Asianet News Hindi

अक्षय कुमार ने नहीं किया सपोर्ट तो भड़के संजय राउत, बोले-क्या ये शहर सिर्फ पैसा कमाने के लिए है?

First Published Sep 13, 2020, 1:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। कंगना रनोट (Kangana Ranaut) ने हाल ही में मुंबई की तुलना पीओके (POK) से कर दी थी, जिसे लेकर बवाल मचा हुआ है। इसी बीच, शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने इस मामले में चुप्पी साधे रहने पर अब अक्षय कुमार (Akshay Kumar) को आड़े हाथों लिया है। राउत ने पार्टी के मुख्य पत्र 'सामना' में अक्षय कुमार पर सवाल उठाते हुए कहा है कि क्या मुंबई सिर्फ पैसा कमाने के लिए है?

राउत ने लिखा कि जब कंगना ने मुंबई की तुलना पीओके (पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर) से की तो अक्षय कुमार जैसे एक्टर्स को सामने आकर इसका विरोध करना चाहिए था कि कंगना की राय पूरी फिल्म इंडस्ट्री की राय नहीं है।

राउत ने लिखा कि जब कंगना ने मुंबई की तुलना पीओके (पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर) से की तो अक्षय कुमार जैसे एक्टर्स को सामने आकर इसका विरोध करना चाहिए था कि कंगना की राय पूरी फिल्म इंडस्ट्री की राय नहीं है।

राउत ने आगे लिखा, मुंबई ने उन्हें और सभी को बहुत कुछ दिया है। दुनियाभर के रईसों के घर मुंबई में हैं। लेकिन जब इस शहर का अपमान किया जाता है तो सब के सब गर्दन नीची कर बैठ जाते हैं।

राउत ने आगे लिखा, मुंबई ने उन्हें और सभी को बहुत कुछ दिया है। दुनियाभर के रईसों के घर मुंबई में हैं। लेकिन जब इस शहर का अपमान किया जाता है तो सब के सब गर्दन नीची कर बैठ जाते हैं।

बता दें कि बीएमसी द्वारा अपना ऑफिस तोड़े जाने के बाद कंगना रनोट ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर जमकर निशाना साधा था। कंगना ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा था, उद्धव ठाकरे तूने आज मेरा घर गिराया है, कल तेरा घमंड टूटेगा। ये वक्त का पहिया है, एक जैसा नहीं रहता। कंगना की इस भाषा पर राउत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

बता दें कि बीएमसी द्वारा अपना ऑफिस तोड़े जाने के बाद कंगना रनोट ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर जमकर निशाना साधा था। कंगना ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा था, उद्धव ठाकरे तूने आज मेरा घर गिराया है, कल तेरा घमंड टूटेगा। ये वक्त का पहिया है, एक जैसा नहीं रहता। कंगना की इस भाषा पर राउत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

राउत ने लिखा कि एक नटी (एक्ट्रेस) मुंबई में बैठकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के लिए तू-तड़ाक वाली भाषा का इस्तेमाल करती है। लेकिन प्रदेश की जनता कोई रिएक्शन नहीं देती है। ये कैसी एकतरफा आजादी है।

राउत ने लिखा कि एक नटी (एक्ट्रेस) मुंबई में बैठकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के लिए तू-तड़ाक वाली भाषा का इस्तेमाल करती है। लेकिन प्रदेश की जनता कोई रिएक्शन नहीं देती है। ये कैसी एकतरफा आजादी है।

राउत ने आगे लिखा, जब कंगना के अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलता है तो वह ड्रामा करने लगती है। इसे राम मंदिर बताने लगती है। उसने यह अवैध निर्माण उसी के द्वारा घोषित (पीओके) पाकिस्तान में किया था।

राउत ने आगे लिखा, जब कंगना के अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलता है तो वह ड्रामा करने लगती है। इसे राम मंदिर बताने लगती है। उसने यह अवैध निर्माण उसी के द्वारा घोषित (पीओके) पाकिस्तान में किया था।

संजय राउत ने कहा, पहले मुंबई को पाकिस्तान बताती है और जब उसी पाकिस्तान में गैरकानूनी तरीके से हुए निर्माण पर सर्जिकल स्ट्राइक होती है तो छाती पीटती है। पूरी फिल्म इंडस्ट्री को न सही, लेकिन आधी इंडस्ट्री को तो मुंबई के अपमान के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए थी।

संजय राउत ने कहा, पहले मुंबई को पाकिस्तान बताती है और जब उसी पाकिस्तान में गैरकानूनी तरीके से हुए निर्माण पर सर्जिकल स्ट्राइक होती है तो छाती पीटती है। पूरी फिल्म इंडस्ट्री को न सही, लेकिन आधी इंडस्ट्री को तो मुंबई के अपमान के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए थी।

राउत के मुताबिक, मुंबई को बाहरी लोगों का ग्रहण लग गया है। मुंबई को पाकिस्तान कहा गया। फिर जब मुंबई का अपमान करने वाली नॉटी के अवैध निर्माण पर बीएमसी एक्टशन लेती है तो वह इसे बाबर बताने लगती है। मुंबई को पाकिस्तान और बाबर कहने वालों के पीछे महाराष्ट्र की भारतीय जनता पार्टी सपोर्ट कर रही है। 

राउत के मुताबिक, मुंबई को बाहरी लोगों का ग्रहण लग गया है। मुंबई को पाकिस्तान कहा गया। फिर जब मुंबई का अपमान करने वाली नॉटी के अवैध निर्माण पर बीएमसी एक्टशन लेती है तो वह इसे बाबर बताने लगती है। मुंबई को पाकिस्तान और बाबर कहने वालों के पीछे महाराष्ट्र की भारतीय जनता पार्टी सपोर्ट कर रही है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios