (Baahubali 2 The Conclusion) की रिलीज को 4 साल पूरे हो गए हैं। यह फिल्म 28 अप्रैल, 2017 को रिलीज हुई। फिल्म ने वर्ल्डवाइड करीब 1800 करोड़ का बिजनेस किया। फिल्म के फर्स्ट पार्ट में माहिष्मती किंगडम का सेट बनाने में 28 करोड़ रुपए का खर्च आया था। सीक्वल में उसी सेट पर कुछ नए एलीमेंट्स को जोड़कर फिल्म के कई सीन फिल्माए गए। इसके अलावा एक नए किंगडम का सेट भी तैयार किया गया था, जिसके प्रोडक्शन डिजाइन का खर्च 35 करोड़ रुपए आया। इस सेट को 500 लोगों ने करीब 50 दिन में तैयार किया था। बता दें कि इस फिल्म के पहले इसका दूसरा पार्ट रिलीज हुआ था। फिल्म में प्रभास (Prabhas), अनुष्का शेट्टी (Anushka Shetty), राणा दग्गुबती (Rana Daggubati), तमन्ना (Tamannaah), राम्या कृष्णन (Ramya Krishna), सत्यराज (Sathyaraj) ने लीड रोल प्ले किया था। 

सेट पर जहां बाहुबली प्रभास लैपटॉप पर काम करते नजर आते था तो देवसेना बनी अनुष्का शेट्टी मोबाइल में गेम खेलने में बिजी रहती थी। 2015 में आई फिल्म बाहुबली-द बिग्निंग के बाद बाहुबली-द कॉन्क्लूजन को 28 अप्रैल 2017 में रिलीज किया गया था।

सेट पर जहां बाहुबली प्रभास लैपटॉप पर काम करते नजर आते था तो देवसेना बनी अनुष्का शेट्टी मोबाइल में गेम खेलने में बिजी रहती थी। 2015 में आई फिल्म बाहुबली-द बिग्निंग के बाद बाहुबली-द कॉन्क्लूजन को 28 अप्रैल 2017 में रिलीज किया गया था।

पहले भाग के आखिर में एक सवाल छोड़ा गया था कि आखिर कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा। इस सवाल का जवाब देखने के लिए लोग इतने उत्सुक थे कि बुकिंग शुरू होने के बाद लगातार 1 महीने के शो हाउसफुल गए थे।

पहले भाग के आखिर में एक सवाल छोड़ा गया था कि आखिर कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा। इस सवाल का जवाब देखने के लिए लोग इतने उत्सुक थे कि बुकिंग शुरू होने के बाद लगातार 1 महीने के शो हाउसफुल गए थे।

ये पहली हिंदी डब फिल्म है, जिसने पहले दिन ही 52 करोड़ रुपए का कलेक्शन कर महज तीन दिनों में 128 करोड़ की कमाई की थी। ये रिकॉर्ड अब भी बरकरार है।

ये पहली हिंदी डब फिल्म है, जिसने पहले दिन ही 52 करोड़ रुपए का कलेक्शन कर महज तीन दिनों में 128 करोड़ की कमाई की थी। ये रिकॉर्ड अब भी बरकरार है।

फिल्म के पहले पार्ट में माहिष्मती के एक्सटीरियर को एरियल व्यू से दिखाया गया था। लेकिन सेकंड पार्ट में ऑडियंस ने इसके इंटीरियर और एम्पायर के विशाल व्यू को देखा। फिल्म के क्रूशियल सीक्वेंस को हैदराबाद स्थित रामोजी फिल्मसिटी में फिल्माया गया।

फिल्म के पहले पार्ट में माहिष्मती के एक्सटीरियर को एरियल व्यू से दिखाया गया था। लेकिन सेकंड पार्ट में ऑडियंस ने इसके इंटीरियर और एम्पायर के विशाल व्यू को देखा। फिल्म के क्रूशियल सीक्वेंस को हैदराबाद स्थित रामोजी फिल्मसिटी में फिल्माया गया।

फिल्म के डायरेक्टर राजामौली पहले राणा दग्गुबती और प्रभास द्वारा निभाए गए रोल्स ऋतिक रोशन और जॉन अब्राहम से कराना चाहते थे। मगर दोनों ही एक्टर्स ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई।

फिल्म के डायरेक्टर राजामौली पहले राणा दग्गुबती और प्रभास द्वारा निभाए गए रोल्स ऋतिक रोशन और जॉन अब्राहम से कराना चाहते थे। मगर दोनों ही एक्टर्स ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई।

प्रभास ने इस फिल्म के लिए दो साल कड़ी मेहनत की। यहां तक की इस दौरान उन्होंने अपनी शादी तक टाल दी थी।

प्रभास ने इस फिल्म के लिए दो साल कड़ी मेहनत की। यहां तक की इस दौरान उन्होंने अपनी शादी तक टाल दी थी।

फिल्म के कुछ सीन्स फिल्माने के लिए रामोजी फिल्म सिटी में 7 महीने में मक्के के खेत बनाए गए थे। हालांकि, बारिश से ये खराब हो गए और फिर बाकी सीन्स को बुल्गारिया के मक्के के खेतों में फिल्माया गया।

फिल्म के कुछ सीन्स फिल्माने के लिए रामोजी फिल्म सिटी में 7 महीने में मक्के के खेत बनाए गए थे। हालांकि, बारिश से ये खराब हो गए और फिर बाकी सीन्स को बुल्गारिया के मक्के के खेतों में फिल्माया गया।

फिल्म के लिए प्रभास और राणा हर दिन 2 हजार से 4 हजार किलो कैलोरी लेते थे। बॉडी बिल्डिंग के लिए फिल्ममेकर्स ने 1.5 करोड़ के एक्सरसाइज इक्विपमेंट्स भी दिए थे।

फिल्म के लिए प्रभास और राणा हर दिन 2 हजार से 4 हजार किलो कैलोरी लेते थे। बॉडी बिल्डिंग के लिए फिल्ममेकर्स ने 1.5 करोड़ के एक्सरसाइज इक्विपमेंट्स भी दिए थे।

फिल्म में दमदार दिखने के लिए प्रभास और राणा ब्रेकफास्ट में 40 हाफ बॉयल्ड एग के साथ ही व्हाइट प्रोटीन पाउडर लेते थे।

 

फिल्म में दमदार दिखने के लिए प्रभास और राणा ब्रेकफास्ट में 40 हाफ बॉयल्ड एग के साथ ही व्हाइट प्रोटीन पाउडर लेते थे।

 

फिल्म में 20 मिनट के वॉर सीन फिल्माने में चार महीने से भी ज्यादा का समय लगा। फिल्म की टेक्नीशियन, विजुअल ग्राफिक्स और आर्ट टीम में लगभग 800 मेंबर्स थे।

फिल्म में 20 मिनट के वॉर सीन फिल्माने में चार महीने से भी ज्यादा का समय लगा। फिल्म की टेक्नीशियन, विजुअल ग्राफिक्स और आर्ट टीम में लगभग 800 मेंबर्स थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios