16
इस तरह मिले बाप-बेटी: दरअसल, डीएसपी बेटी शाबेरा अंसारी और सब इंस्पेक्टर पिता अशरफ अली अंसारी दोनों संयोग से एक ही थाने में ड्यूटी कर रहे हैं। बता दें कि शाबेरा सीधी जिले के मझौली थाने में डीएसपी पद पर पदस्थ हैं। जबकि अशरफ अली इंदौर के लसूड़िया थाने में बतौस एसआई तैनात हैं। पिता लॉकडाउन से पहले अपनी बेटी से मिलने के लिए सीधी आए थे। इसी दौरान लॉकडाउन कर दिया गया तो वह यहीं फंस गए। जब यह बात अशरफ अली ने अपने सीनियर अफसरों को फोन कर कहा तो उनको आदेश मिला कि लॉकडाउन खत्म होने तक तुम वहीं ड्यूटी करो, इसके बाद यहां आ जाना।

Subscribe to get breaking news alerts

26
यूपी के बलिया के रहने वाले हैं SI:बता दें कि अशरफ अली मूल रूप से यूपी के बलिया के रहने वाले हैं। उनका परिवार बलिया में ही रहता है। पिछले महीने इनकी मां का निधन हो गया था। उसके बाद इंदौर से वह अपनी पत्नी और बच्चों के साथ बलिया चले गए थे। इसके बाद वह अपनी बेटी से मिलने के लिए सीधी पहुंचे थे।
36
ऐसे डीएसी बनी बेटी: बता दें कि शाबेरा अंसारी का साल 2013 में सब-इंस्पेक्टर पद पर चयन हुआ था और वर्ष 2016 में ज्वाइन भी कर लिया था। इसके साथ-साथ वह मध्यप्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन यानी की MPPSC की तैयारी करती रहीं। 2016 में पीएससी क्वालिफाइड किया और 2018 में डीएसपी पद पर ज्वाइन किया। वह अभी ट्रनिंग डीएसपी पद पर अपनी सेवाएं दे रही हैं।
46
दोनों हैं बहुत खुश: मीडिया से बात करते हुए बाप बेटी ने कहा- हम बेहद खुश हैं, कम से कम लाॉकडाउन के बहाने हम दोनों को एक साथ काम करने और इतने दिन साथ रहने का मौक जो मिला। ट्रेनी डीएसपी ने शाबेरा अंसारी ने कहा कि इस समय हम दोनों का एक ही मकसद है कि देश को कोरोना से बचाना।
56
एक ही गाड़ी में बैठकर डीएसपी बेटी शाबेरा अंसारी और सब इंस्पेक्टर पिता अशरफ अली अंसारी साथ फील्ड पर जाते हैं। दोनों कोरोना से लोगों को बचाने की जंग भी साथ लड़ रहे हैं।
66
डीएसपी बेटी शाबेरा अंसारी एक कार्यक्रम के दौरान, यह फोटो साल 2018 की है।