जया बच्चन की वजह से बिगड़े थे अमर सिंह-अमिताभ के रिश्ते! बाद में मांगी थी बच्चन फैमिली से माफी

First Published 1, Aug 2020, 5:44 PM

मुंबई। कभी समाजवादी पार्टी के नेता रहे अमर सिंह का सिंगापुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। अमर सिंह करीब चार महीने से सिंगापुर के एक अस्पताल में अपनी किडनी का इलाज करा रहे थे। पिछले डेढ़ महीने से तबीयत ज्यादा बिगड़ने के बाद उन्हें आईसीयू में रखा गया था। अमर सिंह को कभी अमिताभ बच्चन के सबसे पक्के दोस्तों में गिना जाता था। हालांकि बाद में दोनों के बीच कुछ मतभेद हो गए थे। कहा जाता है कि अमिताभ बच्चन और अमर सिंह के बीच रिश्ते बिगड़ने की वजह जया बच्चन थीं। बाद में अमर सिंह ने अमिताभ बच्चन से एक वीडियो शेयर करते हुए माफी मांगी थी। 

<p>दरअसल, अमर सिंह के पिता की बरसी पर अमिताभ बच्चन ने उन्हें मैसेज भेजा, जिस पर अमर सिंह भावुक हो गए और जवाब में उन्होंने अमर सिंह से माफी मांगी थी। अमर सिंह ने पुराने गिले-शिकवे मिटाते हुए एक वीडियो जारी कर कहा था, मैंने जो कटु वचन बोले हैं उसके लिए खेद है। </p>

दरअसल, अमर सिंह के पिता की बरसी पर अमिताभ बच्चन ने उन्हें मैसेज भेजा, जिस पर अमर सिंह भावुक हो गए और जवाब में उन्होंने अमर सिंह से माफी मांगी थी। अमर सिंह ने पुराने गिले-शिकवे मिटाते हुए एक वीडियो जारी कर कहा था, मैंने जो कटु वचन बोले हैं उसके लिए खेद है। 

<p>अमर सिंह ने कहा था, ‘मेरे पिता की आज पुण्‍यतिथि है और अमिताभ बच्‍चन ने मुझे हमेशा की तरह मैसेज किया है। जीवन के इस पड़ाव पर जब मैं जीवन और मृत्यु की लड़ाई लड़ रहा हूं, तब मुझे अमित जी और उनके परिवार के खिलाफ अपनी प्रतिक्रिया के लिए खेद है।</p>

अमर सिंह ने कहा था, ‘मेरे पिता की आज पुण्‍यतिथि है और अमिताभ बच्‍चन ने मुझे हमेशा की तरह मैसेज किया है। जीवन के इस पड़ाव पर जब मैं जीवन और मृत्यु की लड़ाई लड़ रहा हूं, तब मुझे अमित जी और उनके परिवार के खिलाफ अपनी प्रतिक्रिया के लिए खेद है।

<p>अमर सिंह ने वीडियो में कहा था, ‘आज के दिन मेरे पूज्‍य पिताजी का स्‍वर्गवास हुआ था। इस तिथि पर पिछले एक दशक से अमिताभ बच्‍चन मुझे लगातार मैसेज भेजते हैं। संबंध जितना निकट होता है, उसके टूटने की चुभन भी उतनी तेज होती है। </p>

अमर सिंह ने वीडियो में कहा था, ‘आज के दिन मेरे पूज्‍य पिताजी का स्‍वर्गवास हुआ था। इस तिथि पर पिछले एक दशक से अमिताभ बच्‍चन मुझे लगातार मैसेज भेजते हैं। संबंध जितना निकट होता है, उसके टूटने की चुभन भी उतनी तेज होती है। 

<p>पिछले 10 सालों से मैं बच्‍चन परिवार से दूर रहा, लेकिन आज फिर अमिताभजी ने मेरे पिताजी को याद किया। इसी सिंगापुर में दस साल पहले गुर्दों की बीमारी के लिए मैं और अमित जी दो महीने तक साथ रहे। उसके बाद से हमारे बीच संबंध खत्‍म हो गए, लेकिन दस साल बाद भी उनकी निरंतरता उसी तरह बनी रही। </p>

पिछले 10 सालों से मैं बच्‍चन परिवार से दूर रहा, लेकिन आज फिर अमिताभजी ने मेरे पिताजी को याद किया। इसी सिंगापुर में दस साल पहले गुर्दों की बीमारी के लिए मैं और अमित जी दो महीने तक साथ रहे। उसके बाद से हमारे बीच संबंध खत्‍म हो गए, लेकिन दस साल बाद भी उनकी निरंतरता उसी तरह बनी रही। 

<p>अमर सिंह ने कहा था, कई मौकों पर, चाहे वह मेरा जन्‍मदिन हो या पिता की पुण्‍यतिथि, वो हमेशा अपने कर्तवय को निभाते रहे। 60 से ऊपर जीवन की संध्‍या होती है। मैं जिंदगी और मौत के बीच से गुजर रहा हूं। वे हमसे उम्र में बड़े हैं मुझे नरमी रखनी चाहिए थी। मुझे लगता है कि मैंने जो कटु वचन बोले हैं उसके प्रति खेद प्रकट कर देना चाहिए। <br />
 </p>

अमर सिंह ने कहा था, कई मौकों पर, चाहे वह मेरा जन्‍मदिन हो या पिता की पुण्‍यतिथि, वो हमेशा अपने कर्तवय को निभाते रहे। 60 से ऊपर जीवन की संध्‍या होती है। मैं जिंदगी और मौत के बीच से गुजर रहा हूं। वे हमसे उम्र में बड़े हैं मुझे नरमी रखनी चाहिए थी। मुझे लगता है कि मैंने जो कटु वचन बोले हैं उसके प्रति खेद प्रकट कर देना चाहिए। 
 

<p>मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्‍यादा उनके व्‍यवहार के प्रति निराशा रही, लेकिन उनके मन में न कटुता है और ना ही निराशा। बल्‍कि कोई और भावना है। इसलिए पिताजी को श्रद्धांजलि देते हुए जो श्रद्धासुमन उन्‍होंने व्‍यक्‍त किया है वह देते हुए, हमें सब ईश्‍वर पर छोड़ना चाहिए बजाए उसमें दखल देने के। बहुत-बहुत धन्‍यवाद अमित जी आपके संदेश का।</p>

मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्‍यादा उनके व्‍यवहार के प्रति निराशा रही, लेकिन उनके मन में न कटुता है और ना ही निराशा। बल्‍कि कोई और भावना है। इसलिए पिताजी को श्रद्धांजलि देते हुए जो श्रद्धासुमन उन्‍होंने व्‍यक्‍त किया है वह देते हुए, हमें सब ईश्‍वर पर छोड़ना चाहिए बजाए उसमें दखल देने के। बहुत-बहुत धन्‍यवाद अमित जी आपके संदेश का।

<p>सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर अमर सिंह ने अपने मित्र रहे अमिताभ बच्चन और उनके परिवार से माफी मांगी। वीडियो में अमर सिंह काफी कमजोर दिख रहे थे। कुछ साल पहले उनकी किडनी में समस्‍या आई थी, जिसका इलाज चल रहा था। </p>

सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर अमर सिंह ने अपने मित्र रहे अमिताभ बच्चन और उनके परिवार से माफी मांगी। वीडियो में अमर सिंह काफी कमजोर दिख रहे थे। कुछ साल पहले उनकी किडनी में समस्‍या आई थी, जिसका इलाज चल रहा था। 

<p>अमर सिंह के मुताबिक, दोस्‍ती को तोड़ने का फैसला अमिताभ बच्‍चन का था। दरअसल, 2017 में अमर सिंह ने एक इंटरव्‍यू के दौरान कहा था कि अमिताभ बच्‍चन और उनकी पत्नी जया बच्‍चन अलग-अलग रह रहे थे। उनमें से एक प्रतीक्षा में और एक ‘जनक’ कोठी में रह रहे थे। अमर सिंह के मुताबिक, ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन व जया के बीच भी कुछ समस्‍याएं थीं। मैं इसके लिए जिम्‍मेवार नहीं हैं।</p>

अमर सिंह के मुताबिक, दोस्‍ती को तोड़ने का फैसला अमिताभ बच्‍चन का था। दरअसल, 2017 में अमर सिंह ने एक इंटरव्‍यू के दौरान कहा था कि अमिताभ बच्‍चन और उनकी पत्नी जया बच्‍चन अलग-अलग रह रहे थे। उनमें से एक प्रतीक्षा में और एक ‘जनक’ कोठी में रह रहे थे। अमर सिंह के मुताबिक, ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन व जया के बीच भी कुछ समस्‍याएं थीं। मैं इसके लिए जिम्‍मेवार नहीं हैं।

<p>दरअसल, अमर सिंह ने जया बच्चन से समाजवादी पार्टी को छोड़ने को कहा था लेकिन वे तैयार नहीं हुईं थी। 2010 में अमर सिंह की SP से बगावत पर बच्चन परिवार ने उनका साथ नहीं दिया था। इसके बाद से अमर सिंह नाराज थे।</p>

दरअसल, अमर सिंह ने जया बच्चन से समाजवादी पार्टी को छोड़ने को कहा था लेकिन वे तैयार नहीं हुईं थी। 2010 में अमर सिंह की SP से बगावत पर बच्चन परिवार ने उनका साथ नहीं दिया था। इसके बाद से अमर सिंह नाराज थे।

loader