Asianet News Hindi

एक चौंकाने वाला क्राइम: जिसे जानकर आप भी अपने बच्चे पर करने लगेंगे निगरानी, जानिए कैसे मासूम बना अपराधी

First Published Mar 16, 2021, 12:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जबलपुर (Madhya Pradesh) । साउथ की एक फिल्म देखकर ब्लैकमेलिंग से परेशान एक 15 साल के लड़के ने 10 साल के बच्चे की हत्या कर दी। जिसका शव 10वें दिन 25 किमी दूर नरसिंहपुर जिले में मुराच घाट के पास से बरामद हुआ। हैरानी की बात यह कि गुनाह को छुपाने के लिए आरोपी पड़ोसी किशोर ने जिस तरीके से खुद के अपहरण का नाटक रची थी, उससे हर कोई हैरान हो गया। हालांकि मोबाइल लोकेशन से पुलिस ने ट्रेस कर हिरासत में ले लिया। जिसके बाद उसने ऐसी सच्चाई बताई, जिसे जानने के बाद हर कोई अपने बच्चों पर नजर जरूर रखना चाहेगा। बता दें कि जुगपुरा थाना बेलखेड़ा निवासी राजा उर्फ धनराज मल्लाह (10) की सोमवार को लाश बरामद हुई, जो पांच मार्च को रात आठ बजे घर से 300 मीटर दूर रहने वाली नानी के घर जाने की बात कहकर निकला था।

पुलिस ने दिखाई कड़ाई तो सुनाई ये हैरान करने वाली कहानी
पुलिस को किशोर ने बताया कि राजा की बहन और वो एक ही स्कूल में 10वीं क्लास में पढ़ते हैं। दोनों एक-दूसरे के पड़ोसी भी हैं, इसलिए उनकी अच्छी दोस्ती हो गई। आरोपी राजा की बहन से फोन पर बातें भी करता था। राजा दोनों की दोस्ती के बारे में जान गया था। अपने मां और पापा को उनकी दोस्ती के बारे में बताने की धमकी देकर पैसे और गेम खेलने के लिए मोबाइल ले लेता था। उसकी ब्लैकमेलिंग से वह तंग आ गया था। जिसके बाद उसने उसे मारने का फैसला किया।
 

पुलिस ने दिखाई कड़ाई तो सुनाई ये हैरान करने वाली कहानी
पुलिस को किशोर ने बताया कि राजा की बहन और वो एक ही स्कूल में 10वीं क्लास में पढ़ते हैं। दोनों एक-दूसरे के पड़ोसी भी हैं, इसलिए उनकी अच्छी दोस्ती हो गई। आरोपी राजा की बहन से फोन पर बातें भी करता था। राजा दोनों की दोस्ती के बारे में जान गया था। अपने मां और पापा को उनकी दोस्ती के बारे में बताने की धमकी देकर पैसे और गेम खेलने के लिए मोबाइल ले लेता था। उसकी ब्लैकमेलिंग से वह तंग आ गया था। जिसके बाद उसने उसे मारने का फैसला किया।
 

ब्लैकमेलिंग से परेशान था आरोपी
राजा दोनों की दोस्ती के बारे में जान गया था। अपने मां और पापा को उनकी दोस्ती के बारे में बताने की धमकी देकर पैसे और गेम खेलने के लिए मोबाइल ले लेता था। उसकी ब्लैकमेलिंग से वह तंग आ गया था। जिसके बाद उसने उसे मारने का फैसला किया।
(मृतक राजा की फाइल फोटो)

ब्लैकमेलिंग से परेशान था आरोपी
राजा दोनों की दोस्ती के बारे में जान गया था। अपने मां और पापा को उनकी दोस्ती के बारे में बताने की धमकी देकर पैसे और गेम खेलने के लिए मोबाइल ले लेता था। उसकी ब्लैकमेलिंग से वह तंग आ गया था। जिसके बाद उसने उसे मारने का फैसला किया।
(मृतक राजा की फाइल फोटो)

ब्लैकमेलिंग से परेशान था आरोपी
राजा दोनों की दोस्ती के बारे में जान गया था। अपने मां और पापा को उनकी दोस्ती के बारे में बताने की धमकी देकर पैसे और गेम खेलने के लिए मोबाइल ले लेता था। उसकी ब्लैकमेलिंग से वह तंग आ गया था। जिसके बाद उसने उसे मारने का फैसला किया।
 

ब्लैकमेलिंग से परेशान था आरोपी
राजा दोनों की दोस्ती के बारे में जान गया था। अपने मां और पापा को उनकी दोस्ती के बारे में बताने की धमकी देकर पैसे और गेम खेलने के लिए मोबाइल ले लेता था। उसकी ब्लैकमेलिंग से वह तंग आ गया था। जिसके बाद उसने उसे मारने का फैसला किया।
 

ऐसे दिया था वारदात को अंजाम
आरोपी ने पुलिस को बताया कि पांच मार्च को उसने बांस के डंडे से राजा के सिर पर मारा था। बेहोश होने पर छोटी नाव से नर्मदा के बीच धारा तक ले गया। इसके बाद उसे पानी में फेंक दिया था। वहीं, पिता रामदास ने 6 मार्च को बेलखेड़ा थाने में उसके अपहरण का केस दर्ज कराया।

ऐसे दिया था वारदात को अंजाम
आरोपी ने पुलिस को बताया कि पांच मार्च को उसने बांस के डंडे से राजा के सिर पर मारा था। बेहोश होने पर छोटी नाव से नर्मदा के बीच धारा तक ले गया। इसके बाद उसे पानी में फेंक दिया था। वहीं, पिता रामदास ने 6 मार्च को बेलखेड़ा थाने में उसके अपहरण का केस दर्ज कराया।


खुद के अपहरण की ऐसे बनाई कहानी
सात मार्च को आरोपी खुद के हाथ-पैर रस्सी से बांधकर मुंह में कपड़ा ठूंस कर जुगपुरा घाट के पास पड़ा रहा। वहां से निकले गांव वालों की नजर पड़ी तो बताया कि कुछ बदमाश उसे अगवा कर ले जा रहे थे। 
(मृतक राजा की मां-बहन)


खुद के अपहरण की ऐसे बनाई कहानी
सात मार्च को आरोपी खुद के हाथ-पैर रस्सी से बांधकर मुंह में कपड़ा ठूंस कर जुगपुरा घाट के पास पड़ा रहा। वहां से निकले गांव वालों की नजर पड़ी तो बताया कि कुछ बदमाश उसे अगवा कर ले जा रहे थे। 
(मृतक राजा की मां-बहन)

लोगों को यह बताना चाहता था आरोपी
बता दें कि आरोपी की मंशा थी कि ऐसा करने पर पुलिस को संदेह जाएगा कि राजा को भी इसी तरह से बदमाश उठा ले गए होंगे। लेकिन, उसने एक गलती कर दी थी, उसने घर की रस्सी का प्रयोग हाथ-पैर बांधने में किया था। इसी के बाद वह संदेह में आया था।
 

लोगों को यह बताना चाहता था आरोपी
बता दें कि आरोपी की मंशा थी कि ऐसा करने पर पुलिस को संदेह जाएगा कि राजा को भी इसी तरह से बदमाश उठा ले गए होंगे। लेकिन, उसने एक गलती कर दी थी, उसने घर की रस्सी का प्रयोग हाथ-पैर बांधने में किया था। इसी के बाद वह संदेह में आया था।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios