Asianet News Hindi

अनपढ़ व्यक्ति को भी मिल रही है 18 हजार रु की सरकारी नौकरी? जान लें क्या है इस मैसेज का सच

First Published Apr 27, 2021, 4:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अनपढ़ व्यक्ति को हर महीने 18 हजार रुपए की सैलरी पर नौकरी मिल रही है...सोशल मीडिया पर इस तरह का मैसेज वायरल हो रहा है। मैसेज में दावा किया जा रहा है कि निशुल्क आवेदन कर सकते हैं। मैसेज के साथ में भारत सरकार की तस्वीर भी लगाई गई है। हालांकि मैसेज झूठा है। साल 2020 में ही PIB ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि ये वायरल मैसेज फेक है। लेकिन एक साल बाद फिर से ये मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा है।
 

वायरल मैसेज में क्या है?
मैसेज में लिखा है, बेरोजगार हैं तो आज ही भर लें ये फॉर्म। वेतन 18000 रुपए से 32000 रु हर माह। एक परिवार एक नौकरी योजना। निशुल्क आवेदन फॉर्म भरें। शैक्षणिक योग्यता में लिखा गया है कि अनपढ़ को 18 हजार रु. 8वीं पास को 28 हजार रु और 10वीं पास को 32 हजार रुपए दिए जाएंगे। मैसेज में सबसे नीचे अप्लाई नाऊ का विकल्प दिया गया है। हालांकि अप्लाई नाऊ पर क्लिक करने पर क्लिक नहीं हुई।
 

वायरल मैसेज में क्या है?
मैसेज में लिखा है, बेरोजगार हैं तो आज ही भर लें ये फॉर्म। वेतन 18000 रुपए से 32000 रु हर माह। एक परिवार एक नौकरी योजना। निशुल्क आवेदन फॉर्म भरें। शैक्षणिक योग्यता में लिखा गया है कि अनपढ़ को 18 हजार रु. 8वीं पास को 28 हजार रु और 10वीं पास को 32 हजार रुपए दिए जाएंगे। मैसेज में सबसे नीचे अप्लाई नाऊ का विकल्प दिया गया है। हालांकि अप्लाई नाऊ पर क्लिक करने पर क्लिक नहीं हुई।
 

ये मैसेज इससे पहले भी कई बार वायरल हो चुका है। हमने मैसेज की पड़ताल की तो पता चला कि PIB ने पहले ही साफ कर दिया है कि ये झूठा मैसेज वायरल हो रहा है। 

ये मैसेज इससे पहले भी कई बार वायरल हो चुका है। हमने मैसेज की पड़ताल की तो पता चला कि PIB ने पहले ही साफ कर दिया है कि ये झूठा मैसेज वायरल हो रहा है। 

वायरल मैसेज का सच?
मैसेज को लेकर सबसे पहले पीआईबी ने साफ कर दिया है कि सरकार की तरफ से ऐसी कोई नौकरी नहीं दी जा रही है। पीआईबी ने लिखा, वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार की "एक परिवार एक नौकरी योजना" के अनुसार हर परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी। यह दावा झूठा है। केंद्र सरकार की ऐसी कोई भी योजना नहीं है। 

वायरल मैसेज का सच?
मैसेज को लेकर सबसे पहले पीआईबी ने साफ कर दिया है कि सरकार की तरफ से ऐसी कोई नौकरी नहीं दी जा रही है। पीआईबी ने लिखा, वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार की "एक परिवार एक नौकरी योजना" के अनुसार हर परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी। यह दावा झूठा है। केंद्र सरकार की ऐसी कोई भी योजना नहीं है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios