31 मई के बाद कैसा होगा लॉकडाउन? इन 13 शहरों में होगी सख्ती, बाकी जगहों पर खुल सकते हैं होटल्स और मॉल्स

First Published 30, May 2020, 3:20 PM

नई दिल्ली. देश में कोरोना का संकट बढ़ता जा रहा है। मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जिसे रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन लागू किया गया है। देश भर में जारी लॉकडाउन का चौथा चरण चल रहा है। जिसकी मियाद 31 मई को पूरी हो रही है। जिसके बाद अब पांचवे चरण के कयास लगने लगे हैं। चर्चा जोरों पर है कि सरकार 31 मई की देर शाम तक लॉकडाउन 5.0 के लिए गाइडलाइन जारी कर सकती है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार 1 जून से देश के ज्यादातर हिस्सों से लॉकडाउन की पाबंदियां खत्म कर देगी। सूत्रों के मुताबिक चर्चा है कि देश के 13 शहरों में सख्त पाबंदी लागू की जा सकती है। जबकि होटलों, मॉल्स और रेस्त्रां को 1 जून से खोलने की इजाजत दी जा सकती है। वहीं, बंगाल सरकार ने तो 1 जून से सबकुछ खोलने की मंजूरी भी दे दी है। 
 

<p style="text-align: justify;"><strong>इन 13 शहरों में पाबंदियां रह सकती हैं बरकरार</strong><br />
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्री से बात की। जिसके बाद उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से भी चर्चा की। कहा जा रहा है कि लॉकडाउन को लेकर बातचीत की गई है। ऐसे में कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार देश के इन 13 शहरों में सख्त लागू कर सकती है, जिसमें दिल्ली, मुंबई, चेन्नै, अहमदाबाद, ठाणे, पुणे, हैदराबाद, कोलकाता/हावड़ा, इंदौर, जयपुर, जोधपुर, चेंगलपट्टु और तिरुवलुर शामिल हैं। </p>

इन 13 शहरों में पाबंदियां रह सकती हैं बरकरार
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्री से बात की। जिसके बाद उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से भी चर्चा की। कहा जा रहा है कि लॉकडाउन को लेकर बातचीत की गई है। ऐसे में कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार देश के इन 13 शहरों में सख्त लागू कर सकती है, जिसमें दिल्ली, मुंबई, चेन्नै, अहमदाबाद, ठाणे, पुणे, हैदराबाद, कोलकाता/हावड़ा, इंदौर, जयपुर, जोधपुर, चेंगलपट्टु और तिरुवलुर शामिल हैं। 

<p style="text-align: justify;"><strong>चरणबद्ध तरीके से खोले जाएंगे होटल</strong><br />
होटल, मॉल्स, रेस्ट्रॉन्ट्स को 1 जून से खोलने की इजाजत दी जा सकती है। हालांकि, होटलों को चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा। इस बारे में सरकार जल्द ही फैसला लेगी। फिलहाल देश में हॉस्पिटैलिटी सर्विस पूरी तरह बंद है। अभी सिर्फ वही होटल काम कर रहे हैं जहां कोरोना के खिलाफ जंग में डटे पुलिसकर्मी, अधिकारी और हेल्थकेयर वर्करों को रखा गया है।</p>

चरणबद्ध तरीके से खोले जाएंगे होटल
होटल, मॉल्स, रेस्ट्रॉन्ट्स को 1 जून से खोलने की इजाजत दी जा सकती है। हालांकि, होटलों को चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा। इस बारे में सरकार जल्द ही फैसला लेगी। फिलहाल देश में हॉस्पिटैलिटी सर्विस पूरी तरह बंद है। अभी सिर्फ वही होटल काम कर रहे हैं जहां कोरोना के खिलाफ जंग में डटे पुलिसकर्मी, अधिकारी और हेल्थकेयर वर्करों को रखा गया है।

<p style="text-align: justify;"><strong>मेट्रो के लिए अभी करना पड़ सकता है इंतजार </strong><br />
सूत्रों ने बताया कि 1 जून से ज्यादातर पब्लिक ट्रांसपोर्ट को सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों के साथ शुरू किया जा सकता है लेकिन मेट्रो के संचालन को अभी इजाजत दिए जाने की संभावना कम है। हालांकि रेलवे 1 जून से 100 से अधिक ट्रेनों की शुरुआत कर रहा है। </p>

मेट्रो के लिए अभी करना पड़ सकता है इंतजार 
सूत्रों ने बताया कि 1 जून से ज्यादातर पब्लिक ट्रांसपोर्ट को सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों के साथ शुरू किया जा सकता है लेकिन मेट्रो के संचालन को अभी इजाजत दिए जाने की संभावना कम है। हालांकि रेलवे 1 जून से 100 से अधिक ट्रेनों की शुरुआत कर रहा है। 

<p style="text-align: justify;"><strong>दिल्ली में क्या-क्या मिल सकता है छूट </strong><br />
1. दिल्ली सरकार ने मोटे तौर पर केंद्र सरकार को चार सिफारिशें भेजी हैं। इसमें पहली है कि धार्मिक स्थानों को खोल दिया जाए। लेकिन बड़े मंदिर-मस्जिद बंद रहेंगे।</p>

दिल्ली में क्या-क्या मिल सकता है छूट 
1. दिल्ली सरकार ने मोटे तौर पर केंद्र सरकार को चार सिफारिशें भेजी हैं। इसमें पहली है कि धार्मिक स्थानों को खोल दिया जाए। लेकिन बड़े मंदिर-मस्जिद बंद रहेंगे।

<p style="text-align: justify;">2.अभी दुकानें शाम 7 बजे तक खुल सकती हैं लेकिन दुकानदारों का कहना है कि यह समय रात 9 बजे तक होना चाहिए क्योंकि इस गर्मी में लोग शाम के समय ही बाजारों में आते हैं। इसको भी केंद्र के सामने रखा गया है।<br />
 </p>

2.अभी दुकानें शाम 7 बजे तक खुल सकती हैं लेकिन दुकानदारों का कहना है कि यह समय रात 9 बजे तक होना चाहिए क्योंकि इस गर्मी में लोग शाम के समय ही बाजारों में आते हैं। इसको भी केंद्र के सामने रखा गया है।
 

<p style="text-align: justify;">3. अभी सिनेमाघर, स्कूल- कॉलेज शुरू नहीं होंगे। साथ ही एक जगह पर बड़ी गैदरिंग को इजाजत नहीं दी जाएगी। होटल, रेस्तरां आदि को भी बंद रखा जा सकता है।</p>

3. अभी सिनेमाघर, स्कूल- कॉलेज शुरू नहीं होंगे। साथ ही एक जगह पर बड़ी गैदरिंग को इजाजत नहीं दी जाएगी। होटल, रेस्तरां आदि को भी बंद रखा जा सकता है।

<p style="text-align: justify;">4. जिम, स्पा, सलून पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। दिल्ली सरकार के सूत्रों का कहना है कि दो महीने से ज्यादा समय से बंद सैलून और पार्लर कारोबारी भी सरकार से मांग कर रहे हैं कि 1 जून से सैलून खोलने की भी मंजूरी दी जाए और सरकार उनकी मांगों पर विचार भी कर रही है। सरकार सैलून खोलना चाहती है लेकिन छोटी- छोटी दुकानों पर सरकार की ओर से तय किया जाने वाला एसओपी कैसे लागू होगा, इसको लेकर सरकार अभी सैलून को लेकर एक राय नहीं बना पा रही है।</p>

4. जिम, स्पा, सलून पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। दिल्ली सरकार के सूत्रों का कहना है कि दो महीने से ज्यादा समय से बंद सैलून और पार्लर कारोबारी भी सरकार से मांग कर रहे हैं कि 1 जून से सैलून खोलने की भी मंजूरी दी जाए और सरकार उनकी मांगों पर विचार भी कर रही है। सरकार सैलून खोलना चाहती है लेकिन छोटी- छोटी दुकानों पर सरकार की ओर से तय किया जाने वाला एसओपी कैसे लागू होगा, इसको लेकर सरकार अभी सैलून को लेकर एक राय नहीं बना पा रही है।

<p style="text-align: justify;"><strong>स्कूल खोलने की नहीं होगी इजाजत</strong><br />
कोरोना के संकट को देखते हुए स्कूल खुलना फिलहाल मुश्किल दिख रहा है। 15 जून तक स्कूलों और कॉलेजों को बंद ही रखा जा सकता है। वैसे भी राज्य सरकारें कह चुकी हैं कि स्कूल गर्मी की छुट्टियों के बाद ही खुलेंगे।</p>

स्कूल खोलने की नहीं होगी इजाजत
कोरोना के संकट को देखते हुए स्कूल खुलना फिलहाल मुश्किल दिख रहा है। 15 जून तक स्कूलों और कॉलेजों को बंद ही रखा जा सकता है। वैसे भी राज्य सरकारें कह चुकी हैं कि स्कूल गर्मी की छुट्टियों के बाद ही खुलेंगे।

<p style="text-align: justify;"><strong>खोले जा सकते हैं मंदिर</strong><br />
धार्मिक स्थानों को खोला जाए या नहीं यह फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा जा सकता है। कर्नाटक सरकार ने पहले ही पीएम मोदी को पत्र लिखकर 1 जून से धार्मिक स्थानों को खोलने की इजाजत मांगी है। वहीं, बंगाल सरकार ने सभी धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति दी है। </p>

खोले जा सकते हैं मंदिर
धार्मिक स्थानों को खोला जाए या नहीं यह फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा जा सकता है। कर्नाटक सरकार ने पहले ही पीएम मोदी को पत्र लिखकर 1 जून से धार्मिक स्थानों को खोलने की इजाजत मांगी है। वहीं, बंगाल सरकार ने सभी धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति दी है। 

<p style="text-align: justify;"><strong>बंगाल सरकार ने किया है यह ऐलान</strong><br />
पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन हटाने का सरकार ने निर्णय किया है। शुक्रवार को सूबे की मुखिया ममता बनर्जी ने ऐलान किया कि सभी मंदिर, मस्जिद समेत सभी धार्मिक स्थलों को 1 जून से खोलने की इजाजत दे दी है। इसके साथ ही राज्य सरकार  ने प्राइवेट और सरकारी कार्यालयों को 100 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ खोलने की इजाजत दे दी है। <br />
 </p>

बंगाल सरकार ने किया है यह ऐलान
पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन हटाने का सरकार ने निर्णय किया है। शुक्रवार को सूबे की मुखिया ममता बनर्जी ने ऐलान किया कि सभी मंदिर, मस्जिद समेत सभी धार्मिक स्थलों को 1 जून से खोलने की इजाजत दे दी है। इसके साथ ही राज्य सरकार  ने प्राइवेट और सरकारी कार्यालयों को 100 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ खोलने की इजाजत दे दी है। 
 

<p style="text-align: justify;"><strong>देश में कोरोना का हाल</strong><br />
देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1 लाख 74 हजार 170 हो गई है। जबकि अब तक 82 हजार 676 लोग कोरोना को हरा कर अपने घर भी जा चुके हैं। देश में कोरोना के शिकार 4981 लोगों की मौत हुई है। महामारी के असर से सबसे ज्यादा महाराष्ट्र प्रभावित है। यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 62 हजार 228 है, जिसमें से 2 हजार 98 लोगों की मौत हो चुकी है। </p>

देश में कोरोना का हाल
देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1 लाख 74 हजार 170 हो गई है। जबकि अब तक 82 हजार 676 लोग कोरोना को हरा कर अपने घर भी जा चुके हैं। देश में कोरोना के शिकार 4981 लोगों की मौत हुई है। महामारी के असर से सबसे ज्यादा महाराष्ट्र प्रभावित है। यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 62 हजार 228 है, जिसमें से 2 हजार 98 लोगों की मौत हो चुकी है। 

loader