Asianet News Hindi

बाबरी केस:28 साल बाद फैसले की घड़ी, ये हैं वह 7 शख्स जिन्हें मस्जिद गिराने का माना जाता है अहम किरदार

First Published Sep 29, 2020, 12:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


लखनऊ/भोपाल. बाबरी विध्वंस (Babri Demolition Case) मामले पर सीबीआई की स्पेशल कोर्ट आगामी 30 सितम्बर अपना फैसला सुनाने जा रही है। इस मामले में बीजेपी, शिवसेना व विहिप के वरिष्ठ नेताओं के साथ साधु-संत भी आरोपी बनाए गए हैं। लेकिन जिन 7 नेताओं पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं वह जो राम मंदिर आंदोलन से जुड़े और नायक बने। 30 सितंबर को अदालत के आने वाले फैसले में इनके भविष्य का फैसला होने वाला है। आइए जानते हैं 7 अहम किरदारों के बारे में...

दरअसल,  6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद का ढांचा गिरा दिया गया था। इस केस में जिन नेताओं के नाम शामिल हैं उनमें बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी, विहिप के पूर्व अध्यक्ष स्वर्गीय अशोक सिंघल, पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, एमपी के पूर्व सीएम उमा भारती, बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया और बीजेपी के पूर्व सांसद विनय कटियार के नाम हैं।
 

दरअसल,  6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद का ढांचा गिरा दिया गया था। इस केस में जिन नेताओं के नाम शामिल हैं उनमें बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी, विहिप के पूर्व अध्यक्ष स्वर्गीय अशोक सिंघल, पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, एमपी के पूर्व सीएम उमा भारती, बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया और बीजेपी के पूर्व सांसद विनय कटियार के नाम हैं।
 

1. लाल कृष्ण आडवाणी: बाबरी केस में सबसे पहला नाम वरिष्ठ बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी का आता है, जिन्होंने 1990 में उन्होंने राम जन्मभूमि आंदोलन को आगे बढ़ाते हुए पूरे देश से अयोध्या तक 10 हजार किलोमीटर लंबी रथयात्रा पूरी की थी। इस दौरान देश के लाखों लोग राम मंदिर आंदोलन में जुड़े थे। सीबीआई की मूल चार्जशीट के मुताबिक आडवाणी बाबरी मस्जिद गिराने के मुख्य आरोपी हैं।

1. लाल कृष्ण आडवाणी: बाबरी केस में सबसे पहला नाम वरिष्ठ बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी का आता है, जिन्होंने 1990 में उन्होंने राम जन्मभूमि आंदोलन को आगे बढ़ाते हुए पूरे देश से अयोध्या तक 10 हजार किलोमीटर लंबी रथयात्रा पूरी की थी। इस दौरान देश के लाखों लोग राम मंदिर आंदोलन में जुड़े थे। सीबीआई की मूल चार्जशीट के मुताबिक आडवाणी बाबरी मस्जिद गिराने के मुख्य आरोपी हैं।

2. अशोक सिंघल: बाबरी विध्वंस मामले में दूसरे बड़े शख्स विहिप के पूर्व अध्यक्ष स्वर्गीय अशोक सिंघल हैं। सीबीआई चार्जशीट के मुताबिक, 20 नवंबर 1992 अशोक सिंघल ने बाल ठाकरे से मुलाकात कर उन्‍हें कारसेवा में हिस्सा लेने का न्यौता दिया था। जिसके बाद हाजारों शिवसैनिक अयोध्या पहुंचे थे। चार्जशीट अनुसार सिंघल 6 दिसंबर को नारा लगा रहे थे कि 'राम लला हम आए हैं, मंदिर वहीं बनाएंगे, एक धक्का और दो बाबरी मस्जिद तोड़ दो'

2. अशोक सिंघल: बाबरी विध्वंस मामले में दूसरे बड़े शख्स विहिप के पूर्व अध्यक्ष स्वर्गीय अशोक सिंघल हैं। सीबीआई चार्जशीट के मुताबिक, 20 नवंबर 1992 अशोक सिंघल ने बाल ठाकरे से मुलाकात कर उन्‍हें कारसेवा में हिस्सा लेने का न्यौता दिया था। जिसके बाद हाजारों शिवसैनिक अयोध्या पहुंचे थे। चार्जशीट अनुसार सिंघल 6 दिसंबर को नारा लगा रहे थे कि 'राम लला हम आए हैं, मंदिर वहीं बनाएंगे, एक धक्का और दो बाबरी मस्जिद तोड़ दो'

3. मुरली मनोहर जोशी: इस मामले में तीसरा नाम है बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी का जिन पर चार्जशीट के मुताबिक आरोप है कि 6 दिसंबर को जोशी भी भी मौके पर मौजूद थे। मस्जिद का गुंबद गिरने पर वह अन्य नेताओं से गले मिल रहे थे।
 

3. मुरली मनोहर जोशी: इस मामले में तीसरा नाम है बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी का जिन पर चार्जशीट के मुताबिक आरोप है कि 6 दिसंबर को जोशी भी भी मौके पर मौजूद थे। मस्जिद का गुंबद गिरने पर वह अन्य नेताओं से गले मिल रहे थे।
 

4. उमा भारती: बाबरी केस में चौथा और इस मामले एकमात्र महिला आरोपी बनने वाली उमा भारती का नाम शामिल है। चार्जशीट के मुताबिक उमा भारती अन्य लोगों को भीड़ को उकसाने का काम कर रहीं थीं। लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट में वह दोषी पाई गईं हैं।

4. उमा भारती: बाबरी केस में चौथा और इस मामले एकमात्र महिला आरोपी बनने वाली उमा भारती का नाम शामिल है। चार्जशीट के मुताबिक उमा भारती अन्य लोगों को भीड़ को उकसाने का काम कर रहीं थीं। लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट में वह दोषी पाई गईं हैं।

5. कल्याण सिंह: बाबरी ढांचा गिराने के मुख्य आरोपी कल्याण सिंह का नाम आता है। क्योंकि उस वक्त कल्याण सिंह यूपी के मुख्यमंत्री थे। इसलिए उन पर आरोप है कि उन्होंने इस मामले में कोई कार्रवाई करने और पुलिस प्रशासन को रोकने की बजाय लोगों को उकसाने का काम किया था। चार्जशीट में मस्जिद गिराने का आरोप इन पर सबसे पहले आता है।

5. कल्याण सिंह: बाबरी ढांचा गिराने के मुख्य आरोपी कल्याण सिंह का नाम आता है। क्योंकि उस वक्त कल्याण सिंह यूपी के मुख्यमंत्री थे। इसलिए उन पर आरोप है कि उन्होंने इस मामले में कोई कार्रवाई करने और पुलिस प्रशासन को रोकने की बजाय लोगों को उकसाने का काम किया था। चार्जशीट में मस्जिद गिराने का आरोप इन पर सबसे पहले आता है।

7. जयभान सिंह पवैया:  विध्वंस मामले में मध्य प्रदेश से दूसरा नाम है बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया का जो बाबरी केस में आरोपी बनाए गए हैं।
 

7. जयभान सिंह पवैया:  विध्वंस मामले में मध्य प्रदेश से दूसरा नाम है बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया का जो बाबरी केस में आरोपी बनाए गए हैं।
 

7. विनय कटिया: बाबरी विध्वंस मामले सातवां अहम किरदार का नाम है बीजेपी के पूर्व सांसद विनय कटियार, बताया जाता है कि  राम मंदिर आंदोलन की कमान उस वक्त युवा रहे विनय कटियार को सौंपी थी। वह अपने साथ पूरे देश से हजारों कारसेवक और युवाओं को लेकर आयोध्या पहुंचे थे। उन्होंने बजरंग दल कार्यकर्ताओं को  बाबरी का ढांचा गिराने के लिए उकसाया था।
 

7. विनय कटिया: बाबरी विध्वंस मामले सातवां अहम किरदार का नाम है बीजेपी के पूर्व सांसद विनय कटियार, बताया जाता है कि  राम मंदिर आंदोलन की कमान उस वक्त युवा रहे विनय कटियार को सौंपी थी। वह अपने साथ पूरे देश से हजारों कारसेवक और युवाओं को लेकर आयोध्या पहुंचे थे। उन्होंने बजरंग दल कार्यकर्ताओं को  बाबरी का ढांचा गिराने के लिए उकसाया था।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios