Asianet News Hindi

जब इस दबंग खान ने भरी महफिल में पाकिस्तान को बता दी थी उसकी औकात तो देश ने एंट्री पर लगा था बैन

First Published May 31, 2020, 3:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई.  दुनियाभर में कोरोना वायरस का असर कम नहीं हो रहा है। इसकी दहशत अभी भी बनी हुई है। भारत में इस महामारी पर कंट्रोल करने के लिए कई उपाय किए जा रहे हैं। रिपोर्ट्स की मानें तो अब देश में लॉकडाउन में अच्छी खासी छूट भी मिलने वाली है। इससे आमजनों की तरह सेलेब्स को भी थोड़ी बहुत राहत मिलेगी। वहीं, इन दिनों सेलेब्स से जुड़े कई किस्सा-कहानियां, फोटोज और वीडियोज वायरल हो रहे हैं। इसी बीच बॉलीवुड के दबंग खान यानी फिरोज खान को लेकर एक किस्सा वायरल हो रही है। फिरोज वो शख्स थे जिन्होंने पाकिस्तान जाकर कुछ ऐसा किया, जिससे घबराकर उनपर देश में आने पर बैन लगा दिया गया था। आइए जानते हैं क्‍या था पूरा मामला...

फिरोज अब इस दुनिया में नहीं है। कैंसर के चलते उनकी मौत हो गई थी। वे आखिरी बार 2007 में आई फिल्म वेलकम में नजर आए थे। 
 

फिरोज अब इस दुनिया में नहीं है। कैंसर के चलते उनकी मौत हो गई थी। वे आखिरी बार 2007 में आई फिल्म वेलकम में नजर आए थे। 
 

वेलकम में उनकी परफॉर्मेंस को काफी पसंद किया गया था लेकिन इसके एक साल पहले यानी 2006 में वह पाकिस्‍तान में दिए अपने एक बयान को लेकर विवादों में आ गए थे।

वेलकम में उनकी परफॉर्मेंस को काफी पसंद किया गया था लेकिन इसके एक साल पहले यानी 2006 में वह पाकिस्‍तान में दिए अपने एक बयान को लेकर विवादों में आ गए थे।

दरअसल, फिरोज अपने छोटे भाई अकबर खान की फिल्‍म 'ताज महल: एन इटर्नल लव स्‍टोरी' के प्रीमियर के लिए पाकिस्‍तान गए थे। इस दौरान उनके साथ अकबर खान, बेटा फरदीन खान, महेश भट्ट, शत्रुघ्न सिन्हा और फिल्‍म की एक्‍ट्रेस मनीषा कोइराला साथ थी।

दरअसल, फिरोज अपने छोटे भाई अकबर खान की फिल्‍म 'ताज महल: एन इटर्नल लव स्‍टोरी' के प्रीमियर के लिए पाकिस्‍तान गए थे। इस दौरान उनके साथ अकबर खान, बेटा फरदीन खान, महेश भट्ट, शत्रुघ्न सिन्हा और फिल्‍म की एक्‍ट्रेस मनीषा कोइराला साथ थी।

इस दौरान उनसे भारत में मुस्लिमों की खराब हालत को लेकर सवाल पूछा गया। इस पर उन्होंने भारत की तारीफ करते हुए कहा था, "इंडिया एक सेकुलर देश है। वहां मुस्लिम तरक्की कर रहे हैं। हमारे राष्ट्रपति मुस्लिम हैं, प्रधानमंत्री सिख हैं। पाकिस्तान इस्लाम के नाम पर बनाया गया। लेकिन देखो कैसे मुस्‍लिम एक-दूसरे को मार रहे हैं।"

इस दौरान उनसे भारत में मुस्लिमों की खराब हालत को लेकर सवाल पूछा गया। इस पर उन्होंने भारत की तारीफ करते हुए कहा था, "इंडिया एक सेकुलर देश है। वहां मुस्लिम तरक्की कर रहे हैं। हमारे राष्ट्रपति मुस्लिम हैं, प्रधानमंत्री सिख हैं। पाकिस्तान इस्लाम के नाम पर बनाया गया। लेकिन देखो कैसे मुस्‍लिम एक-दूसरे को मार रहे हैं।"

उन्होंने इवेंट के दौरान कहा था, "मैं यहां खुद नहीं आया हूं, मुझे बुलाया गया है। हमारी फिल्में बहुत पावरफुल होती हैं। इसलिए आपकी सरकार इन्हें ज्यादा दिन तक नहीं रोक सकती।" इवेंट में मौजूद इंडियन डेलिगेशन के सदस्यों ने इस बात की पुष्टि उस वक्त मीडिया से बातचीत में की थी।

उन्होंने इवेंट के दौरान कहा था, "मैं यहां खुद नहीं आया हूं, मुझे बुलाया गया है। हमारी फिल्में बहुत पावरफुल होती हैं। इसलिए आपकी सरकार इन्हें ज्यादा दिन तक नहीं रोक सकती।" इवेंट में मौजूद इंडियन डेलिगेशन के सदस्यों ने इस बात की पुष्टि उस वक्त मीडिया से बातचीत में की थी।

इसी इवेंट के दौरान एक्ट्रेस मनीषा कोइराला पर एंकर फख्र-ए-आलम ने कुछ ऐसी टिप्‍पणी की जिससे वह असहज हो गईं। फिरोज, मनीषा के बगल में ही बैठे थे। उन्हें गुस्सा आ गया और उन्होंने एंकर को फटकार लगा दी थी।

इसी इवेंट के दौरान एक्ट्रेस मनीषा कोइराला पर एंकर फख्र-ए-आलम ने कुछ ऐसी टिप्‍पणी की जिससे वह असहज हो गईं। फिरोज, मनीषा के बगल में ही बैठे थे। उन्हें गुस्सा आ गया और उन्होंने एंकर को फटकार लगा दी थी।

पूरे घटनाक्रम के बाद डायरेक्टर महेश भट्ट ने एंकर फख्र-ए-आलम और पाकिस्तानी आवाम से फिरोज की ओर से माफी मांगी थी। भट्ट ने कहा था, "खान के व्यवहार के लिए मैं फख्र-ए-आलम और पाकिस्तानी आवाम से माफी मांगता हूं। उम्मीद है कि वे हमें माफ कर देंगे।" बता दें कि उस वक्त भट्ट इंडियन डेलिगेशन का हिस्सा थे। 

पूरे घटनाक्रम के बाद डायरेक्टर महेश भट्ट ने एंकर फख्र-ए-आलम और पाकिस्तानी आवाम से फिरोज की ओर से माफी मांगी थी। भट्ट ने कहा था, "खान के व्यवहार के लिए मैं फख्र-ए-आलम और पाकिस्तानी आवाम से माफी मांगता हूं। उम्मीद है कि वे हमें माफ कर देंगे।" बता दें कि उस वक्त भट्ट इंडियन डेलिगेशन का हिस्सा थे। 

फिरोज का व्यवहार फख्र-ए-आलम और महफिल में बैठे अन्य पाकिस्तानियों को इतना नागवार गुजरा कि उन्होंने उनके पाकिस्तान में आने पर ही रोक लगवा दी थी। तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने भारत में पाकिस्तानी हाई कमिश्नर को ऑर्डर दिया था कि फिरोज को पाक का वीजा न दिया जाए।

फिरोज का व्यवहार फख्र-ए-आलम और महफिल में बैठे अन्य पाकिस्तानियों को इतना नागवार गुजरा कि उन्होंने उनके पाकिस्तान में आने पर ही रोक लगवा दी थी। तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने भारत में पाकिस्तानी हाई कमिश्नर को ऑर्डर दिया था कि फिरोज को पाक का वीजा न दिया जाए।

धर्मात्म, जांबाज, कुर्बानी, दयावान, यलगार, अपराध, खोटे सिक्के, नागिन, मेला, आरजू, गीता मेरा नाम, कबीला, चुनौती, उपासना जैसी हिट फिल्मों में काम करने वाले फिरोज का 27 अप्रैल 2009 को बेंगलुरु में लंग कैंसर से निधन हो गया था।

धर्मात्म, जांबाज, कुर्बानी, दयावान, यलगार, अपराध, खोटे सिक्के, नागिन, मेला, आरजू, गीता मेरा नाम, कबीला, चुनौती, उपासना जैसी हिट फिल्मों में काम करने वाले फिरोज का 27 अप्रैल 2009 को बेंगलुरु में लंग कैंसर से निधन हो गया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios