Asianet News Hindi

मर्डर मिस्ट्री: मॉडल ने हाथ पे गुदवाया था उसके नाम का टैटू, फिर भी दूर नहीं हुआ शक

First Published Jul 15, 2019, 3:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मध्य प्रदेश की एक जानी-मानी मॉडल का उसके ही प्रेमी ने बेरहमी से मर्डर कर दिया। सैलून चलाने वाला अशरफ प्रेमिका खुशी के खुले विचारों से नाखुश था।

छिंदवाड़ा.  सुपर मॉडल बनने की ख्वाहिश लेकर मुंबई का रुख करने वाली 19 साल की एक लड़की खुशी परिहार का उसके ही बॉयफ्रेंड अशरफ शेख ने बेरहमी से मर्डर कर दिया। मॉडल के खुले विचार उसके प्रेमी के सीने में जलन पैदा करते थे। वो लगातार टोका-टाकी भी करता आ रहा था। लेकिन जब मॉडल ने बंदिशें स्वीकार नहीं कीं तो प्रेमी ने उसकी जान ले ली।

छिंदवाड़ा. सुपर मॉडल बनने की ख्वाहिश लेकर मुंबई का रुख करने वाली 19 साल की एक लड़की खुशी परिहार का उसके ही बॉयफ्रेंड अशरफ शेख ने बेरहमी से मर्डर कर दिया। मॉडल के खुले विचार उसके प्रेमी के सीने में जलन पैदा करते थे। वो लगातार टोका-टाकी भी करता आ रहा था। लेकिन जब मॉडल ने बंदिशें स्वीकार नहीं कीं तो प्रेमी ने उसकी जान ले ली।

मूलरूप से मध्य प्रदेश की रहने वाली खुशी की अपने परिवारवालों से भी पटरी नहीं बैठती थी। लिहाजा वो नागपुर में रहने लगी थी।  खुशी 2019 में 'मिस इंडिया कांटेस्ट' में टॉप फाइनिलिस्ट में पहुंची थी।  नागपुर पुलिस के मुताबिक, शनिवार की सुबह पांढुर्ना-नागपुर हाईवे पर खुशी का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ था। उसकी गला दबाकर हत्या की गई थी। उसके बाद पहचान छुपाने पत्थर से चेहरा कुचल दिया गया था।

मूलरूप से मध्य प्रदेश की रहने वाली खुशी की अपने परिवारवालों से भी पटरी नहीं बैठती थी। लिहाजा वो नागपुर में रहने लगी थी। खुशी 2019 में 'मिस इंडिया कांटेस्ट' में टॉप फाइनिलिस्ट में पहुंची थी। नागपुर पुलिस के मुताबिक, शनिवार की सुबह पांढुर्ना-नागपुर हाईवे पर खुशी का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ था। उसकी गला दबाकर हत्या की गई थी। उसके बाद पहचान छुपाने पत्थर से चेहरा कुचल दिया गया था।

अशरफ शेख ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। उसने माना कि वो खुशी के कैरेक्टर को लेकर नाखुश था। खुशी 12 जुलाई को अशरफ शेख के साथ उसकी कार में घूमने निकली थी। जब वे दोनों सावनेर रोड से पांढुर्ना हाईवे की तरफ जा रहे थे, तभी गाड़ी में ही दोनों के बीच बहस हो गई थी। अशरफ ने गाड़ी में ही खुशी के साथ मारपीट कर दी। फिर गुस्सा बढ़ने पर मर्डर कर दिया।

अशरफ शेख ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। उसने माना कि वो खुशी के कैरेक्टर को लेकर नाखुश था। खुशी 12 जुलाई को अशरफ शेख के साथ उसकी कार में घूमने निकली थी। जब वे दोनों सावनेर रोड से पांढुर्ना हाईवे की तरफ जा रहे थे, तभी गाड़ी में ही दोनों के बीच बहस हो गई थी। अशरफ ने गाड़ी में ही खुशी के साथ मारपीट कर दी। फिर गुस्सा बढ़ने पर मर्डर कर दिया।

शनिवार की सुबह केलोद थाना क्षेत्र में खुशी की लाश मिली थी।  पुलिस ने सोशल मीडिया की मदद से खुशी की शिनाख्त की। पुलिस ने 10 घंटे में ही अशरफ को दबोच लिया। अशरफ कट जोन नाम से सैलून चलाता है। वहीं उसके पिता अफसर शेख उर्फ अफसर अंडा एक बड़ा गांजा विक्रेता है। वो कई बार जेल जा चुका है। खुशी ने अपने हाथ और छाती पर टैटू बनवाए थे। छाती के टैटू में क्वीन और हाथ के टैटू पर अंग्रेजी में ‘खुशी और आशू’ एक साथ लिखा हुआ था। टैटू से ही पुलिस को खुशी की शिनाख्त हुई।

शनिवार की सुबह केलोद थाना क्षेत्र में खुशी की लाश मिली थी। पुलिस ने सोशल मीडिया की मदद से खुशी की शिनाख्त की। पुलिस ने 10 घंटे में ही अशरफ को दबोच लिया। अशरफ कट जोन नाम से सैलून चलाता है। वहीं उसके पिता अफसर शेख उर्फ अफसर अंडा एक बड़ा गांजा विक्रेता है। वो कई बार जेल जा चुका है। खुशी ने अपने हाथ और छाती पर टैटू बनवाए थे। छाती के टैटू में क्वीन और हाथ के टैटू पर अंग्रेजी में ‘खुशी और आशू’ एक साथ लिखा हुआ था। टैटू से ही पुलिस को खुशी की शिनाख्त हुई।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios