काजोल के हीरो को बर्थडे पर मिला कभी न भूलने वाला दर्द, पिता ने बेरहमी से किया था मां-बहन का कत्ल

First Published 20, Oct 2019, 8:05 PM IST

मुंबई। 90's में आई फिल्म 'बेखुदी' में काजोल के हीरो रहे कमल सदाना 49 साल के हो गए हैं। कमल की पर्सनल लाइफ बेहद दुखभरी रही है। दरअसल,  21 अक्टूबर 1990 को कमल के 20वें बर्थडे पर उनके पिता बृज सदाना ने उनकी मां सईदा खान और बहन नम्रता की बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी थी। कमल के मुताबिक, पिता ने उन पर भी गोली चलाई थी, लेकिन वे किसी तरह बच गए थे। बीवी और बेटी की हत्या करने से पहले कमल के पिता बृज सदाना का पत्नी के साथ झगड़ा हुआ था। 

कमल के मां-बाप के बीच अक्सर होते थे झगड़े :  कमल की मां सईदा और पिता बृज सदाना के बीच अक्सर झगड़े होते थे। कमल के बर्थडे पर भी कुछ ऐसा ही हुआ। शराब के नशे में गुस्से से भरे बृज सदाना ने अपनी .32 बोर की लाइसेंसी बंदूक से पहले अपनी वाइफ और फिर बेटी को गोली मारी। दोनों की स्पॉट पर ही मौत हो गई। इसके बाद बृज सदाना अपने बेडरूम में गए और खुद को भी शूट कर लिया था। ये सारा वाकया कमल की आंखों के सामने हुआ था, जिससे उनके दिमाग पर इसका गहरा असर हुआ था। बाद में कमल की काउंसिलिंग करानी पड़ी थी। कमल आज भी उस भयानक इंसीडेंट को याद करते हुए कहते हैं कि मुझे नहीं पता कि आखिर डैड ने ऐसा क्यों किया।

कमल के मां-बाप के बीच अक्सर होते थे झगड़े : कमल की मां सईदा और पिता बृज सदाना के बीच अक्सर झगड़े होते थे। कमल के बर्थडे पर भी कुछ ऐसा ही हुआ। शराब के नशे में गुस्से से भरे बृज सदाना ने अपनी .32 बोर की लाइसेंसी बंदूक से पहले अपनी वाइफ और फिर बेटी को गोली मारी। दोनों की स्पॉट पर ही मौत हो गई। इसके बाद बृज सदाना अपने बेडरूम में गए और खुद को भी शूट कर लिया था। ये सारा वाकया कमल की आंखों के सामने हुआ था, जिससे उनके दिमाग पर इसका गहरा असर हुआ था। बाद में कमल की काउंसिलिंग करानी पड़ी थी। कमल आज भी उस भयानक इंसीडेंट को याद करते हुए कहते हैं कि मुझे नहीं पता कि आखिर डैड ने ऐसा क्यों किया।

जब काजोल के थप्पड़ से लाल हो गया था चेहरा :  एक इंटरव्यू में कमल ने बताया था, मुझे याद है फिल्म के एक सीन में जब काजोल ने मुझे मारा था। दरअसल, सीन यह था कि मैंने काजोल के भाई को मारा था और इस बात से नाराज काजोल को मुझे मारना होता है। अनफॉर्च्युनेटली, डायरेक्टर ने इस सीन के लिए 10 रीटेक्स लिए और काजोल के थप्पड़ खा-खाकर मेरा चेहरा तरबूज की तरह लाल हो गया था।

जब काजोल के थप्पड़ से लाल हो गया था चेहरा : एक इंटरव्यू में कमल ने बताया था, मुझे याद है फिल्म के एक सीन में जब काजोल ने मुझे मारा था। दरअसल, सीन यह था कि मैंने काजोल के भाई को मारा था और इस बात से नाराज काजोल को मुझे मारना होता है। अनफॉर्च्युनेटली, डायरेक्टर ने इस सीन के लिए 10 रीटेक्स लिए और काजोल के थप्पड़ खा-खाकर मेरा चेहरा तरबूज की तरह लाल हो गया था।

कमल ने काजोल से कहा, मैं तुम्हारी मां के साथ रमी नहीं खेलूंगा... बेखुदी काजोल की फर्स्ट फिल्म थी, ऐसे में कनाडा में शूटिंग के दौरान उनकी मां तनुजा उनके साथ थीं। हालांकि वो कभी भी शूटिंग के दौरान इंटरफेयर नहीं करती थीं। कनाडा शूट के दौरान तनुजा जी का होना काफी मजेदार एक्सपीरियंस था। उन्होंने मुझे रमी (ताश का एक गेम) खेलना सिखाया। हम डॉलर में खेलते थे और इस खेल में मैं उनके साथ काफी पैसा गवां चुका था। इसके बाद मैंने काजोल से कहा- मैं तुम्हारी मम्मी के साथ अब कभी रमी नहीं खेलूंगा।

कमल ने काजोल से कहा, मैं तुम्हारी मां के साथ रमी नहीं खेलूंगा... बेखुदी काजोल की फर्स्ट फिल्म थी, ऐसे में कनाडा में शूटिंग के दौरान उनकी मां तनुजा उनके साथ थीं। हालांकि वो कभी भी शूटिंग के दौरान इंटरफेयर नहीं करती थीं। कनाडा शूट के दौरान तनुजा जी का होना काफी मजेदार एक्सपीरियंस था। उन्होंने मुझे रमी (ताश का एक गेम) खेलना सिखाया। हम डॉलर में खेलते थे और इस खेल में मैं उनके साथ काफी पैसा गवां चुका था। इसके बाद मैंने काजोल से कहा- मैं तुम्हारी मम्मी के साथ अब कभी रमी नहीं खेलूंगा।

मेकअप आर्टिस्ट लीसा जॉन से की शादी :  कमल सदाना ने मेकअप आर्टिस्ट लीसा जॉन से शादी की। उनके दो बच्चे बेटा 14 साल का बेटा अंगद और 12 साल की बेटी लीया हैं। कमल सदाना ने बतौर डायरेक्टर भी काम किया है। उन्होंने कर्कश और 2014 में आई फिल्म 'रोर : टाइगर्स ऑफ द सुंदरबन्स' का डायरेक्शन किया है।

मेकअप आर्टिस्ट लीसा जॉन से की शादी : कमल सदाना ने मेकअप आर्टिस्ट लीसा जॉन से शादी की। उनके दो बच्चे बेटा 14 साल का बेटा अंगद और 12 साल की बेटी लीया हैं। कमल सदाना ने बतौर डायरेक्टर भी काम किया है। उन्होंने कर्कश और 2014 में आई फिल्म 'रोर : टाइगर्स ऑफ द सुंदरबन्स' का डायरेक्शन किया है।

इन फिल्मों में काम कर चुके कमल :  कमल ने रंग (1993), बाली उमर को सलाम (1994), रॉक डांसर (1995), हम सब चोर हैं (1995), हम हैं प्रेमी (1996), अंगारा (1996), निर्णायक (1997), मोहब्बत और जंग (1998), कर्कश (2005) और विक्टोरिया नंबर 203 (2007) जैसी फिल्मों में काम किया है। हालांकि 'रंग' को छोड़ दें तो उनकी कोई भी फिल्म सफल नहीं रही।

इन फिल्मों में काम कर चुके कमल : कमल ने रंग (1993), बाली उमर को सलाम (1994), रॉक डांसर (1995), हम सब चोर हैं (1995), हम हैं प्रेमी (1996), अंगारा (1996), निर्णायक (1997), मोहब्बत और जंग (1998), कर्कश (2005) और विक्टोरिया नंबर 203 (2007) जैसी फिल्मों में काम किया है। हालांकि 'रंग' को छोड़ दें तो उनकी कोई भी फिल्म सफल नहीं रही।

टीवी सीरियल में भी आए नजर :  2006 में कमल सदाना टीवी सीरियल 'कसम से' में काम कर चुके हैं। इसके बाद उन्होंने 2007 में अपने पिता की 1972 की हिट फिल्म 'विक्टोरिया नंबर 203' का रिमेक बनाया।

टीवी सीरियल में भी आए नजर : 2006 में कमल सदाना टीवी सीरियल 'कसम से' में काम कर चुके हैं। इसके बाद उन्होंने 2007 में अपने पिता की 1972 की हिट फिल्म 'विक्टोरिया नंबर 203' का रिमेक बनाया।

loader