Fact Check: कोरोना से सभी सरकारी, प्राइवेट ऑफिस में 14 से 21 मार्च तक छुट्टी...इस वायरल मैसेज का सच

First Published 14, Mar 2020, 11:03 AM

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस से 83 लोग संक्रमित हैं। वायरस को फैलने से रोकने के लिए पीआईबी सहित राज्य सरकारें विज्ञापन जारी कर इससे बचने के लिए गाइड लाइन जारी कर रही हैं। कई राज्यों में स्कूल-कॉलेज बंद करने के लिए पत्र जारी किए गए हैं। लेकिन इस दौरान कई फेक मैसेज भी वायरल हो रहे हैं। व्हॉट्सएप पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के नाम से एक पत्र वायरल हो रहा है, जिसके मुताबिक, देश के चार राज्यों महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश और सिक्किम में 14 से 21 मार्च तक छुट्टी की घोषणा कर दी गई है। 
 

वायरल मैसेज में क्या है?- वायरल पत्र में तारीख 13 मार्च 2020 की डाली गई है। सबसे ऊपर सब्जेक्ट में लिखा है, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश और सिक्किम। इसके बाद नीचे लिखा है कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने 14 मार्च से 21 मार्च तक छुट्टी की घोषणा की गई है।

वायरल मैसेज में क्या है?- वायरल पत्र में तारीख 13 मार्च 2020 की डाली गई है। सबसे ऊपर सब्जेक्ट में लिखा है, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश और सिक्किम। इसके बाद नीचे लिखा है कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने 14 मार्च से 21 मार्च तक छुट्टी की घोषणा की गई है।

आदेश न मानने पर 5000 रुपए का जुर्माना- यह आदेश सभी स्कूल, कॉलेज, शिक्षण संस्थान और उन कार्यस्थल पर लागू होगा, जहां 10 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं। अगर किसी ने भी इस आदेश का पालन नहीं किया तो उसे हर दिन 5000 रुपए का फाइन भरना होगा।

आदेश न मानने पर 5000 रुपए का जुर्माना- यह आदेश सभी स्कूल, कॉलेज, शिक्षण संस्थान और उन कार्यस्थल पर लागू होगा, जहां 10 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं। अगर किसी ने भी इस आदेश का पालन नहीं किया तो उसे हर दिन 5000 रुपए का फाइन भरना होगा।

मैसेज की सच्चाई क्या है?- सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज फेक है। प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरों में खुद इसपर सफाई दी है। 13 मार्च को पीआईबी (PIB) की तरफ से एक प्रेस नोट जारी हुआ। इसमें लिखा था, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के नाम पर एक लेटर वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि 14 मार्च से 21 मार्च तक 4 राज्यों में छुट्टी है। लेकिन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने ऐसा कोई भी पत्र जारी नहीं किया। प्रेस नोट में यह भी कहा गया है कि ऐसा पत्र जारी करने वालों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगी।

मैसेज की सच्चाई क्या है?- सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज फेक है। प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरों में खुद इसपर सफाई दी है। 13 मार्च को पीआईबी (PIB) की तरफ से एक प्रेस नोट जारी हुआ। इसमें लिखा था, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के नाम पर एक लेटर वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि 14 मार्च से 21 मार्च तक 4 राज्यों में छुट्टी है। लेकिन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने ऐसा कोई भी पत्र जारी नहीं किया। प्रेस नोट में यह भी कहा गया है कि ऐसा पत्र जारी करने वालों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगी।

भारत में कोरोना वायरस से दो मौत हो चुकी है। पहली मौत 12 मार्च को कर्नाटक में 76 साल की एक बुजुर्ग महिला की हुई। इसके बाद दूसरी मौत 13 मार्च को दिल्ली में हुई। दिल्ली में जिस महिला की मौत हुई, उनकी उम्र 69 थी। भारत में अब तक 83 मामले सामने आए हैं।

भारत में कोरोना वायरस से दो मौत हो चुकी है। पहली मौत 12 मार्च को कर्नाटक में 76 साल की एक बुजुर्ग महिला की हुई। इसके बाद दूसरी मौत 13 मार्च को दिल्ली में हुई। दिल्ली में जिस महिला की मौत हुई, उनकी उम्र 69 थी। भारत में अब तक 83 मामले सामने आए हैं।

loader