Asianet News Hindi

92 किलो के शख्स ने 3 महीने घटाया 29 Kg, बॉडी बिल्डर बन जब लहराया तिरंगा तो मजाक उड़ाने वाले रह गए दंग

First Published Jan 9, 2021, 7:19 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हेल्थ डेस्क. Weight Loss Story:  दोस्तों फिटनेस को लेकर जागरूक होने से आप खुद को लंबी उम्र को तोहफा देते हैं। फिट रहेंगे तो हिट रहेंगे। अच्छी हेल्थ मिलेगी बीमारियां कम होंगी। इसलिए अगर आप भी बढ़ते वजन को कम करने की सोच रहे हैं तो आज ही इसके लिए सीरियस हो जाएं। वेट लॉस के लिए मोटिवेट होना है तो हम आपको वेट लॉस की जादुई कहानियां सीरिज के साथ सैकड़ों फैट टू फिट लोगों के बारे में बता रहे हैं। ये ऐसे लोग हैं जो कभी बेहद हेल्दी होते थे। वजन के लिए इनका मजाक उड़ता था।  लेकिन आज ये एक प्रेरणा बन गए हैं। फिटनेस बनाकर कुछ लोग तो सेलिब्रिट भी बन जाते हैं। वेट लॉस सीरीज में आज मैं आपको एक ऐसे शख्स की फिटनेस जर्नी के बारे में बताएंगे जिसका लोग मजाक उड़ाते थे। लेकिन उसने लोगों की मजाक से हताश न होकर सही दिशा में मेहनत जारी रखी। उसकी मेहनत और लगन का ही नतीजा रहा कि उसने 6 पैक एब्स हासिल करने के साथ ही कई बॉडी बिल्डिंग कॉम्पिटिशन भी जीते।

आइए जानते हैं आखिर फैट- टू-फिट होने की जर्नी कैसी थी। उसे इस दौरान किन परेशानियों का सामना करना पड़ा और उसने उन पर जीत कैसे हासिल की?

आइए जानते हैं आखिर फैट- टू-फिट होने की जर्नी कैसी थी। उसे इस दौरान किन परेशानियों का सामना करना पड़ा और उसने उन पर जीत कैसे हासिल की?

94 से 65 किलो तक का सफर

 

mensxp.com पर ये कहानी साझा की है साईं प्रसाद सुरेन्द्र सिंह रदेशी (Sai Prasad surendra singh pardeshi) ने वो आज एक जबरदस्त बॉडी बिल्डर हैं। वह पुणे के के रहने वाले हैं और लोगों के लिए फिटनेस और बॉडी बिल्डिंग में एक इंस्पिरेशन है। साईं ने 29 किलो वजन कम करके लोगों को हैरान कर दिया था। 
 

94 से 65 किलो तक का सफर

 

mensxp.com पर ये कहानी साझा की है साईं प्रसाद सुरेन्द्र सिंह रदेशी (Sai Prasad surendra singh pardeshi) ने वो आज एक जबरदस्त बॉडी बिल्डर हैं। वह पुणे के के रहने वाले हैं और लोगों के लिए फिटनेस और बॉडी बिल्डिंग में एक इंस्पिरेशन है। साईं ने 29 किलो वजन कम करके लोगों को हैरान कर दिया था। 
 

साईं फिलहाल ग्रेजुएशन कर रहे हैं, साथ ही जिम में बतौर फिटनेस ट्रेनर जॉब भी करते हैं। उन्होंने बताया कि वह फिटनेस को शुरू से ही पसंद करते थे। साईं ने 17 साल की उम्र में पहली बार बॉडी बिल्डिंग कॉम्पिटिशन में पार्टिसिपेट किया था। उन्होंने आगे फिटनेस फील्ड में जाने का मन बनाया था लेकिन किस्मत ने उनके साथ धोखा किया। उन्हें डेंगू हो गया।

साईं फिलहाल ग्रेजुएशन कर रहे हैं, साथ ही जिम में बतौर फिटनेस ट्रेनर जॉब भी करते हैं। उन्होंने बताया कि वह फिटनेस को शुरू से ही पसंद करते थे। साईं ने 17 साल की उम्र में पहली बार बॉडी बिल्डिंग कॉम्पिटिशन में पार्टिसिपेट किया था। उन्होंने आगे फिटनेस फील्ड में जाने का मन बनाया था लेकिन किस्मत ने उनके साथ धोखा किया। उन्हें डेंगू हो गया।

इसके बाद उनकी पूरी लाइफ स्टाइल ही बदल गई। मेडिसीन की हाई डोज और लाइफ स्टाइल बदलने के कारण उनका वजन काफी बढ़ गया। कुछ ही समय में वह 94 किलो के हो गए। उनका पेट बाहर निकल गया, फेस फैट और लव हैंडल्स का फैट भी काफी बढ़ गया। चलने में थकान होने लगी और कपड़े भी XXL साइज के आने लगे। कई लोग कहते कि मैं बुढ्ढा लगने लगा हूं। 
 

इसके बाद उनकी पूरी लाइफ स्टाइल ही बदल गई। मेडिसीन की हाई डोज और लाइफ स्टाइल बदलने के कारण उनका वजन काफी बढ़ गया। कुछ ही समय में वह 94 किलो के हो गए। उनका पेट बाहर निकल गया, फेस फैट और लव हैंडल्स का फैट भी काफी बढ़ गया। चलने में थकान होने लगी और कपड़े भी XXL साइज के आने लगे। कई लोग कहते कि मैं बुढ्ढा लगने लगा हूं। 
 

काफी लोग मेरे निकले हुए पेट को लेकर मजाक बनाते थे। बस वही दिन था जब मैंने अपने आपको फिट करने का सोचा। मैं मन बना चुका था कि जो लोग मेरा मजाक बना रहे हैं उनका मुंह बंद कराकर ही रहूंगा।

काफी लोग मेरे निकले हुए पेट को लेकर मजाक बनाते थे। बस वही दिन था जब मैंने अपने आपको फिट करने का सोचा। मैं मन बना चुका था कि जो लोग मेरा मजाक बना रहे हैं उनका मुंह बंद कराकर ही रहूंगा।

इसके बाद साईं ने जिम ट्रेनर से अपनी प्रॉब्लम शेयर की तो उन्होंने काफी मोटिवेट किया। फिर साईं उनकी दी हुई डाइट और वर्कआउट को फॉलो करने लगे। और मात्र 3 महीने बाद रिजल्ट मिल गया। 3 महीने बाद उन्होंने बॉडी बिल्डिंग कॉम्पिटिशन में पार्टिसिपेट किया और उसे जीतकर भी दिखाया।

इसके बाद साईं ने जिम ट्रेनर से अपनी प्रॉब्लम शेयर की तो उन्होंने काफी मोटिवेट किया। फिर साईं उनकी दी हुई डाइट और वर्कआउट को फॉलो करने लगे। और मात्र 3 महीने बाद रिजल्ट मिल गया। 3 महीने बाद उन्होंने बॉडी बिल्डिंग कॉम्पिटिशन में पार्टिसिपेट किया और उसे जीतकर भी दिखाया।

साईं ने अपने नाम कई अवॉर्ड किए इनमें ये शामिल हैं- 

 

जूनियर मिस्टर महाराष्ट्र 2018- 2019 (Jr. MR. Maharashtra 2018- 2019)
जूनियर मिस्टर पुणे 2018- 2019 (Jr. MR. Pune 2018-2019)
मिस्टर पुणे बेस्ट पोजर 2018 (Mr. Pune Best poser 2018) 

साईं ने अपने नाम कई अवॉर्ड किए इनमें ये शामिल हैं- 

 

जूनियर मिस्टर महाराष्ट्र 2018- 2019 (Jr. MR. Maharashtra 2018- 2019)
जूनियर मिस्टर पुणे 2018- 2019 (Jr. MR. Pune 2018-2019)
मिस्टर पुणे बेस्ट पोजर 2018 (Mr. Pune Best poser 2018) 

अब ये मिस्टर इंडिया में पार्टिसिपेट करने की तैयारी कर रहे हैं। 

 

साईं ने मुझे बताया कि मेरे जिम ट्रेनर ने मुझे डाइट बनाकर दी थी। मैंने उसे 3 महीने तक फॉलो किया और उससे मेरा धीरे-धीरे वजन कम हुआ। शुरुआत में 1-2 हफ्ते तक रिजल्ट नहीं मिलने पर मैं हताश भी हुआ। लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी और डाइट से बिल्कुल चीट नहीं किया। समय गुजरने के साथ-साथ मुझे रिजल्ट मिलने लगा और आज मैं आपके सामने हूं।

अब ये मिस्टर इंडिया में पार्टिसिपेट करने की तैयारी कर रहे हैं। 

 

साईं ने मुझे बताया कि मेरे जिम ट्रेनर ने मुझे डाइट बनाकर दी थी। मैंने उसे 3 महीने तक फॉलो किया और उससे मेरा धीरे-धीरे वजन कम हुआ। शुरुआत में 1-2 हफ्ते तक रिजल्ट नहीं मिलने पर मैं हताश भी हुआ। लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी और डाइट से बिल्कुल चीट नहीं किया। समय गुजरने के साथ-साथ मुझे रिजल्ट मिलने लगा और आज मैं आपके सामने हूं।

वजन कम करने के लिए मैंने इस डाइट को फॉलो किया था।

पहला मील : प्री-वर्कआउट

ब्राउन ब्रेड और हनी (brown brade and honey)
ऑफ्टर वर्कआउट मील
व्हे प्रोटीन (whey protein)

दूसरा  मील : ब्रेकफास्ट
4 एग और 1 सेब (eggs and apple)

तीसरी मील : स्नैक्स

2 संतरे और 1 सेब (orange and apple)

वजन कम करने के लिए मैंने इस डाइट को फॉलो किया था।

पहला मील : प्री-वर्कआउट

ब्राउन ब्रेड और हनी (brown brade and honey)
ऑफ्टर वर्कआउट मील
व्हे प्रोटीन (whey protein)

दूसरा  मील : ब्रेकफास्ट
4 एग और 1 सेब (eggs and apple)

तीसरी मील : स्नैक्स

2 संतरे और 1 सेब (orange and apple)

चौथा मील : लंच

4 एग और सलाद (eggs and salad)

पांचवा मील : स्नैक्स
4 एग और ड्राईफ्रूट (eggs and drifuits)

प्री-वर्कआउट (इवनिंग)
उबले हुए ओट्स (Boiled Oats)
ऑफ्टर वर्कआउट मील
व्हे प्रोटीन (whey protein)

छठा मील : डिनर 
4 एग और सलाद (eggs and salad)
 

चौथा मील : लंच

4 एग और सलाद (eggs and salad)

पांचवा मील : स्नैक्स
4 एग और ड्राईफ्रूट (eggs and drifuits)

प्री-वर्कआउट (इवनिंग)
उबले हुए ओट्स (Boiled Oats)
ऑफ्टर वर्कआउट मील
व्हे प्रोटीन (whey protein)

छठा मील : डिनर 
4 एग और सलाद (eggs and salad)
 

यह था वर्कआउट शेड्यूल

 

मैं दिन में 2 बार 2-3 घंटे वर्कआउट करता था। सुबह 1 बड़ा बॉडी पार्ट जैसे : लेग, चेस्ट और बैक के साथ कार्डियो करता था। शाम के समय स्माल बॉडी पार्ट के साथ एब्स करता था। इसमें सुबह चेस्ट एक्सरसाइज, शाम को ट्राइसेप्स एक्सरसाइज करते थे। 
 

यह था वर्कआउट शेड्यूल

 

मैं दिन में 2 बार 2-3 घंटे वर्कआउट करता था। सुबह 1 बड़ा बॉडी पार्ट जैसे : लेग, चेस्ट और बैक के साथ कार्डियो करता था। शाम के समय स्माल बॉडी पार्ट के साथ एब्स करता था। इसमें सुबह चेस्ट एक्सरसाइज, शाम को ट्राइसेप्स एक्सरसाइज करते थे। 
 

जो लोग फैट लॉस करना चाहते हैं उनके लिए मैसेज

 

साईं ने कहा कि कोई भी चीज मुश्किल नहीं होती बस जरूरत है सही दिशा में मेहनत करने की। इसलिए हमेशा किसी भी चीज के पॉजिटिव एंगल को सोचें। वजन कम करने के लिए हमेशा अपने ‘फैट लॉस’ को टारगेट बनाएं न कि ‘वेट लॉस’ को। 24 घंटे में कम से कम 1 घंटा अपने शरीर को जरूर दें ताकि आप फिजिकली एक्टिव रह सकें। पिज्जा, बर्गर, कोल्ड्रिंक जैसी चीजों का सेवन बंद करें क्योंकि इनकी न्यूट्रिशन वैल्यू जीरो और कैलोरी हाई होती है। होल ग्रेन, प्रोटीन, फल, जूस आदि का सेवन करें।
 

जो लोग फैट लॉस करना चाहते हैं उनके लिए मैसेज

 

साईं ने कहा कि कोई भी चीज मुश्किल नहीं होती बस जरूरत है सही दिशा में मेहनत करने की। इसलिए हमेशा किसी भी चीज के पॉजिटिव एंगल को सोचें। वजन कम करने के लिए हमेशा अपने ‘फैट लॉस’ को टारगेट बनाएं न कि ‘वेट लॉस’ को। 24 घंटे में कम से कम 1 घंटा अपने शरीर को जरूर दें ताकि आप फिजिकली एक्टिव रह सकें। पिज्जा, बर्गर, कोल्ड्रिंक जैसी चीजों का सेवन बंद करें क्योंकि इनकी न्यूट्रिशन वैल्यू जीरो और कैलोरी हाई होती है। होल ग्रेन, प्रोटीन, फल, जूस आदि का सेवन करें।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios