Asianet News Hindi

इस महाशिवरात्रि भगवान भोलेनाथ को लगाएं ये भोग, तीन तरह के प्रसाद चढ़ाने से खुश होते हैं शिवजी

First Published Mar 9, 2021, 11:01 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फूड डेस्क: महाशिवरात्रि (mahashivratri 2021) का पावन पर्व इस बार 11 मार्च को पड़ रहा है। यह दिन भगवान शिव (lord shiva) को मनाने और उनकी कृपा पाने के लिए बहुत खास होता है। इस दिन भगवान शिव की बारात निकाली जाती है और उन्हें तरह-तरह के भोग लगाएं जाते हैं। वैसे तो भगवान शिव केवल को एक लोटा जल और बेलपत्र अर्पित करने से ही वो प्रसन्न हो जाते हैं, लेकिन शिवरात्रि के दिन भगवान को भांग चढ़ाने का भी विशेष महत्व होता है।  ऐसी मान्यता है कि भांग, भगवान शिव को बेहद प्रिय है और महाशिवरात्रि के मौके पर भांग, भोलेनाथ को चढ़ाकर प्रसाद के रूप में उसका सेवन भी किया जाता है, तो चलिए आज हम आपको बताते हैं, इससे बनने वाले कुछ खास प्रसाद के बारे में, जिसे भोग स्वरूप आप भोलेनाथ अर्पित कर सकते हैं और सभी लोग इसका चांव से सेवन भी कर सकते हैं।

शिवरात्रि के दिन सबसे पहले आप स्नान करें। इसके बाद भगवान शिव की पूजा करने से पहले शिवलिंग को स्नान करवाकर उसका अभिषेक जरूर करें। इसके लिए एक पात्र में केसर, दूध, दही, घी, इत्र, शहद, चंदन, भांग और चीनी को मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए।

शिवरात्रि के दिन सबसे पहले आप स्नान करें। इसके बाद भगवान शिव की पूजा करने से पहले शिवलिंग को स्नान करवाकर उसका अभिषेक जरूर करें। इसके लिए एक पात्र में केसर, दूध, दही, घी, इत्र, शहद, चंदन, भांग और चीनी को मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए।

शिवरात्रि के दिन साफ और पूरे कम से कम 11 और अधिकतम 1001 बेल पत्र लें। उस पर सफेद चंदन से राम-राम लिख दें। इसके बाद शिवलिंग के ऊपर एक-एक करके बेल पत्र अर्पित करें और हर बार भोलेनाथ के अलग-अलग नामों का उच्चारण करें। अगले दिन के सूर्योदय से पहले चढ़ाई गई बेलपत्र का विसर्जित कर देना चाहिए।

शिवरात्रि के दिन साफ और पूरे कम से कम 11 और अधिकतम 1001 बेल पत्र लें। उस पर सफेद चंदन से राम-राम लिख दें। इसके बाद शिवलिंग के ऊपर एक-एक करके बेल पत्र अर्पित करें और हर बार भोलेनाथ के अलग-अलग नामों का उच्चारण करें। अगले दिन के सूर्योदय से पहले चढ़ाई गई बेलपत्र का विसर्जित कर देना चाहिए।

भगवान के अभिषेक के साथ-साथ इस दिन शिवजी को खास भोग चढ़ाने का भी विशेष महत्व होता हैं। बेल पत्र चढ़ाने के बाद गुड़ से बना पुआ, हलवा और कच्चे चने का भोग भोलेनाथ को जरूर लगाएं। इन तीन भोग को चढ़ाने से शिवजी बहुत प्रसन्न होते हैं।

भगवान के अभिषेक के साथ-साथ इस दिन शिवजी को खास भोग चढ़ाने का भी विशेष महत्व होता हैं। बेल पत्र चढ़ाने के बाद गुड़ से बना पुआ, हलवा और कच्चे चने का भोग भोलेनाथ को जरूर लगाएं। इन तीन भोग को चढ़ाने से शिवजी बहुत प्रसन्न होते हैं।

इसके साथ ही इस दिन भगवान को भांग चढ़ाने का भी विशेष महत्व हैं। शिवरात्रि के दिन भांग से बनी चीजों का भोग लगाकर भक्तों को उसका सेवन भी करना चाहिए। लेकिन कई लोग भांग का सेवन इसलिए नहीं करते क्योंकि उन्हें लगता है कि इससे नशा होता है। आज हम आपको बताते हैं भांग से बनने वाले ऐसे भोग, जिससे ना ही नशा होगा और आपको भोग को पूरा फल भी मिलेगा।

इसके साथ ही इस दिन भगवान को भांग चढ़ाने का भी विशेष महत्व हैं। शिवरात्रि के दिन भांग से बनी चीजों का भोग लगाकर भक्तों को उसका सेवन भी करना चाहिए। लेकिन कई लोग भांग का सेवन इसलिए नहीं करते क्योंकि उन्हें लगता है कि इससे नशा होता है। आज हम आपको बताते हैं भांग से बनने वाले ऐसे भोग, जिससे ना ही नशा होगा और आपको भोग को पूरा फल भी मिलेगा।

मालपुआ भगवान शिव को बहुत पसंद होता है। ऐसे में अगर इस बार आप शिवरात्रि पर मालपुआ बनाने चाहते हैं, तो उसमें थोड़ा सा भांग का पाउडर मिला दें। इससे मालपुए का स्वाद भी बढ़ जाएगा और भोग में भांग भी शामिल हो जाएगी।

मालपुआ भगवान शिव को बहुत पसंद होता है। ऐसे में अगर इस बार आप शिवरात्रि पर मालपुआ बनाने चाहते हैं, तो उसमें थोड़ा सा भांग का पाउडर मिला दें। इससे मालपुए का स्वाद भी बढ़ जाएगा और भोग में भांग भी शामिल हो जाएगी।

शिवरात्रि आते-आते मौसम में थोड़ी गर्माहट भी आ जाती है। ऐसे में भोग के रूप में अधिकतर लोग ठंडई बनाते हैं। इस ठंडई में अगर भांग मिला दी जाए, तो क्या ही कहना। इससे न सिर्फ इसका स्वाद दोगुना होता है बल्कि भोलेनाथ भी बहुत प्रसन्न होते हैं। दूध, चीनी और भांग के साथ-साथ आप ठंडई में बादाम, काजू, पिस्ता, सौंफ, खसखस, इलायची और केसर भी जरूर डालें।

शिवरात्रि आते-आते मौसम में थोड़ी गर्माहट भी आ जाती है। ऐसे में भोग के रूप में अधिकतर लोग ठंडई बनाते हैं। इस ठंडई में अगर भांग मिला दी जाए, तो क्या ही कहना। इससे न सिर्फ इसका स्वाद दोगुना होता है बल्कि भोलेनाथ भी बहुत प्रसन्न होते हैं। दूध, चीनी और भांग के साथ-साथ आप ठंडई में बादाम, काजू, पिस्ता, सौंफ, खसखस, इलायची और केसर भी जरूर डालें।

ठंडई के अलावा आप लस्सी में भी भांग का ट्विस्ट देकर इसे और भी मजेदार बना सकते हैं। इसके लिए आप आधा किलो दही में थोड़ा दूध, चीनी और 1 चम्मच के करीब भांग पाउडर मिला दें और मथनी से या मिक्सी में इसको अच्छे से मिक्स कर लें। भगवान को भोग के साथ-साथ आप इसे मेहमानों के लिए भी सर्व कर सकते हैं।

ठंडई के अलावा आप लस्सी में भी भांग का ट्विस्ट देकर इसे और भी मजेदार बना सकते हैं। इसके लिए आप आधा किलो दही में थोड़ा दूध, चीनी और 1 चम्मच के करीब भांग पाउडर मिला दें और मथनी से या मिक्सी में इसको अच्छे से मिक्स कर लें। भगवान को भोग के साथ-साथ आप इसे मेहमानों के लिए भी सर्व कर सकते हैं।

मीठे के साथ-साथ शिवरात्रि पर आप भांग से कुछ नमकीन भी बना सकते हैं। इस दिन आप भांग के पकौड़े ट्राई कर सकते हैं। इसके लिए बेसन और सब्जियों को मिलाकर बनने वाले नॉर्मल पकौड़ों में आपको थोड़ा सा भांग का पाउडर मिला दें और बस सिंपल पकौड़ों की तरह इस फ्राई कर लें। याद रखें की भोग लगाने के लिए अगर आप इसे बना रहे हैं, तो इसमें प्याज-लहसुन नहीं डालें।

मीठे के साथ-साथ शिवरात्रि पर आप भांग से कुछ नमकीन भी बना सकते हैं। इस दिन आप भांग के पकौड़े ट्राई कर सकते हैं। इसके लिए बेसन और सब्जियों को मिलाकर बनने वाले नॉर्मल पकौड़ों में आपको थोड़ा सा भांग का पाउडर मिला दें और बस सिंपल पकौड़ों की तरह इस फ्राई कर लें। याद रखें की भोग लगाने के लिए अगर आप इसे बना रहे हैं, तो इसमें प्याज-लहसुन नहीं डालें।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios