Asianet News Hindi

BSF जवान पर टॉर्चर के निशान, गायब थे नाखून भी... मर्डर है या सुसाइड? पत्नी ने उठाए सवाल

First Published Sep 3, 2020, 8:46 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुजफ्फरनगर. चार दिन पहले ही पश्चिम बंगाल से खबर आई थी कि एक बीएसएफ जवान ने कथित रूप से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। लेकिन, उसका शव देखने के बाद परिवार का कहना है कि उसकी हत्या की गई। दरअसल, परिवार की मानें तो कहा जा रहा है कि जवान के शरीर पर कुछ चोटों के निशान थे, जिसमें उसके नाखून तक गायब थे। बीएसएफ जवान विकास कश्‍यप (28) यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में शामली का रहने वाला था।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कहा जा रहा है कि जब विकास का शव उसके घर पहुंचा तो उस समय कफन का कुछ हिस्‍सा खुल गया। उसकी पत्‍नी पंपा मेहता ने उसके शरीर पर चोट के कुछ निशान देखे। 

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कहा जा रहा है कि जब विकास का शव उसके घर पहुंचा तो उस समय कफन का कुछ हिस्‍सा खुल गया। उसकी पत्‍नी पंपा मेहता ने उसके शरीर पर चोट के कुछ निशान देखे। 

पति के शरीर पर निशान देखने के बाद पत्नी पंपा ने पूरा कफन खोल दिया। बता दें, पंपा खुद भी बीएसएफ कॉन्‍स्‍टेबल है।

पति के शरीर पर निशान देखने के बाद पत्नी पंपा ने पूरा कफन खोल दिया। बता दें, पंपा खुद भी बीएसएफ कॉन्‍स्‍टेबल है।

पंपा का कहना है कि 'विकास के शव पर टॉर्चर के निशान हैं, यहां तक कि नाखून भी गायब हैं। ऐसा लगता है कि मर्डर किया गया है।' विकास के छोटे भाई ने बताया कि विकास बंगाल के सीमानगर में तैनात था।
 

पंपा का कहना है कि 'विकास के शव पर टॉर्चर के निशान हैं, यहां तक कि नाखून भी गायब हैं। ऐसा लगता है कि मर्डर किया गया है।' विकास के छोटे भाई ने बताया कि विकास बंगाल के सीमानगर में तैनात था।
 

चार दिन पहले बीएसएफ अधिकारियों ने परिवार को फोन करके बताया था कि विकास ने खुद को गोली मार ली है। अब परिवार ने टॉर्चर का निशान देखकर जांच की मांग की है। 

चार दिन पहले बीएसएफ अधिकारियों ने परिवार को फोन करके बताया था कि विकास ने खुद को गोली मार ली है। अब परिवार ने टॉर्चर का निशान देखकर जांच की मांग की है। 

जिला अधिकारी जसजीत कौर ने आश्‍वासन दिया कि शव का दोबार पोस्‍टमॉर्टम किया जाएगा। लेकिन, बाद में परिवार ने दोबार शव परीक्षण न कराने का फैसला किया।
 

जिला अधिकारी जसजीत कौर ने आश्‍वासन दिया कि शव का दोबार पोस्‍टमॉर्टम किया जाएगा। लेकिन, बाद में परिवार ने दोबार शव परीक्षण न कराने का फैसला किया।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios