Asianet News Hindi

ये है करीना कपूर की बड़ी ननद, करती हैं ज्वैलरी का बिजनेस, करोड़ों की प्रापर्टी की है मालकिन

First Published Feb 26, 2020, 5:37 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. करीना कपूर अपनी अपकमिंग फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' की शूटिंग में बिजी है। फिल्म में करीना के साथ आमिर खान लीड रोल में है। बता दें कि करीना की फिल्म अंग्रेजी मीडियम इसी महीने रिलीज होगी। वैसे ये तो सभी जानते हैं कि करीना पटौदी खानदान की बहू है। उनकी ननद सोहा के बारे में भी लोगों को पता है। लेकिन सोहा से भी बड़ी करीना की एक और ननद है, जिसके बारे कम ही लोग जानते हैं। करीना की इस ननद का नाम सबा अली खान। सबा को लाइमलाइट में रहना पसंद नहीं है। वे अपने बिजनेस में बिजी रहती है। सबा ज्यादातर अपनी फैमिली पार्टीज ही में दिखाई देती है।

बता दें कि सबा अली खान लाइमलाइट से दूर रहती है। 44 साल की सभी अभी तक अनमौरिड है और वे डायमंड ज्वैलरी का बिजनेस करतीं हैं। कुछ साल पहले उन्होंने एक डायमंड चेन भी शुरू की है।

बता दें कि सबा अली खान लाइमलाइट से दूर रहती है। 44 साल की सभी अभी तक अनमौरिड है और वे डायमंड ज्वैलरी का बिजनेस करतीं हैं। कुछ साल पहले उन्होंने एक डायमंड चेन भी शुरू की है।

सबा फिल्मों और पेज 3 पार्टी से दूर ही रहती हैं। यही वजह है कि वो ज्यादा लाइमलाइट में नहीं आतीं। फैमिली फंक्शन को छोड़ दें तो सबा किसी और इवेंट में कम ही दिखती हैं।

सबा फिल्मों और पेज 3 पार्टी से दूर ही रहती हैं। यही वजह है कि वो ज्यादा लाइमलाइट में नहीं आतीं। फैमिली फंक्शन को छोड़ दें तो सबा किसी और इवेंट में कम ही दिखती हैं।

करीना की ये ननद चाहे लाइमलाइट से दूर रहती हो लेकिन वे 2700 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी की मालकिन हैं।

करीना की ये ननद चाहे लाइमलाइट से दूर रहती हो लेकिन वे 2700 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी की मालकिन हैं।

बता दें कि सबा अपनी भाभी करीना कपूर से अच्छी बॉन्डिंग शेयर करती हैं। वो करीना के लिए कई डायमंड ज्वेलरी भी डिजाइन कर चुकी हैं।

बता दें कि सबा अपनी भाभी करीना कपूर से अच्छी बॉन्डिंग शेयर करती हैं। वो करीना के लिए कई डायमंड ज्वेलरी भी डिजाइन कर चुकी हैं।

सबा भोपाल में औकाफ-ए-शाही की मुखिया हैं। भारत सरकार और भोपाल रियासत के तत्कालीन नवाब हमीदुल्ला खां के बीच हुए मर्जर एग्रीमेंट में क्लियर लिखा है कि औकाफ-ए-शाही पर वक्फ बोर्ड का कोई अधिकार नहीं है। नवाब परिवार द्व‌ारा गठित यह स्वतंत्र संस्था है।

सबा भोपाल में औकाफ-ए-शाही की मुखिया हैं। भारत सरकार और भोपाल रियासत के तत्कालीन नवाब हमीदुल्ला खां के बीच हुए मर्जर एग्रीमेंट में क्लियर लिखा है कि औकाफ-ए-शाही पर वक्फ बोर्ड का कोई अधिकार नहीं है। नवाब परिवार द्व‌ारा गठित यह स्वतंत्र संस्था है।

पटौदी फैमिली के ज्यादातर मेंबर बॉलीवुड में हैं, लेकिन सबा फिल्मों से दूर हैं। इसकी वजह सबा का शर्मीला स्वभाव है।

पटौदी फैमिली के ज्यादातर मेंबर बॉलीवुड में हैं, लेकिन सबा फिल्मों से दूर हैं। इसकी वजह सबा का शर्मीला स्वभाव है।

एक इंटरव्यू में सबा ने कहा था- "मेरे मन में कभी भी फिल्म लाइन में जाने का विचार नहीं आया। मैं जहां और जिस काम में हूं, काफी खुश हूं।"

एक इंटरव्यू में सबा ने कहा था- "मेरे मन में कभी भी फिल्म लाइन में जाने का विचार नहीं आया। मैं जहां और जिस काम में हूं, काफी खुश हूं।"

सबा ने दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट से ग्रैजुएशन किया है। इसके बाद वे आगे की पढ़ाई करने अमेरिकी  चली गई। यहां से उन्होंने जैमोलॉडी एंड डिजाइन में डिप्लोमा किया है।

सबा ने दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट से ग्रैजुएशन किया है। इसके बाद वे आगे की पढ़ाई करने अमेरिकी चली गई। यहां से उन्होंने जैमोलॉडी एंड डिजाइन में डिप्लोमा किया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios