Asianet News Hindi

शिल्पा शेट्टी के बाद अब कंगना रनोट की बहन बनने वाली है दोबारा मां, रंगोली ने दी लोगों को एक सलाह

First Published Feb 22, 2020, 10:55 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. कंगना रनोट की बहन रंगोली चंदेल अपने बयानों के चलते विवादों में रहती हैं लेकिन इस बार रंगोली अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर चर्चा में हैं। दरअसल, रंगोली ने ट्वीट कर बताया कि वे जल्द ही एक बच्चा गोद लेने वाली हैं। रंगोली ने ट्वीट किया- 'मैंने और मेरे पति ने एक बच्चा गोद लेने का फैसला किया है। मैं कपल्स को बच्चा अडॉप्ट करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहती हूं बजाए सरोगेसी के। इसके जरिए उन बच्चों को घर दिलाएं जो पहले से इस दुनिया में हैं और उनका ख्वाब भी पूरा हो, जो पेरेंट बनना चाहते हैं।'

रंगोली ने एक और ट्वीट किया। उन्होंने इसमें लिखा- 'मेरी बहन कंगना ने मुझे ऐसा करने को प्रेरित किया है। अजय (रंगोली के पति) और मैंने सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली है। उम्मीद है कुछ ही महीनों में हमारी बेटी हमारे साथ होगी। कंगना ने उसे गंगा नाम दिया है। खुशकिस्मत हूं कि मैं एक बच्ची को घर दिलाने के काबिल हूं।' बता दें कि रंगोली पहले से ही एक बच्चे की मां हैं। उनके बेटे का नाम पृथ्वी है।

रंगोली ने एक और ट्वीट किया। उन्होंने इसमें लिखा- 'मेरी बहन कंगना ने मुझे ऐसा करने को प्रेरित किया है। अजय (रंगोली के पति) और मैंने सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली है। उम्मीद है कुछ ही महीनों में हमारी बेटी हमारे साथ होगी। कंगना ने उसे गंगा नाम दिया है। खुशकिस्मत हूं कि मैं एक बच्ची को घर दिलाने के काबिल हूं।' बता दें कि रंगोली पहले से ही एक बच्चे की मां हैं। उनके बेटे का नाम पृथ्वी है।

बात रंगोली की पर्सनल लाइफ की करें तो वह बहुत ही दर्दनाक रही है। सालों पहले रंगोली पर एक लीटर से ज्यादा तेजाब डाला गया था कि जिसकी वजह से उनका चेहरा और बांया कान बुरी तरह से सुलझ गए थे। उनकी ऐसी हालत हो गई थी कि उसे पहचान माना तक मुश्किल हो रहा था।

बात रंगोली की पर्सनल लाइफ की करें तो वह बहुत ही दर्दनाक रही है। सालों पहले रंगोली पर एक लीटर से ज्यादा तेजाब डाला गया था कि जिसकी वजह से उनका चेहरा और बांया कान बुरी तरह से सुलझ गए थे। उनकी ऐसी हालत हो गई थी कि उसे पहचान माना तक मुश्किल हो रहा था।

हाल ही में रंगोली ने सोशल मीडिया पर कुछ फोटोज शेयर कर अपनी दर्दभरी कहानी सुनाई थी। रंगोली ने बहन कंगना और मां के साथ वाली एक फोटो शेयर करते हुए लिखा था- ''छोटू और मॉम के साथ इस फोटो में आखिर मैं क्या ढूंढ रही हूं। क्या कोई इस तस्वीर के पीछे लगे कैलेंडर के साल को देख सकता है।'' इसके बाद कंगना ने अगले ट्वीट में लिखा- ''हमारी बचपन की तस्वीरों पर बेहद रोचक रिएक्शन आए। कई दोस्तों ने मुझसे कॉलेज की फोटो बारे में भी कमेंट करते हुए कहा- हम साइंस के स्टूडेंट थे हमारे पास इन सब चीजों के लिए वक्त नहीं था। लेकिन फिर भी एनुअल डे की एक फोटो मिली।''

हाल ही में रंगोली ने सोशल मीडिया पर कुछ फोटोज शेयर कर अपनी दर्दभरी कहानी सुनाई थी। रंगोली ने बहन कंगना और मां के साथ वाली एक फोटो शेयर करते हुए लिखा था- ''छोटू और मॉम के साथ इस फोटो में आखिर मैं क्या ढूंढ रही हूं। क्या कोई इस तस्वीर के पीछे लगे कैलेंडर के साल को देख सकता है।'' इसके बाद कंगना ने अगले ट्वीट में लिखा- ''हमारी बचपन की तस्वीरों पर बेहद रोचक रिएक्शन आए। कई दोस्तों ने मुझसे कॉलेज की फोटो बारे में भी कमेंट करते हुए कहा- हम साइंस के स्टूडेंट थे हमारे पास इन सब चीजों के लिए वक्त नहीं था। लेकिन फिर भी एनुअल डे की एक फोटो मिली।''

रंगोली ने अपने अगले ट्वीट में कहा था- ''इस फोटो के क्लिक होने के कुछ दिनों बाद ही मैंने जिस लड़के का प्रपोजल ठुकराया था, उसने मेरे चेहरे पर एक लीटर तेजाब फेंका था। इसके बाद मुझे 54 से ज्यादा सर्जरी करवानी पड़ीं। इतना ही नहीं मेरी छोटी बहन को इतना मारा गया कि वह मौत के मुंह तक पहुंच गई थी, आखिर क्यों?

रंगोली ने अपने अगले ट्वीट में कहा था- ''इस फोटो के क्लिक होने के कुछ दिनों बाद ही मैंने जिस लड़के का प्रपोजल ठुकराया था, उसने मेरे चेहरे पर एक लीटर तेजाब फेंका था। इसके बाद मुझे 54 से ज्यादा सर्जरी करवानी पड़ीं। इतना ही नहीं मेरी छोटी बहन को इतना मारा गया कि वह मौत के मुंह तक पहुंच गई थी, आखिर क्यों?

कंगना ने आगे एक और ट्वीट में कहा था- "क्या सिर्फ इसलिए कि हमारे माता-पिता ने सुंदर, होशियार और आत्मविश्वास से लबरेज बेटियों को पैदा किया था। ये निर्दयी दुनिया लड़कियों पर दया नहीं करती। वक्त है हर तरह की सामाजिक बुराई से लड़ने है, तभी हम अपने बच्चों को एक सुरक्षित माहौल दे पाएंगे।"

कंगना ने आगे एक और ट्वीट में कहा था- "क्या सिर्फ इसलिए कि हमारे माता-पिता ने सुंदर, होशियार और आत्मविश्वास से लबरेज बेटियों को पैदा किया था। ये निर्दयी दुनिया लड़कियों पर दया नहीं करती। वक्त है हर तरह की सामाजिक बुराई से लड़ने है, तभी हम अपने बच्चों को एक सुरक्षित माहौल दे पाएंगे।"

रंगोली ने अपने पति के बारे लिखा था- ''ईमानदारी से कहूं तो मैं नहीं जानती कि क्या बोलूं, लेकिन मैंने जीने की उम्मीद छोड़ दी थी। तब मेरे पति सिर्फ एक दोस्त थे। उन्होंने न सिर्फ मेरे जख्म धोए बल्कि लंबे वक्त तक ऑपरेशन थिएटर्स के बाहर मेरा इंतजार भी किया। मेरी लाइफ में सबसे बड़े मददगार मेरी बहन और पेरेंट्स हैं, मेरी जिंदगी आज जो कुछ भी है, इन्हीं की वजह से है।''

रंगोली ने अपने पति के बारे लिखा था- ''ईमानदारी से कहूं तो मैं नहीं जानती कि क्या बोलूं, लेकिन मैंने जीने की उम्मीद छोड़ दी थी। तब मेरे पति सिर्फ एक दोस्त थे। उन्होंने न सिर्फ मेरे जख्म धोए बल्कि लंबे वक्त तक ऑपरेशन थिएटर्स के बाहर मेरा इंतजार भी किया। मेरी लाइफ में सबसे बड़े मददगार मेरी बहन और पेरेंट्स हैं, मेरी जिंदगी आज जो कुछ भी है, इन्हीं की वजह से है।''

रंगोली ने लिखा था - ''मैंने अपनी एक आंख गंवा दी। इसका रेटिना ट्रांसप्लांट हुआ। मेरे ब्रेस्ट को भी दोबारा बनाया गया, जो बुरी तरह डैमेज हो गया था। यहां तक कि मेरे बेटे पृथु को फीडिंग करवाते वक्त भी मुझे कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ा।''

रंगोली ने लिखा था - ''मैंने अपनी एक आंख गंवा दी। इसका रेटिना ट्रांसप्लांट हुआ। मेरे ब्रेस्ट को भी दोबारा बनाया गया, जो बुरी तरह डैमेज हो गया था। यहां तक कि मेरे बेटे पृथु को फीडिंग करवाते वक्त भी मुझे कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ा।''

रंगोली ने लिखा था- ''ऐसे अपराधियों के लिए मौत की सजा क्यों नहीं है? मैं यूनिवर्सिटी टॉपर थी, लेकिन मेरी जवानी के सबसे अच्छे साल ऑपरेशन थिएटर में बीते। इतना ही नहीं, मैं 90 फीसदी जल चुकी थी, लेकिन आज तक एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए कोई रिजर्वेशन नहीं है।''

रंगोली ने लिखा था- ''ऐसे अपराधियों के लिए मौत की सजा क्यों नहीं है? मैं यूनिवर्सिटी टॉपर थी, लेकिन मेरी जवानी के सबसे अच्छे साल ऑपरेशन थिएटर में बीते। इतना ही नहीं, मैं 90 फीसदी जल चुकी थी, लेकिन आज तक एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए कोई रिजर्वेशन नहीं है।''

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios