Asianet News Hindi

कभी सुसाइड करने पर मजबूर हो गया था ये एक्टर, संघर्ष के दिनों में पत्नी ने भी छोड़ दिया था साथ

First Published Apr 23, 2020, 2:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. बॉलीवुड में अपनी अलग छाप छोड़ने वाले एक्टर मनोज बाजपेयी आज अपना 51वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। उनका जन्म 23 अप्रैल 1969 को बिहार के नरकटियागंज में हुआ था। ग्रैजुएशन की पढ़ाई के लिए मनोज बाजपेयी दिल्ली विश्वविद्यालय के सत्यवती कॉलेज गए फिर रामजस कॉलेज आए। इस दौरान उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में काफी बार ट्राइ किया और करीब 4 बार ट्राई करने के बाद उनका सेलेक्शन नहीं हुआ था। 

नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन लेने के लिए उन्होंने बार-बार कोशिश की, लेकिन वो हर बार रिजेक्ट हो गए। इसी वजह से मनोज ने सुसाइड करने का भी मन बना लिया था। जब मनोज बाजपेयी आत्महत्या के बारे में सोचने लगे थे तभी रघुवीर यादव ने उन्हें बैरी जॉन की एक्टिंग वर्कशॉप करने की सुझाव दिया।  

नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन लेने के लिए उन्होंने बार-बार कोशिश की, लेकिन वो हर बार रिजेक्ट हो गए। इसी वजह से मनोज ने सुसाइड करने का भी मन बना लिया था। जब मनोज बाजपेयी आत्महत्या के बारे में सोचने लगे थे तभी रघुवीर यादव ने उन्हें बैरी जॉन की एक्टिंग वर्कशॉप करने की सुझाव दिया।  

मनोज बाजपेयी की पत्नी का नाम नेहा बाजपेयी है। नेहा भी मनोज की तरह ही बॉलीवुड से ताल्लुक रखती हैं। नेहा का असली नाम शबाना रजा है। बॉलीवुड फिल्मों में आने के बाद उन्होंने अपना नाम बदल लिया था। नेहा ने अपना डेब्यू बॉबी देओल की फिल्म 'करीब' से किया था।

मनोज बाजपेयी की पत्नी का नाम नेहा बाजपेयी है। नेहा भी मनोज की तरह ही बॉलीवुड से ताल्लुक रखती हैं। नेहा का असली नाम शबाना रजा है। बॉलीवुड फिल्मों में आने के बाद उन्होंने अपना नाम बदल लिया था। नेहा ने अपना डेब्यू बॉबी देओल की फिल्म 'करीब' से किया था।

मनोज ने अपने संघर्ष के दौर में दिल्ली की एक लड़की से शादी की थी, लेकिन दोनों की शादी लंबे समय तक नहीं चल पाई थी। कहा जाता है कि मनोज और उनकी पहली पत्नी 2 महीने में ही अलग हो गए थे। 

मनोज ने अपने संघर्ष के दौर में दिल्ली की एक लड़की से शादी की थी, लेकिन दोनों की शादी लंबे समय तक नहीं चल पाई थी। कहा जाता है कि मनोज और उनकी पहली पत्नी 2 महीने में ही अलग हो गए थे। 

पहली पत्नी का मनोज बाजपेयी से यूं अलग हो जाना उनका स्ट्रगलिंग टाइम माना जाता है। वहीं, नेहा और मनोज बाजपेयी की पहली मुलाकात फिल्म 'करीब' के रिलीज के बाद हुई थी। नेहा की फिल्म 'करीब' और मनोज की फिल्म 'सत्या' एक साथ ही रिलीज हुई थी।

पहली पत्नी का मनोज बाजपेयी से यूं अलग हो जाना उनका स्ट्रगलिंग टाइम माना जाता है। वहीं, नेहा और मनोज बाजपेयी की पहली मुलाकात फिल्म 'करीब' के रिलीज के बाद हुई थी। नेहा की फिल्म 'करीब' और मनोज की फिल्म 'सत्या' एक साथ ही रिलीज हुई थी।

मनोज बाजपेयी ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले धारावाहिक 'स्वाभिमान' से की थी। उन्हें फिल्मों में सबसे पहले मौका शेखर कपूर ने दिया। 

मनोज बाजपेयी ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले धारावाहिक 'स्वाभिमान' से की थी। उन्हें फिल्मों में सबसे पहले मौका शेखर कपूर ने दिया। 

मनोज बाजपेयी ने साल 1994 में शेखर कपूर की फिल्म 'बैंडिट क्वीन' से फिल्मी करियर की शुरुआत की, लेकिन उन्हें पहचान मिली साल 1998 में रामगोपाल वर्मा की फिल्म 'सत्या' से।

मनोज बाजपेयी ने साल 1994 में शेखर कपूर की फिल्म 'बैंडिट क्वीन' से फिल्मी करियर की शुरुआत की, लेकिन उन्हें पहचान मिली साल 1998 में रामगोपाल वर्मा की फिल्म 'सत्या' से।

फिल्म 'सत्या' और 'शूल' के लिए मनोज बाजपेयी को फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड भी मिला है। जबकि फिल्म 'पिंजर' में शानदार एक्टिंग के लिए उन्हें नेशनल फिल्म अवॉर्ड (स्पेशल ज्यूरी) मिला। 

फिल्म 'सत्या' और 'शूल' के लिए मनोज बाजपेयी को फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड भी मिला है। जबकि फिल्म 'पिंजर' में शानदार एक्टिंग के लिए उन्हें नेशनल फिल्म अवॉर्ड (स्पेशल ज्यूरी) मिला। 

मनोज बाजपेयी किरदार को ज्यादा से ज्यादा रियल बनाने के लिए उसे असल जिंदगी में जीने की कोशिश करते हैं। 'सत्या', 'शूल', 'स्पेशल 26', 'गैंग्स ऑफ वासेपुर', 'राजनीति' जैसी फिल्मों में उन्होंने शानदार काम किया है।

मनोज बाजपेयी किरदार को ज्यादा से ज्यादा रियल बनाने के लिए उसे असल जिंदगी में जीने की कोशिश करते हैं। 'सत्या', 'शूल', 'स्पेशल 26', 'गैंग्स ऑफ वासेपुर', 'राजनीति' जैसी फिल्मों में उन्होंने शानदार काम किया है।

फोटो सोर्स- गूगल।

फोटो सोर्स- गूगल।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios