Asianet News Hindi

कश्मीरी पंडितों की कहानी 'शिकारा' देख रो पड़े आडवाणी, विधू विनोद चोपड़ा ने हाथ चूम कराया चुप

First Published Feb 8, 2020, 1:28 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कश्मीरी पंडितों पर बनी फिल्म शिकारा रिलीज हो चुकी है। अपने विषय के चलते यह फिल्म चर्चा में बनी हुई है। फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग में भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी भी पहुंचे। इस दौरान वे फिल्म को देखकर अपने आंसू नहीं रोक पाए। यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

फिल्म के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर विधू विनोद चोपड़ा ने भी यह वीडियो शेयर किया है। इसमें देखा जा सकता है फिल्म देखकर लाल कृष्ण आडवाणी फूट-फूटकर रोने लगे। इसके बाद खुद विधू विनोद चोपड़ा उनके पास पहुंचते हैं।

फिल्म के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर विधू विनोद चोपड़ा ने भी यह वीडियो शेयर किया है। इसमें देखा जा सकता है फिल्म देखकर लाल कृष्ण आडवाणी फूट-फूटकर रोने लगे। इसके बाद खुद विधू विनोद चोपड़ा उनके पास पहुंचते हैं।

वे घुटनों के बल बैठकर आडवाणीजी का हाथ चूमते हैं। इस दौरान आडवाणी की बेटी प्रतिभा भी मौजूद रहीं।

वे घुटनों के बल बैठकर आडवाणीजी का हाथ चूमते हैं। इस दौरान आडवाणी की बेटी प्रतिभा भी मौजूद रहीं।

विधू विनोद चोपड़ा ने अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा, " आडवाणी 'शिकारा' की स्पेशल स्क्रीनिंग पर पहुंचे। उन्होंने आगे लिखा, हम फिल्म के प्रति आपके आशीर्वाद को पाकर काफी खुश हुए।

विधू विनोद चोपड़ा ने अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा, " आडवाणी 'शिकारा' की स्पेशल स्क्रीनिंग पर पहुंचे। उन्होंने आगे लिखा, हम फिल्म के प्रति आपके आशीर्वाद को पाकर काफी खुश हुए।

कश्मीरी पंडितों पर जुल्म को दिखाती है फिल्म: डायरेक्टर विधु विनोद चोपड़ा के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'शिकारा' शुक्रवार 7 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज की गई। इस फिल्म में कश्मीरियों के दर्द को देखने के लिए मिल रहा है।

कश्मीरी पंडितों पर जुल्म को दिखाती है फिल्म: डायरेक्टर विधु विनोद चोपड़ा के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'शिकारा' शुक्रवार 7 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज की गई। इस फिल्म में कश्मीरियों के दर्द को देखने के लिए मिल रहा है।

ये फिल्म उस दौर की कहानी को बयां करती है, जब कश्मीर में कश्मीरी पंडितों पर जुल्म किया गया था और उन्हें वहां से अपना सबकुछ छोड़कर भागना पड़ा था। शिकारा उसी दंगे की कहानी को बयां करती है साथ ही कश्मीरी पंडितों के दर्द को बयां करती है।

ये फिल्म उस दौर की कहानी को बयां करती है, जब कश्मीर में कश्मीरी पंडितों पर जुल्म किया गया था और उन्हें वहां से अपना सबकुछ छोड़कर भागना पड़ा था। शिकारा उसी दंगे की कहानी को बयां करती है साथ ही कश्मीरी पंडितों के दर्द को बयां करती है।

फिल्म में सारे इमोशन्स और हर पड़ाव को बडे़ ही शालीन तरीके दिखाए गए हैं। इस मूवी को मीडिया रिपोर्ट्स में से 4 स्टार दिए जा रहे हैं।

फिल्म में सारे इमोशन्स और हर पड़ाव को बडे़ ही शालीन तरीके दिखाए गए हैं। इस मूवी को मीडिया रिपोर्ट्स में से 4 स्टार दिए जा रहे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios