Asianet News Hindi

Fact Check: मंगल ग्रह पर सूर्यास्त की पहली फोटो हुई वायरल? बेवकूफ बनने से पहले जानें सच

First Published Mar 21, 2021, 4:02 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फेक चेक डेस्क. Sunset on Mars Fake News: सोशल मीडिया पर वायरल एक तस्वीर में सूरज को डूबते देखा जा सकता है। तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि यह मार्स की तस्वीर है। डूबते हुए सूरज और हल्की नीली रोशनी में नहाए आसमान के दिलकश नजारे की एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि ये मंगल ग्रह में होने वाले सूर्यास्त की पहली फोटो है। फेक चेक में आइए जानते हैं कि क्या वाकई ये चांद पर डूते यूर्य की तस्वीर है?

वायरल पोस्ट क्या है?

वायरल पोस्ट में डूबते सूरज की तस्वीर के साथ लिखा है “First ever photo of a sunset on Mars.” जिसका हिंदी अनुवाद होता है “मंगल पर सूर्यास्त की पहली तस्वीर।”

 

वायरल पोस्ट क्या है?

वायरल पोस्ट में डूबते सूरज की तस्वीर के साथ लिखा है “First ever photo of a sunset on Mars.” जिसका हिंदी अनुवाद होता है “मंगल पर सूर्यास्त की पहली तस्वीर।”

 

एक ट्विटर यूजर ने इस फोटो को शेयर करते हुए लिखा, “मंगल ग्रह में होने वाले सूर्यास्त की पहली फोटो।”

एक ट्विटर यूजर ने इस फोटो को शेयर करते हुए लिखा, “मंगल ग्रह में होने वाले सूर्यास्त की पहली फोटो।”

फेक चेक

 

इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें gettyimages पर यह तस्वीर मिली। तस्वीर के साथ लिखा लिखी जानकारी के अनुसार यह एक ग्राफ़िकली तैयार की गयी तस्वीर है जिसे साइंस फोटो लाइब्रेरी के मार्क गार्लिक ने बनाया है। मार्क गार्लिक की वेबसाइट के मुताबिक, वे इंग्लैंड में होव नाम की जगह पर रहने वाले एक इलस्ट्रेटर, लेखक और कम्प्यूटर एनिमेटर हैं। बतौर कलाकार वे विज्ञान, तकनीक, अंतरिक्ष, खगोल विज्ञान आदि में विशेषज्ञता रखते हैं।

 

फेक चेक

 

इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें gettyimages पर यह तस्वीर मिली। तस्वीर के साथ लिखा लिखी जानकारी के अनुसार यह एक ग्राफ़िकली तैयार की गयी तस्वीर है जिसे साइंस फोटो लाइब्रेरी के मार्क गार्लिक ने बनाया है। मार्क गार्लिक की वेबसाइट के मुताबिक, वे इंग्लैंड में होव नाम की जगह पर रहने वाले एक इलस्ट्रेटर, लेखक और कम्प्यूटर एनिमेटर हैं। बतौर कलाकार वे विज्ञान, तकनीक, अंतरिक्ष, खगोल विज्ञान आदि में विशेषज्ञता रखते हैं।

 

हमें यह तस्वीर alamy और sciencephoto.com पर भी मिली। दोनों वेबसाइटों पर दी गयी जानकारी के अनुसार यह एक इलस्ट्रेशन यानि चित्रण है, कोई असली तस्वीर नहीं।

 

हमें यह तस्वीर alamy और sciencephoto.com पर भी मिली। दोनों वेबसाइटों पर दी गयी जानकारी के अनुसार यह एक इलस्ट्रेशन यानि चित्रण है, कोई असली तस्वीर नहीं।

 

मार्क ने ट्विटर पर एक पोस्ट लिखकर दुख जताया है कि उनके बनाए आर्टवर्क को लोग मंगल ग्रह के सूर्यास्त की पहली फोटो के नाम पर शेयर कर रहे हैं। मार्क ने ये चित्र मंगल ग्रह पर होने वाले सूर्यास्त से जुड़ी अपनी कल्पना के आधार पर बनाया था। फेसबुक पर भी बहुत सारे लोग इस फोटो को मंग्रल ग्रह के सूर्यास्त की पहली फोटो समझ कर शेयर कर रहे हैं।

मार्क ने ट्विटर पर एक पोस्ट लिखकर दुख जताया है कि उनके बनाए आर्टवर्क को लोग मंगल ग्रह के सूर्यास्त की पहली फोटो के नाम पर शेयर कर रहे हैं। मार्क ने ये चित्र मंगल ग्रह पर होने वाले सूर्यास्त से जुड़ी अपनी कल्पना के आधार पर बनाया था। फेसबुक पर भी बहुत सारे लोग इस फोटो को मंग्रल ग्रह के सूर्यास्त की पहली फोटो समझ कर शेयर कर रहे हैं।

ये निकला नतीजा

 

ढूंढ़ने पर हमें नासा की वेबसाइट पर मार्स पर सूर्यास्त की तस्वीरें मिलीं। यह तस्वीर मार्स की नहीं है, इसे एक ग्राफिक आर्टिस्ट ने एडिटिंग टूल्स की मदद से बनाया है।

ये निकला नतीजा

 

ढूंढ़ने पर हमें नासा की वेबसाइट पर मार्स पर सूर्यास्त की तस्वीरें मिलीं। यह तस्वीर मार्स की नहीं है, इसे एक ग्राफिक आर्टिस्ट ने एडिटिंग टूल्स की मदद से बनाया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios