Asianet News Hindi

सड़क के गड्ढों में फोटोशूट करवाने बैठा लड़का...झमाझम वायरल हो गईं फोटोज, UP, बिहार नहीं यहां का है मामला?

First Published Sep 1, 2020, 5:19 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फैक्ट चेक डेस्क. man sitting in pothole fact check: सोशल मीडिया पर बीते कुछ दिनों से एक शख्स की सड़क के गड्ढे में बैठकर खिंचवाई गई तस्वीरें लगातर वायरल हो रही हैं। तस्वीरों के साथ लोग सड़कों में गड्ढे और खराब व्यवस्था पर तंज कस रहे हैं। पर समस्या ये है कि इन तस्वीरों को लोग अपने-अपने राज्य की बताकर दावा ठोक रहे हैं। वायरल फोटोज को कोई बिहार, कोई यूपी तो कोई छत्तीसगढ़ की बता रहा है। फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि सच क्या है? 
 

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी सोशल मीडिया की वाइस चैयरपर्सन पंखुड़ी पाठक ने सोशल मीडिया पर दो तस्वीरें 28 अगस्त को उत्तर प्रदेश की बताकर शेयर की हैं। 
 

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी सोशल मीडिया की वाइस चैयरपर्सन पंखुड़ी पाठक ने सोशल मीडिया पर दो तस्वीरें 28 अगस्त को उत्तर प्रदेश की बताकर शेयर की हैं। 
 

वायरल पोस्ट क्या है? 

पंखुरी ने लिखा ये तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा है, “गड्ढे में भी नियम का ख्याल है, अच्छे दिन वालों का बुरा हाल है। गड्ढा मुक्त उत्तरप्रदेश।” पंखुड़ी पाठक ने अपने फ़ेसबुक पेज से भी ये तस्वीरें इन्हीं दावों के साथ शेयर की हैं। 

वायरल पोस्ट क्या है? 

पंखुरी ने लिखा ये तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा है, “गड्ढे में भी नियम का ख्याल है, अच्छे दिन वालों का बुरा हाल है। गड्ढा मुक्त उत्तरप्रदेश।” पंखुड़ी पाठक ने अपने फ़ेसबुक पेज से भी ये तस्वीरें इन्हीं दावों के साथ शेयर की हैं। 

इस ट्वीट के रिप्लाई में कुछ लोगों ने इंस्टाग्राम पर छत्तीसगढ़ का बताकर पोस्ट किये गए इसी तस्वीर का एक स्क्रीनशॉट शेयर कर रहे हैं। और बता रहे हैं कि ये कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की तस्वीरें हैं। 

इस ट्वीट के रिप्लाई में कुछ लोगों ने इंस्टाग्राम पर छत्तीसगढ़ का बताकर पोस्ट किये गए इसी तस्वीर का एक स्क्रीनशॉट शेयर कर रहे हैं। और बता रहे हैं कि ये कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की तस्वीरें हैं। 

वहीं कुछ लोग इन तस्वीरों को बिहार का बता रहे हैं। 
 

वहीं कुछ लोग इन तस्वीरों को बिहार का बता रहे हैं। 
 

फ़ैक्ट-चेक

 

यांडेक्स (Yandex) पर रिवर्स इमेज सर्च करने से हमें एक ब्लॉग (aanavandi.com) पर 14 अक्टूबर, 2019 को ये तस्वीरें पोस्ट की हुई मिली। यहां इन्हें पश्चिम बंगाल का बताया गया है। इस ब्लॉग ने और भी ऐसी कई तस्वीरें पोस्ट की हैं जिनमें बंगाली में लिखा बोर्ड है।

फ़ैक्ट-चेक

 

यांडेक्स (Yandex) पर रिवर्स इमेज सर्च करने से हमें एक ब्लॉग (aanavandi.com) पर 14 अक्टूबर, 2019 को ये तस्वीरें पोस्ट की हुई मिली। यहां इन्हें पश्चिम बंगाल का बताया गया है। इस ब्लॉग ने और भी ऐसी कई तस्वीरें पोस्ट की हैं जिनमें बंगाली में लिखा बोर्ड है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की फ़ोटो दिखती है। इसके अलावा अभी शेयर की जा रही तस्वीर इस वेबसाइट पर काफ़ी क्लियर दिखती है। और गौर से देखने पर तस्वीरों में दिख रही गाड़ियों का नंबर प्लेट WB से शुरू होता दिखता है। पश्चिम बंगाल में चलने वाली सभी गाड़ियों का नंबर WB (West Bengal) से शुरू होता है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की फ़ोटो दिखती है। इसके अलावा अभी शेयर की जा रही तस्वीर इस वेबसाइट पर काफ़ी क्लियर दिखती है। और गौर से देखने पर तस्वीरों में दिख रही गाड़ियों का नंबर प्लेट WB से शुरू होता दिखता है। पश्चिम बंगाल में चलने वाली सभी गाड़ियों का नंबर WB (West Bengal) से शुरू होता है।

बंगाली कीवर्ड से सर्च करने पर ढाका 18 नाम की समाचार वेबसाइट पर इन तस्वीरों की एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिम बंगाल के इंग्लिश बाज़ार में रहने वाले एक शख्स संगीत रॉय की ये तस्वीरें हैं जिन्होंने मालदा की ख़राब सड़कों की हालत दिखाई है। बताया गया है कि उन्होंने ये तस्वीरें अपने फ़ेसबुक हैंडल से शेयर की। हमने पाया कि संगीत रॉय ने ऐसी कुल 6 फ़ोटोज़ 13 अक्टूबर, 2019 को पोस्ट की थी।
 

बंगाली कीवर्ड से सर्च करने पर ढाका 18 नाम की समाचार वेबसाइट पर इन तस्वीरों की एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिम बंगाल के इंग्लिश बाज़ार में रहने वाले एक शख्स संगीत रॉय की ये तस्वीरें हैं जिन्होंने मालदा की ख़राब सड़कों की हालत दिखाई है। बताया गया है कि उन्होंने ये तस्वीरें अपने फ़ेसबुक हैंडल से शेयर की। हमने पाया कि संगीत रॉय ने ऐसी कुल 6 फ़ोटोज़ 13 अक्टूबर, 2019 को पोस्ट की थी।
 

ये निकला नतीजा 

 

इस तरह ये साफ़ हो जाता है कि ये तस्वीरें उत्तर-प्रदेश, छतीसगढ़ या बिहार की नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल की हैं। 
 

ये निकला नतीजा 

 

इस तरह ये साफ़ हो जाता है कि ये तस्वीरें उत्तर-प्रदेश, छतीसगढ़ या बिहार की नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल की हैं। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios