Asianet News Hindi

Fake Check: उत्तरांचल यूनिवर्सिटी ने सभी बच्चों के लिए अनिवार्य किया भगवा स्कार्फ? जानें पूरी सच्चाई

First Published Mar 27, 2021, 1:22 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फेक चेक डेस्क.  पांच राज्यों में चुनाव हैं और भाजपा सहित कई पार्टियां प्रचार-प्रसार में जुटी हैं। इस बीच बीजेपी की लहर का असर दिखाने सोशल मीडिया पर उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह को लेकर एक दावा वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर केसरिया स्कार्फ पहन कर सेल्फी खिंचवाते कुछ छात्र-छात्राओं की फोटो शेयर हो रही है। यूजर्स का दावा है कि ये उत्तरांचल यूनिवर्सिटी, उत्तराखंड के दीक्षांत समारोह की फोटो है जहां इस साल काले कोट-टोपी की जगह पारंपरिक कपड़ों के साथ भगवा रंग का स्कार्फ पहनकर डिग्री लेने की नई परंपरा शुरू की गई है। यूनिर्सिटी ने इस साल सभी स्टू़डेंट्स के लिए भगवा स्कॉर्फ अनिवार्य कर दिया। फेक चेक में आइए जानते हैं कि क्या है ये सच है? 
 

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

एक फेसबुक यूजर ने ये फोटो शेयर करते हुए कैप्शन लिखा, “उतंराचल यूनिवर्सिटी, उत्तराखन्ड ने अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही परम्परा को खत्म करते हुये दीक्षांत समारोह मे इस वर्ष काले कोट और काले टोप की जगह सभी स्टूडेन्ट को भगवा पहनाकर डिग्री प्रदान की, उम्मीद है, इस परंपरा का पालन ज्यादा से ज्यादा हो, सनातन धर्म सर्वश्रेष्ठ है।”

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

एक फेसबुक यूजर ने ये फोटो शेयर करते हुए कैप्शन लिखा, “उतंराचल यूनिवर्सिटी, उत्तराखन्ड ने अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही परम्परा को खत्म करते हुये दीक्षांत समारोह मे इस वर्ष काले कोट और काले टोप की जगह सभी स्टूडेन्ट को भगवा पहनाकर डिग्री प्रदान की, उम्मीद है, इस परंपरा का पालन ज्यादा से ज्यादा हो, सनातन धर्म सर्वश्रेष्ठ है।”

एक ट्विटर यूजर ने उत्तरांचल यूनिवर्सिटी में सभी छात्रों के केसरिया स्कार्फ पहनने के दावे पर लिखा, “उत्तरांचल यूनिवर्सिटी उम्मीद करता हूं कि दूसरे यूनिवर्सिटीज भी इससे सीख लेकर इस परंपरा को आगे बढ़ाने का काम करेंगे।”

एक ट्विटर यूजर ने उत्तरांचल यूनिवर्सिटी में सभी छात्रों के केसरिया स्कार्फ पहनने के दावे पर लिखा, “उत्तरांचल यूनिवर्सिटी उम्मीद करता हूं कि दूसरे यूनिवर्सिटीज भी इससे सीख लेकर इस परंपरा को आगे बढ़ाने का काम करेंगे।”

फेक चेक 

 

सबसे बड़ा झूठ तो इस तस्वीर के साथ जो वायरल है वो ये कि इस साल अबतक उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह का आयोजन नहीं हुआ है। सोशल मीडिया यूजर्स पिछले साल यानी 2020 के आयोजन की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं। उस साल भी स्टूडेंट्स के लिए सिर्फ भगवा रंग का ड्रेस कोड नहीं था, बल्कि छात्रों-छात्राओं ने अलग-अलग रंग के स्कार्फ भी पहने थे।

फेक चेक 

 

सबसे बड़ा झूठ तो इस तस्वीर के साथ जो वायरल है वो ये कि इस साल अबतक उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह का आयोजन नहीं हुआ है। सोशल मीडिया यूजर्स पिछले साल यानी 2020 के आयोजन की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं। उस साल भी स्टूडेंट्स के लिए सिर्फ भगवा रंग का ड्रेस कोड नहीं था, बल्कि छात्रों-छात्राओं ने अलग-अलग रंग के स्कार्फ भी पहने थे।

हमने सबसे पहले वायरल तस्वीर को गौर से देखा। तस्वीर में दिख रहे युवक और युवतियों में से किसी के चेहरे पर मास्क नहीं दिख रहा है। कोविड-19 के संक्रमण के दौरान सभी शैक्षणिक संस्थानों में कोविड प्रोटोकॉल को फॉलो किया जा रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स वायरल तस्वीर को इस साल (2021) के दीक्षांत समारोह की तस्वीरें बता रहे हैं। ऐसे में किसी का मास्क न लगाए होने से ये सवाल खड़ा होता है कि कहीं तस्वीर पुरानी तो नहीं। 

 

हमने सबसे पहले वायरल तस्वीर को गौर से देखा। तस्वीर में दिख रहे युवक और युवतियों में से किसी के चेहरे पर मास्क नहीं दिख रहा है। कोविड-19 के संक्रमण के दौरान सभी शैक्षणिक संस्थानों में कोविड प्रोटोकॉल को फॉलो किया जा रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स वायरल तस्वीर को इस साल (2021) के दीक्षांत समारोह की तस्वीरें बता रहे हैं। ऐसे में किसी का मास्क न लगाए होने से ये सवाल खड़ा होता है कि कहीं तस्वीर पुरानी तो नहीं। 

 

कोई ड्रेस कोड नहीं था

 

पड़ताल के लिए जरूरी कीवर्ड्स से इसे इंटरनेट पर खोजा। uttaranchal university convocation कीवर्ड्स से सर्च करने पर हमें यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर 29 फरवरी 2020 को प्रकाशित एक ब्लॉग मिला। इस ब्लॉग में उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के पहले दीक्षांत समारोह के आयोजन की रिपोर्ट दी गई है। यह आयोजन पिछले साल 29 फरवरी को उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के स्वामी विवेकानंद ऑडिटोरियम में किया गया था। इस ब्लॉग पोस्ट में तमाम तस्वीरें दी हुई हैं। इनमें मौजूद लोग भगवा के अलावा दूसरे रंगों के गमछे पहने हुए भी दिख रहे हैं।

कोई ड्रेस कोड नहीं था

 

पड़ताल के लिए जरूरी कीवर्ड्स से इसे इंटरनेट पर खोजा। uttaranchal university convocation कीवर्ड्स से सर्च करने पर हमें यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर 29 फरवरी 2020 को प्रकाशित एक ब्लॉग मिला। इस ब्लॉग में उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के पहले दीक्षांत समारोह के आयोजन की रिपोर्ट दी गई है। यह आयोजन पिछले साल 29 फरवरी को उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के स्वामी विवेकानंद ऑडिटोरियम में किया गया था। इस ब्लॉग पोस्ट में तमाम तस्वीरें दी हुई हैं। इनमें मौजूद लोग भगवा के अलावा दूसरे रंगों के गमछे पहने हुए भी दिख रहे हैं।

दीक्षांत समारोह 2020 की एक-एक करके सारी तस्वीरों को हमने गौर से देखा। इसमें हमको ऐसे भी कई तस्वीरें मिलीं, जिनमें युवक और युवतियां भगवा के अलावा दूसरे रंगों (जैसे नीले रंग) के गमछे पहने भी नजर आए। ऐसी ही एक तस्वीर को यहां नीचे देखा जा सकता है। हमें वायरल तस्वीर में सेल्फी लेती हुई युवती की भी डिग्री लेते हुए तस्वीर मिल गई। 

दीक्षांत समारोह 2020 की एक-एक करके सारी तस्वीरों को हमने गौर से देखा। इसमें हमको ऐसे भी कई तस्वीरें मिलीं, जिनमें युवक और युवतियां भगवा के अलावा दूसरे रंगों (जैसे नीले रंग) के गमछे पहने भी नजर आए। ऐसी ही एक तस्वीर को यहां नीचे देखा जा सकता है। हमें वायरल तस्वीर में सेल्फी लेती हुई युवती की भी डिग्री लेते हुए तस्वीर मिल गई। 

ये निकला नतीजा 

 

उत्तरांचल यूनिवर्सिटी को लेकर किया जा रहा ये दावा भ्रामक साबित हुआ है। इस साल अबतक उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह का आयोजन नहीं हुआ है। सोशल मीडिया यूजर्स पिछले साल यानी 2020 के आयोजन की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं। उस साल भी स्टूडेंट्स के लिए सिर्फ भगवा रंग का ड्रेस कोड नहीं था, बल्कि छात्रों-छात्राओं ने अलग-अलग रंग के स्कार्फ भी पहने थे। पड़ताल में नतीजा साफ हो गया कि उत्तरांचल यूनिवर्सिटी में इस साल सभी छात्र-छात्राओं के भगवा स्कार्फ पहन कर डिग्री लेने का दावा भ्रामक है।

ये निकला नतीजा 

 

उत्तरांचल यूनिवर्सिटी को लेकर किया जा रहा ये दावा भ्रामक साबित हुआ है। इस साल अबतक उत्तरांचल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह का आयोजन नहीं हुआ है। सोशल मीडिया यूजर्स पिछले साल यानी 2020 के आयोजन की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं। उस साल भी स्टूडेंट्स के लिए सिर्फ भगवा रंग का ड्रेस कोड नहीं था, बल्कि छात्रों-छात्राओं ने अलग-अलग रंग के स्कार्फ भी पहने थे। पड़ताल में नतीजा साफ हो गया कि उत्तरांचल यूनिवर्सिटी में इस साल सभी छात्र-छात्राओं के भगवा स्कार्फ पहन कर डिग्री लेने का दावा भ्रामक है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios