FB ने 3 साल से बिछड़े बेटे को परिवार से मिलाया, मां ने देखते लगाया गले..बोली-अब कहीं नहीं जाने दूंगी

First Published 1, Jul 2020, 1:10 PM

ग्वालियर. सोशल मीडिया के इस युग में इंसान की हर परेशानियां घर बैठे दूर हो जाती हैं। इतना ही नहीं लोग इसके जरिए वह काम भी कर लेते हैं जिसकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की होगी। एक ऐसी ही कहानी मध्य प्रदेश से सामने आई है, जहां Facebook ने 3 साल से बिछड़े बेटे को उसके परिवार से मिला दिया। माता-पिता तो बच्चे के मिलने की उम्मीद ही खो चुके थे। लेकिन फेसबुक पर ऐसा चमत्कार हुआ कि उनका बेटा घर लौट आया है।

<p>दरअसल, यह कहानी है, राजस्थान धौलपुर के रहने वाले लखपत और उनकी पत्नी भूरी की। जहां तीन साल पहले ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में इलाज कराने आए बेटा अशोक अचानक लापता हो गया था। काफी तलाशने के बाद वह नहीं मिला था। सोमवार को फेसबुक पर अशोक का एक फोटो शेयर हुआ, जिसको पड़ोसी ने देखा और इस तरह अशोक को बिछड़े परिवार से मिला दिया।</p>

दरअसल, यह कहानी है, राजस्थान धौलपुर के रहने वाले लखपत और उनकी पत्नी भूरी की। जहां तीन साल पहले ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में इलाज कराने आए बेटा अशोक अचानक लापता हो गया था। काफी तलाशने के बाद वह नहीं मिला था। सोमवार को फेसबुक पर अशोक का एक फोटो शेयर हुआ, जिसको पड़ोसी ने देखा और इस तरह अशोक को बिछड़े परिवार से मिला दिया।

<p>बेटे को देखते मां की आंखों से आंसू आ गए, कहने लगी अब कभी मैं अपने बेटे को कहीं नहीं जाने दूंगी। पिता लखपत ने बताया कि उनका 14 साल का बेटा अशोक मानसिक रूप से कमजोर है, वह सही से ना तो अपना नाम बता पाता है और ना ही घर का पता। जिसके चलते वह ग्वालियर की अस्पताल से लापता हो गया था।</p>

बेटे को देखते मां की आंखों से आंसू आ गए, कहने लगी अब कभी मैं अपने बेटे को कहीं नहीं जाने दूंगी। पिता लखपत ने बताया कि उनका 14 साल का बेटा अशोक मानसिक रूप से कमजोर है, वह सही से ना तो अपना नाम बता पाता है और ना ही घर का पता। जिसके चलते वह ग्वालियर की अस्पताल से लापता हो गया था।

<p>बता दें कि कुछ दिन पहले ग्वालियर के कारोबारी अतुलअग्रवाल ने ग्वालियर के ही स्वर्ग सदन आश्रम का एक फोटो डाला था। जिसमें वह कुछ बेसहारा लोगों को खाना खिला रहे थे, इस फोटो में अशोक भी था।  धौलपुर में अशोक के पड़ोस में रहने वालों ने जब यह तस्वीर देखी तो उन्होंने इस बात की खबर अशोक के घरवालों को दी। फिर अशोक के माता-पिता उसको लेने के लिए ग्वालियर पहुंच गए।</p>

बता दें कि कुछ दिन पहले ग्वालियर के कारोबारी अतुलअग्रवाल ने ग्वालियर के ही स्वर्ग सदन आश्रम का एक फोटो डाला था। जिसमें वह कुछ बेसहारा लोगों को खाना खिला रहे थे, इस फोटो में अशोक भी था।  धौलपुर में अशोक के पड़ोस में रहने वालों ने जब यह तस्वीर देखी तो उन्होंने इस बात की खबर अशोक के घरवालों को दी। फिर अशोक के माता-पिता उसको लेने के लिए ग्वालियर पहुंच गए।

<p><br />
पिता लखपत ने बताया कि बेटे को कुछ दिन तलाशने के बाद उन्होंने ग्वालियर के कंपू थाने में अशोक की गुमशुदगी दर्ज कराई। लेकिन ना तो हम उसको ढूंढ सके और ना ही पुलिस उसका पता लगा सकी।<br />
 </p>


पिता लखपत ने बताया कि बेटे को कुछ दिन तलाशने के बाद उन्होंने ग्वालियर के कंपू थाने में अशोक की गुमशुदगी दर्ज कराई। लेकिन ना तो हम उसको ढूंढ सके और ना ही पुलिस उसका पता लगा सकी।
 

loader