Asianet News Hindi

तो इस तरह हट सकता है लॉकडाउन, रणनीति तैयार करने में जुटी सरकार

First Published Apr 6, 2020, 7:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में 25 मार्च को 21 दिन का लॉकडाउन लगाया गया था। यह लॉकडाउन 14 अप्रैल को पूरा हो रहा है। ऐसे में सोशल मीडिया पर कयास लगाए जा रहे कि मोदी सरकार इसे और बढ़ा सकती है। लेकिन सरकार ने साफ कर दिया है कि लॉकडाउन आगे बढ़ाने की कोई मंशा नहीं है। ऐसे में सवाल उठता है कि लॉकडाउन को किस तरह से हटाया जाएगा?

माना जा रहा है कि कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति को देखते हुए सरकार लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से हटा सकती है। यानी जहां कोरोना का संक्रमण बिल्कुल नहीं है, वहां प्रतिबंध पहले हटाए जा सकते हैं।

माना जा रहा है कि कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति को देखते हुए सरकार लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से हटा सकती है। यानी जहां कोरोना का संक्रमण बिल्कुल नहीं है, वहां प्रतिबंध पहले हटाए जा सकते हैं।

लेकिन इस स्थिति में सरकार के सामने चुनौती है कि अगर लॉकडाउन खत्म होने के बाद लाखों की संख्या में लोग घरों से बाहर आएंगे। ऐसे में इन्हें नियंत्रित किस तरह से किया जाएगा। अभी इसके लिए सरकार नीतियां बनाने में जुटी है।

लेकिन इस स्थिति में सरकार के सामने चुनौती है कि अगर लॉकडाउन खत्म होने के बाद लाखों की संख्या में लोग घरों से बाहर आएंगे। ऐसे में इन्हें नियंत्रित किस तरह से किया जाएगा। अभी इसके लिए सरकार नीतियां बनाने में जुटी है।

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों से बात की थी। इस दौरान पीएम ने सभी राज्यों से लॉकडाउन के बारे में चर्चा की थी। साथ ही उन्होंने राज्यों से सुझाव मांगे हैं कि इसे कैसे हटाया जाए। राज्यों को अपनी मौजूदा स्थिति के बारे में रिपोर्ट सौंपनी है।

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों से बात की थी। इस दौरान पीएम ने सभी राज्यों से लॉकडाउन के बारे में चर्चा की थी। साथ ही उन्होंने राज्यों से सुझाव मांगे हैं कि इसे कैसे हटाया जाए। राज्यों को अपनी मौजूदा स्थिति के बारे में रिपोर्ट सौंपनी है।

आज तक की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार राज्यों की रिपोर्ट और डीएम, एसपी के फीडबैक के आधार पर लॉकडाउन हटाने की रणनीति तैयार करेगी।

आज तक की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार राज्यों की रिपोर्ट और डीएम, एसपी के फीडबैक के आधार पर लॉकडाउन हटाने की रणनीति तैयार करेगी।

केंद्र सरकार के सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन को एक फेज में खोला जाएगा। लेकिन राज्यों के कोरोना संक्रमित इलाकों में यह लागू रहेगा। जहां जहां लॉकडाउन हटाया जाएगा, वहां धारा 144 लगाई जा सकती है। इससे एक जगह पर चार से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकेंगे।

केंद्र सरकार के सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन को एक फेज में खोला जाएगा। लेकिन राज्यों के कोरोना संक्रमित इलाकों में यह लागू रहेगा। जहां जहां लॉकडाउन हटाया जाएगा, वहां धारा 144 लगाई जा सकती है। इससे एक जगह पर चार से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकेंगे।

लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी प्राइवेट यातायात बंद रहेगा। इसमें बस सर्विस, टैक्स और ऑटो शामिल हैं। विशेष परिस्थितियों में वजह बताने के बाद ही लोग अपने राज्य जा सकेंगे। उसके लिए भी कोरोना टेस्ट कराना होगा।

लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी प्राइवेट यातायात बंद रहेगा। इसमें बस सर्विस, टैक्स और ऑटो शामिल हैं। विशेष परिस्थितियों में वजह बताने के बाद ही लोग अपने राज्य जा सकेंगे। उसके लिए भी कोरोना टेस्ट कराना होगा।

15 अप्रैल से ट्रेन सेवा शुरू होगी या नहीं, इस पर संशय बना हुआ है। दरअसल, रेलवे ने अपने कर्मचारियों को 15 अप्रैल तक लौटने के लिए कहा है। कुछ कर्मचारी तो काम पर लौट भी गए हैं। ऐसे में रेलवे कुछ ट्रेनें शुरू कर सकती है। लेकिन दूसरी ओर हवाई सेवाओं ने 30 अप्रैल तक टिकट बुकिंग पर रोक लगाई है। ऐसे में यह साफ है कि उड़ानें 30 अप्रैल तक बंद रहेंगी।

15 अप्रैल से ट्रेन सेवा शुरू होगी या नहीं, इस पर संशय बना हुआ है। दरअसल, रेलवे ने अपने कर्मचारियों को 15 अप्रैल तक लौटने के लिए कहा है। कुछ कर्मचारी तो काम पर लौट भी गए हैं। ऐसे में रेलवे कुछ ट्रेनें शुरू कर सकती है। लेकिन दूसरी ओर हवाई सेवाओं ने 30 अप्रैल तक टिकट बुकिंग पर रोक लगाई है। ऐसे में यह साफ है कि उड़ानें 30 अप्रैल तक बंद रहेंगी।

राज्य सरकारें निजी और सरकारी संस्थानों को रोस्टर के मुताबिक काम करने का आदेश दे सकती हैं। या अभी कुछ दिन और वर्क फ्रॉम होम के लिए भी कहा जा सकता है। इस सप्ताह के आखिर तक राज्य सरकारें अपनी रिपोर्ट भेजेंगी, इसके बाद ही सरकार अपनी रणनीति स्पष्ट करेगी।

राज्य सरकारें निजी और सरकारी संस्थानों को रोस्टर के मुताबिक काम करने का आदेश दे सकती हैं। या अभी कुछ दिन और वर्क फ्रॉम होम के लिए भी कहा जा सकता है। इस सप्ताह के आखिर तक राज्य सरकारें अपनी रिपोर्ट भेजेंगी, इसके बाद ही सरकार अपनी रणनीति स्पष्ट करेगी।

भारत में कोरोना संक्रमण के 4400 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। यहां अब तक 122 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 329 लोग ठीक हो चुके हैं, 3900 से ज्यादा लोगों का इलाज चल रहा है।

भारत में कोरोना संक्रमण के 4400 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। यहां अब तक 122 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 329 लोग ठीक हो चुके हैं, 3900 से ज्यादा लोगों का इलाज चल रहा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios