Asianet News Hindi

आखिर रात में खाना चाहिए चावल या रोटी? अभी जानें डायटीशियन से सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले इस सवाल का सही जवाब

First Published Nov 30, 2020, 2:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फूड डेस्क : हम कितना भी पनीर, छोले - कुलचे या नॉनवेज खा लें पर आज भी सबसे ज्यादा रोटी - सब्जी और दाल-चावल ही पसंद किया जाता हैं। बच्चों से लेकर बड़े तक इसे बड़े मजे से खाते है। पर आज कल लोगों में वजन घटाने का क्रेज बढ़ता जा रहा है। ऐसे में लोग सबसे पहले रात में चावल और रोटी खाना छोड़ देते हैं क्योंकि इसमें कार्बोहायड्रेट होता है। लेकिन आपको बता दें कि कार्ब्स हमारे शरीर के लिए बहुत जरुरी है। ऐसे में इंसान यह सोचता है की क्या खाएं, क्या ना खाएं? अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो आज हम आपको बताते हैं कि रात रोटी या चावल में से रात को क्या खाना चाहिए?

कोई भी खाना आपके लिए तभी हेल्दी होता है जब वो आपको संतुष्टि दे। मन मारकर अगर आप डाइट भी करते हैं तो उससे आपके शरीर को ही नुकसान होगा।

कोई भी खाना आपके लिए तभी हेल्दी होता है जब वो आपको संतुष्टि दे। मन मारकर अगर आप डाइट भी करते हैं तो उससे आपके शरीर को ही नुकसान होगा।

वजन कम करने के लिए लोग सबसे पहले रोटी और चावल दोनों को अपनी डाइट से हटा देते हैं। लेकिन इन्हें अपनी डाइट से एकदम हटा देने से शरीर में कमजोरी आ जाती है।

वजन कम करने के लिए लोग सबसे पहले रोटी और चावल दोनों को अपनी डाइट से हटा देते हैं। लेकिन इन्हें अपनी डाइट से एकदम हटा देने से शरीर में कमजोरी आ जाती है।

रोटी और चावल दोनों के अपने-अपने गुण हैं। जहां रोटी खाने से पूरा दिन पेट भरा रहता है वहीं चावल में मौजूद स्टार्च की वजह से वो जल्दी डाइजेस्ट हो जाता है।
 

रोटी और चावल दोनों के अपने-अपने गुण हैं। जहां रोटी खाने से पूरा दिन पेट भरा रहता है वहीं चावल में मौजूद स्टार्च की वजह से वो जल्दी डाइजेस्ट हो जाता है।
 

चावल और रोटी के पोषक तत्वों की बात करें तो इनमे सिर्फ सोडियम की मात्रा में फर्क है। चावल में काफी कम सोडियम होता है जबकि रोटी (120 ग्राम आटा) में 190 मिलीग्राम सोडियम होता है। अगर आप अपनी डाइट से सोडियम खत्म करना चाहते हैं तो रोटियां खाना बंद कर सकते है।

चावल और रोटी के पोषक तत्वों की बात करें तो इनमे सिर्फ सोडियम की मात्रा में फर्क है। चावल में काफी कम सोडियम होता है जबकि रोटी (120 ग्राम आटा) में 190 मिलीग्राम सोडियम होता है। अगर आप अपनी डाइट से सोडियम खत्म करना चाहते हैं तो रोटियां खाना बंद कर सकते है।

चावल में रोटी के मुकाबले फाइबर, प्रोटीन और फैट की मात्रा कम होती है लेकिन चावल में कैलोरीज रोटी से ज्यादा होती हैं। इसी के साथ चावल में पानी में मिल जाने वाला विटामिन होता है, यह स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। यह आसानी से डाइजेस्ट भी हो जाता है।
 

चावल में रोटी के मुकाबले फाइबर, प्रोटीन और फैट की मात्रा कम होती है लेकिन चावल में कैलोरीज रोटी से ज्यादा होती हैं। इसी के साथ चावल में पानी में मिल जाने वाला विटामिन होता है, यह स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। यह आसानी से डाइजेस्ट भी हो जाता है।
 

रोटी से कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, फॉस्फोरस शरीर में पहुंचता है। जबकि चावल में कैल्शियम नहीं होता और इसमें पोटेशियम और फॉस्फोरस भी कम मात्रा में होता है।

रोटी से कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, फॉस्फोरस शरीर में पहुंचता है। जबकि चावल में कैल्शियम नहीं होता और इसमें पोटेशियम और फॉस्फोरस भी कम मात्रा में होता है।

रात से सुबह के बीच खाने में टाइम में गैप ज्यादा होता है इसलिए रात को खाने में रोटी खाना बेहतर है। डिनर में मिस्सी रोटी भी खायी जा सकती है क्योंकि इसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है।

रात से सुबह के बीच खाने में टाइम में गैप ज्यादा होता है इसलिए रात को खाने में रोटी खाना बेहतर है। डिनर में मिस्सी रोटी भी खायी जा सकती है क्योंकि इसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है।

यूं तो हेल्दी डाइट के लिए चावल और रोटी दोनों ही अच्छे हैं, लेकिन वजन घटाने में चावल की तुलना में रोटी बेहतर विकल्प है।

यूं तो हेल्दी डाइट के लिए चावल और रोटी दोनों ही अच्छे हैं, लेकिन वजन घटाने में चावल की तुलना में रोटी बेहतर विकल्प है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios