Asianet News Hindi

नहीं देखा होगा ऐसा अफसर, खुद की शिकायत मिली तो कलेक्टर ने अपने को दे डाली ये सजा..जाने क्या है मामला

First Published Dec 3, 2020, 2:31 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

राजगढ़ (मध्य प्रदेश). अक्सर आपने आला अफसरों को दूसरों पर जुर्माना लगाते तो कई बार देखा होगा और सुना होगा। लेकिन मध्य प्रदेश में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक कलेक्टर के खिलाफ शिकायत मिली तो उन्होंने खुद पर ही जुर्माना लगा दिया।
 

दरअसल, चौंकाने वाला यह मामला राजगढ़ जिले का है, जहां कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने जनता से जुड़ी समस्याओं का समय पर समाधान नहीं कर पाने पर अपनी लापरीवाही मानते हुए खुद के ऊपर ही जुर्माना लगा दिया। यह जुर्माना कोई 500 या हजार की नहीं बल्कि पूरे एक लाख 13 हजार से अधिक का जुर्माना लगाया है।

दरअसल, चौंकाने वाला यह मामला राजगढ़ जिले का है, जहां कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने जनता से जुड़ी समस्याओं का समय पर समाधान नहीं कर पाने पर अपनी लापरीवाही मानते हुए खुद के ऊपर ही जुर्माना लगा दिया। यह जुर्माना कोई 500 या हजार की नहीं बल्कि पूरे एक लाख 13 हजार से अधिक का जुर्माना लगाया है।


बता दें कि कलेक्टर नीरज कुमार सिंह कुछ दिन पहले सरकारी योजनाओं की समीक्षा बैठक बुलाई थी। इस दौरान अफसर ने सीएम हेल्पलाइन में करीब 1,140 शिकायतों के लंबित होने पर अलग-अलग विभागों पर 100 रुपये प्रति शिकायत के हिसाब से यह जुर्माना लगाया हुआ है। इसके अलावा दूसरे अफसरों और कर्मचारियों पर भी लापरवाही के लिए कार्रवाई की गई।


बता दें कि कलेक्टर नीरज कुमार सिंह कुछ दिन पहले सरकारी योजनाओं की समीक्षा बैठक बुलाई थी। इस दौरान अफसर ने सीएम हेल्पलाइन में करीब 1,140 शिकायतों के लंबित होने पर अलग-अलग विभागों पर 100 रुपये प्रति शिकायत के हिसाब से यह जुर्माना लगाया हुआ है। इसके अलावा दूसरे अफसरों और कर्मचारियों पर भी लापरवाही के लिए कार्रवाई की गई।

कलेक्टर नीरज कुमार से 2012 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। वह युवा अफसर हैं जो, काम को लेकर काफी सजग रहते हैं। इससे पहले वह अपने अनोखे अंदाज और काम को लेकर चर्चा में रह चुके हैं। 
 

कलेक्टर नीरज कुमार से 2012 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। वह युवा अफसर हैं जो, काम को लेकर काफी सजग रहते हैं। इससे पहले वह अपने अनोखे अंदाज और काम को लेकर चर्चा में रह चुके हैं। 
 


खुद पर जुर्माना लगाने के बाद कलेक्टर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि सभी कर्मचारियों और अधिकारियों से कहा गया है कि संबंधित मामलों को निर्धारित समय के अंदर निपटाएं। नहीं तो इसके अलावा और भी कड़ी कार्रवाई की जा सकती है। अब हर मार काम लेकर हर तहतील स्तर पर समीक्षा होगी।


खुद पर जुर्माना लगाने के बाद कलेक्टर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि सभी कर्मचारियों और अधिकारियों से कहा गया है कि संबंधित मामलों को निर्धारित समय के अंदर निपटाएं। नहीं तो इसके अलावा और भी कड़ी कार्रवाई की जा सकती है। अब हर मार काम लेकर हर तहतील स्तर पर समीक्षा होगी।

द के अलावा जिन अधिकारियों पर जुर्माना लगाया है, वह सारंगपुर तहसीलदार, जनपद सीईओ सारंगपुर, जिला शिक्षा अधिकारी और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अधिकारी को कारण बताओ नोटिस दिए गए हैं। राजगढ़ तहसीलदार को भी कलेक्टर ने बिना कारण बताए बैठक में हाजिर ना होने पर नोटिस दिया है।

द के अलावा जिन अधिकारियों पर जुर्माना लगाया है, वह सारंगपुर तहसीलदार, जनपद सीईओ सारंगपुर, जिला शिक्षा अधिकारी और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अधिकारी को कारण बताओ नोटिस दिए गए हैं। राजगढ़ तहसीलदार को भी कलेक्टर ने बिना कारण बताए बैठक में हाजिर ना होने पर नोटिस दिया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios